VVS लक्ष्‍मण का पत्र COA के देश के दिग्‍गज क्रिकेटरों के प्रति खराब रवैये को बताता है: BCCI

Updated: 01 May 2019 19:17 IST

VVS Laxman: बीसीसीआई के लोकपाल को लिखे अपने खत में वीवीएस लक्ष्मण ने बताया है कि किस तरह प्रशासकों की समिति (COA) ने दिसंबर-2018 में क्रिकेट सलाहकार समिति (CAC) को महिला टीम का कोच चुनने के लिए महज 24 घंटे दिए थे.

VVS Laxman
VVS Laxman के लोकपाल को लिखे पत्र के बाद बीसीसीआई ने COA के रवैये को लेकर सवाल उठाए हैं

हितों में टकराव के मामले में टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्‍मण (VVS Laxman)के भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के  लोकपाल को अपनी सफाई में पत्र लिखने के बाद प्रशासकों की समिति (COA)और बीसीसीआई (BCCI) के बीच की कड़वाहट सामने आ गई हैण्‍बीसीसीआई लोकपाल डी.के. जैन द्वारा क्रिकेटरों की समिति के सदस्य रहते हुए आईपीएल टीम सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) के मेंटॉर का पद संभालने को लेकर लक्ष्मण (VVS Laxman) से सफाई मांगने के बाद इस पूर्व बल्लेबाज ने अपनी सफाई में जो पत्र लिखा उसने कई चीजों की कलई खोल दी है. लक्ष्मण ने अपने पत्र में बताया है कि किस तरह प्रशासकों की समिति (COA) ने दिसंबर-2018 में क्रिकेट सलाहकार समिति (CAC) को महिला टीम का कोच चुनने के लिए महज 24 घंटे दिए थे.  लक्ष्मण द्वारा इस बात का खुलासा करने के बाद सीओए की सदस्य डायना इडुल्जी (Diana Edulji)के सीओए अध्यक्ष विनोद राय और बीसीसीआई सीईओ राहुल जौहरी से उस समय किए गए वो सवाल ताजा हो जाते हैं जिसमें इडुल्जी ने राय से पूछा था कि महिला टीम का कोच नियुक्त करने के लिए इतनी जल्दबाजी किसलिए?

सचिन तेंदुलकर ने हितों के टकराव मामले में लोकपाल को भेजा जवाब, कही यह बात...

बीसीसीआई के एक सीनियर अधिकारी ने कहा कि इडुल्जी (Diana Edulji) ने जो पक्ष लिया था उसे लक्ष्मण (VVS Laxman) के पत्र से बल मिलता है और यह एक बार फिर बताता है कि सीओए ने किस तरह महिला टीम का कोच नियुक्त करने में गैर पेशेवर रैवया अपनाया. इस अधिकारी ने कहा, "उस समय काफी कहा गया कि इडुल्जी फालतू में बखेड़ा खड़ा कर रही हैं लेकिन लक्ष्मण के पत्र ने काफी चीजें साफ कर दी हैं. यह बात सामने आना हैरानी भरी बात है कि सीओए महान खिलाड़ियों के साथ किस तरह का बर्ताव कर रही है. अगर देखा जाए तो क्रिकेट समिति में उनके पास एक साल और होगा और इसके बाद भारतीय क्रिकेट का क्या होगा पता नहीं. खासकर तब जब आपको पता चलेगा कि उनकी सेवाओं को आपने सही तरीके से इस्तेमाल नहीं किया, जहां तक की सीधे तौर पर नजरअंदाज तक किया."

उन्होंने कहा, "अब इस एजेंडा को सही तरीके से देखना चाहिए. मुद्दा यह नहीं है कि डब्ल्यू.वी. रमन अच्छे या खराब विकल्प थे बल्कि हकीकत यह है कि वह पहले से बीसीसीआई (BCCI)के साथ करार में थे और उनकी सेवाओं को अच्छे से उपयोग में लिया जा सकता था. लेकिन इस मसले को पूरी तरह के नजरअंदाज किया वो भी तब जब फैसला लेने के रास्ते में आपके सामने कई तरह की अड़चनें थीं." लक्ष्मण ने जैन को लिखे पत्र में कहा है, "दिसंबर-2018 में हमें महिला टीम का कोच नियुक्त करने के लिए बनाए गए पैनल में शामिल होने पर फैसला लेने के लिए 24 घंटे से भी कम का समय दिया गया. हम तीनों ने पहले से तय कार्यक्रम और व्यस्तता के कारण समिति में शामिल न होने की बात कही थी." दिसंबर-2018 में इडुल्जी ने महा प्रबंधक (क्रिकेट परिचालन) सबा करीम को पत्र लिखा था महिला टीम के कोच की नियुक्ति के लिए हम गलत रास्ता अख्तियार कर रहे हैं. इस पर फैसला सिर्फ सीएसी ले सकती है और अगर वह मना करती है तब भी सीओए को फैसला लेना होगा. इडुल्जी के ई-मेल का जवाब देते हुए जौहरी ने कोच की नियुक्ति के एड-हॉक समिति के गठन के निर्माण की बात कही थी.  (इनपुट: आईएएनएस)

वीडियो: गावस्‍कर बोले, निडर बॉलर हैं चहल और कुलदीप

Comments
हाईलाइट्स
  • हितों में टकराव मामले में मांगा गया था लक्ष्‍मण से जवाब
  • लक्ष्‍मण ने बीसीसीआई के लोकपाल को लिखा है खत
  • खत में महिला टीम का कोच चुनने में COA के रवैये का है जिक्र
संबंधित खबरें
WI vs IND: एंटीगा में अजिंक्य रहाणे की शतकीय पारी को लेकर लक्ष्मण ने कही यह बात..
WI vs IND: एंटीगा में अजिंक्य रहाणे की शतकीय पारी को लेकर लक्ष्मण ने कही यह बात..
BCCI पदाधिकारी का सवाल, यदि राहुल द्रविड़ को मिलेगा वकील तो सचिन, सौरभ, लक्ष्मण को क्यों नहीं?
BCCI पदाधिकारी का सवाल, यदि राहुल द्रविड़ को मिलेगा वकील तो सचिन, सौरभ, लक्ष्मण को क्यों नहीं?
राहुल द्रविड़ को BCCI के नोटिस पर सौरव गांगुली खफा, कहा-भगवान भारतीय क्रिकेट की मदद करे..
राहुल द्रविड़ को BCCI के नोटिस पर सौरव गांगुली खफा, कहा-भगवान भारतीय क्रिकेट की मदद करे..
India Vs West Indies: वीवीएस लक्ष्मण ने विंडीज के खिलाफ पहले टी20 से पहले टीम इंडिया को दिए
India Vs West Indies: वीवीएस लक्ष्मण ने विंडीज के खिलाफ पहले टी20 से पहले टीम इंडिया को दिए 'ये सुझाव'
IND vs NZ: सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली बोले-MS धोनी को 7वें क्रम पर भेजना बड़ी गलती, माही होते तो...
IND vs NZ: सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली बोले-MS धोनी को 7वें क्रम पर भेजना बड़ी गलती, माही होते तो...
Advertisement