...मतलब यह कि Ravi Shastri को फिर से पुनर्नियुक्ति की प्रक्रिया से गुजरना होगा

Updated: 29 September 2019 16:42 IST

एथिक्स ऑफिसर ने शनिवार को सीएसी के तीनों सदस्यों को नोटिस भेजा और उनसे 10 अक्टूबर तक जवाब मांगा जिसके बाद रंगास्वामी ने अपने पद से इस्तीफा भी दे दिया है.

It
© Ravi Shastri को फिर CAC के सामने उपस्थित होना पड़ सकता है

नई दिल्ली:

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई, BCCI) के एथिक्स ऑफिसर डी.के जैन अगर कपिल देव (Kapil Dev), अंशुमान गायकवाड़ और शांता रंगास्वामी की क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) को हितों के टकराव मुद्दे में दोषी पाते हैं तो क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) को पुनर्नियुक्ति प्रक्रिया से गुजरना पड़ सकता है. एथिक्स ऑफिसर ने शनिवार को सीएसी के तीनों सदस्यों को नोटिस भेजा और उनसे 10 अक्टूबर तक जवाब मांगा जिसके बाद रंगास्वामी ने अपने पद से इस्तीफा भी दे दिया है. मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ (एमपीसीए) के आजीवन सदस्य संजीव गुप्ता ने लोढ़ा पैनल के एक आदमी, एक पद के प्रस्ताव के तहत सीएसी पर हितों के टकराव का आरोप लगाया था.

यह भी पढ़ें:  इस वजह से Zaheer Khan ने Virat Kohli को Sourav Ganguly सरीखा बताया

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा, "अगर शास्त्री को नियुक्त करने वाली समिति के सदस्यों में हितों का टकराव पाया जाता है तो शास्त्री की मुख्य कोच की नियुक्ति की प्रक्रिया से एक बार फिर गुजरना होगा. फिर एक नई समिति का गठन किया जाएगा और नए पंजीकृत बीसीसीआई संविधान को ध्यान में रखते हुए पूरी प्रक्रिया को दोहराया जाएगा क्योंकि संविधान अब स्पष्ट रूप से कहता है कि केवल एक सीएसी ही भारतीय टीम के मुख्य कोच को नियुक्त कर सकता है"

यह भी पढ़ें: इस वजह से Shanta Rangaswami ने दिया CAC की सदस्यता से इस्तीफा

अधिकारी ने आगे कहा कि महिला क्रिकेट टीम के कोच डब्ल्यू.वी रमन के साथ भी यहीं प्रक्रिया दोहराई जा सकती है क्योंकि उन्हें जिस ऐड-हॉक सीएसी ने चुना था उसमें देव, गायकवाड़ और रंगास्वामी ही शामिल थे. अधिकारी ने कहा, "यह देखने की जरूरत है कि रमन के मामले में जैन का फैसला क्या होता है क्योंकि कोच के रूप में उन्हें चुनने वाली ऐड-हॉक सीएसी में यही तीन व्यक्ति शामिल थे. यहां तक कि कोच के मामले में दो सदस्यीय प्रशासकों की समिति (सीओए) भी विभाजित थी. उस समय विनोद राय, रमन की नियुक्ती के पक्ष में थे जबकि डायना एडुल्जी का कहना था कि लोढ़ा पैनल के प्रस्तावों के तहत बदले गए बीसीसीआई के संविधान में ऐड-हॉक सीएसी की कोई जगह नहीं है"

VIDEO: धोनी के संन्यास पर युवा क्रिकेटरों के विचार सुन लीजिए. 

रवि थोगड़े के सीएसी में शामिल होने के बाद रमन को 2:1 के मत से महिला टीम का कोच नियुक्त किया गया था.

Comments
हाईलाइट्स
  • हो सकता है नई समिति का गठन-बोर्ड अधिकारी
  • ..क्या महिला कोच चयन की प्रक्रिया भी दोबारा होगी?
  • अजब बोर्ड के गजब किस्से!!
संबंधित खबरें
इसलिए Ravi Shastri ने Rohit Sharma को इलेवन का हिस्सा बनाने के लिए Virat Kohli पर बनाया दबाव
इसलिए Ravi Shastri ने Rohit Sharma को इलेवन का हिस्सा बनाने के लिए Virat Kohli पर बनाया दबाव
MS Dhoni के भविष्य को लेकर चर्चाओं के बीच टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री ने कही यह बात...
MS Dhoni के भविष्य को लेकर चर्चाओं के बीच टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री ने कही यह बात...
...मतलब यह कि Ravi Shastri को फिर से पुनर्नियुक्ति की प्रक्रिया से गुजरना होगा
...मतलब यह कि Ravi Shastri को फिर से पुनर्नियुक्ति की प्रक्रिया से गुजरना होगा
Rishabh Pant को लेकर बोले Ravi Shastri,
Rishabh Pant को लेकर बोले Ravi Shastri, 'बेवकूफी करने पर खिलाड़ी को ज़रूर डांटूंगा, तबला बजाने के लिए कोच नहीं हूं'
Ravi Shastri ने पोस्ट किया दशकों पुराना फोटो, खुद को इसलिए बताया
Ravi Shastri ने पोस्ट किया दशकों पुराना फोटो, खुद को इसलिए बताया 'लाइट ट्रैवलर'
Advertisement