BADMINTON: अब PV Sindhu की नजरें लगीं चीन ओपन पर, पहले राउंड में टक्कर पूर्व ओलिंपिक चैंपियन से

Updated: 16 September 2019 18:17 IST

सिंधु अगर पहले दौर की बाधा पार करती हैं तो उन्हें कनाडा की मिशेल ली से भिड़ना पड़ सकता है जो 2014 से इस भारतीय खिलाड़ी को हराने में नाकाम रही हैं. सिंधु अगर आगे बढ़ीं तो क्वार्टर फाइनल में उनका सामना चीन की तीसरी वरीय और आल इंग्लैंड चैंपियन चेन यूफेई से हो सकता है

BADMINTON: Now PV Sindhu has set eye on China Badminton Open, faces this former Olympic Champion in first round
PV Sindhu पर अब हर सीरीज में भारतीयों की नजरें लगी रहेंगी

चांग्झू (चीन):

विश्व चैंपियन पीवी सिंधू (PV Sindhu) मंगलवार से यहां शुरू हो रहे 10,00000 डॉलर इनामी चीन बैडमिंटन ओपन (China Badminton Open) विश्व टूर सुपर 1000 टूर्नामेंट में जब भारतीय चुनौती की अगुआई करेंगी तो उनकी नजरें एक बार फिर अपना दबदबा बनाकर खिताब जीतने पर टिकी होंगी. दुनिया की पांचवें नंबर की खिलाड़ी सिंधु ने पिछले महीने स्विट्जरलैंड के बासेल में विश्व चैंपियनशिप के स्वर्ण पदक का भारत का लंबा इंतजार खत्म किया. सिंधू ने विश्व चैंपियनशिप के लगातार तीसरे फाइनल में खेलते हुए यह उपलब्धि हासिल की थी. 

यह भी पढ़ें: पीवी सिंधु ने स्वीकार की खेल में सुधार के पीछे विदेशी कोच की भूमिका

चीन ओपन 2016 की विजेता हैदराबाद की 24 साल की सिंधु अपने अभियान की शुरुआत चीन की ली शुररुई के खिलाफ करेंगी जो पूर्व ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता और दुनिया की पूर्व नंबर एक खिलाड़ी हैं. सिंधु ने 2012 में चीन ओपन में तत्कालीन ओलंपिक चैंपियन शुएरुई को हराकर सुर्खियां बटोरी थीं. चीन की दुनिया की 20वें नंबर की खिलाड़ी शुएरुई ने सिंधू के खिलाफ अब तक छह मुकाबलों में से तीन में जीत दर्ज की है जबकि तीन में उन्हें हार का सामना करना पड़ा. 

यह भी पढ़ें:  भारतीय बैडमिंटन के भविष्य को लेकर चिंतित हैं राष्ट्रीय कोच पुलेला गोपीचंद, कही यह बड़ी बात

सिंधु अगर पहले दौर की बाधा पार करती हैं तो उन्हें कनाडा की मिशेल ली से भिड़ना पड़ सकता है जो 2014 से इस भारतीय खिलाड़ी को हराने में नाकाम रही हैं. सिंधु अगर आगे बढ़ीं तो क्वार्टर फाइनल में उनका सामना चीन की तीसरी वरीय और आल इंग्लैंड चैंपियन चेन यूफेई से हो सकता है. इस साल इंडोनेशिया मास्टर्स का खिताब जीतने वाली दुनिया की आठवें नंबर की खिलाड़ी साइना नेहवाल भी चोटों से उबरने के बाद अपनी छाप छोड़ने को बेताब होंगी. साइना को पहले दौर में थाईलैंड की बुसानन ओंगबामरुंगफान से भिड़ना है, जबकि क्वार्टर फाइनल में उनकी भिड़ंत दुनिया की पूर्व नंबर एक चीनी ताइपे की ताइ जू यिंग से हो सकती है. 

यह भी पढ़ें: हैदराबाद लौटकर बोली पीवी सिंधु, ओलिंपिक में स्वर्ण पदक जीतना सर्वोच्च प्राथमिकता

पुरुष एकल में किदांबी श्रीकांत और एचएस प्रणय के हटने से भारतीय अभियान की चमक कुछ फीकी हुई है. विश्व चैंपियनशिप के दौरान श्रीकांत की घुटने की चोट उभर गई, जबकि प्रणय को डेंगू है. विश्व चैंपियनशिप में 36 साल बाद पदक जीतने वाले भारतीय पुरुष खिलाड़ी बने बी साई प्रणीत पहले दौर में थाईलैंड के सुपान्यु अविहिंगसेनोन से भिड़ेंगे. राष्ट्रमंडल खेलों के पूर्व चैंपियन पारूपल्ली कश्यप को पहले दौर में फ्रांस के ब्राइस लीवरडेज के खिलाफ उतरना है. चोट के बाद सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की पुरुष युगल जोड़ी इस टूर्नामेंट में वापसी करेगी.

VIDEO: धोनी के संन्यास पर युवा क्रिकेटरों के विचार सुन लीजिए. 

इन्हें पहले दौर में जेसन एंथोनी हो शुइ और नाइ याकुरा की कनाडा की जोड़ी से खेलना है. मिश्रित युगल में सात्विक ने अश्विनी पोनप्पा के साथ जोड़ी बनाई है जबकि एन सिक्की रेड्डी और प्रणव जैरी चोपड़ा की जोड़ी भी चुनौती पेश करेगी. पुरुष युगल में मनु अत्री और बी सुमित रेड्डी की जोड़ी भी भारत की ओर से चुनौती पेश करेगी जबकि महिला युगल में अश्विनी और एन सिक्की रेड्डी भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे.

Comments
संबंधित खबरें
Badminton: फ्रेंच ओपन में वर्ल्ड चैंपियन पीवी सिंधु के सामने होगी यह अहम चुनौती
Badminton: फ्रेंच ओपन में वर्ल्ड चैंपियन पीवी सिंधु के सामने होगी यह अहम चुनौती
BADMINTON: अब PV Sindhu भी हुईं  Denmark Open से बाहर
BADMINTON: अब PV Sindhu भी हुईं Denmark Open से बाहर
Badminton: संघर्ष के बाद PV Sindhu डेनमार्क ओपन के दूसरे दौर में पहुंचीं, पी. कश्यप बाहर
Badminton: संघर्ष के बाद PV Sindhu डेनमार्क ओपन के दूसरे दौर में पहुंचीं, पी. कश्यप बाहर
BADMINTON: इसलिए PV Sindhu ने किया चुनिंदा टूर्नामेंटों में खेलने का फैसला
BADMINTON: इसलिए PV Sindhu ने किया चुनिंदा टूर्नामेंटों में खेलने का फैसला
BADMINTON: अब  PV Sindhu की आंखों में पल रहा है बस एक ही सपना
BADMINTON: अब PV Sindhu की आंखों में पल रहा है बस एक ही सपना
Advertisement