जोंटी रोड्स का खुलासा, इसलिए पहले ही एहसास हो गया टीम इंडिया के फील्डिंग कोच के लिए चयन नहीं होगा

Updated: 23 August 2019 18:27 IST

रोड्स ने कहा कि खिलाड़ियों ने पक्के तौर पर एक तय योजना के  साथ काम किया है और यह उनकी प्रगति में साफ दिखाई पड़ता है. यह प्रगति एकदम से ही नहीं होती. रोड्स ने कहा कि उन्होंने फील्डिंग कोच पद के लिए आवेदन किया क्योंकि वह भारत में कई सालों से काम कर रहे हैं.

That
जोंटी रोड्स की फाइल फोटो

मुंबई:

वीरवार को ही एमएसके प्रसाद की अध्यक्षता वाली चयन समिति ने टीम इंडिया के सपोर्ट स्टाफ के सदस्यों के नाम का ऐलान किया. साफ हो चला है कि अब संजय बांगड़ की जगह पूर्व सलामी बल्लेबाज विक्रम राठौर भारतीय टीम के नए सहायक कोच होंगे, लेकिन करोड़ों भारतीय क्रिकेटप्रेमियों के बीच चर्चा चल रही है कि आखिर ऐसा क्या कारण रहा कि महान फील्डर जोंटी रोड्स शॉर्टलिस्टेट किए गए तीन फील्डिंग कोच के बीच भी जगह नहीं बना सके. चयन समिति ने जिन तीन फील्डिंग कोच के नाम प्राथमिकता के आधार पर तय किए हैं, वे आर. श्रीधर, अभय शर्मा और टी. दिलीप हैं. बहरहाल, अब खुद जोंटी रोड्स ने इस बात का खुलासा किया है कि क्यों वह शॉर्टलिस्टेड नामों में जगह बनाने में नाकाम रहे. 

यह भी पढ़ें:  आरसीबी ने की गैरी कर्स्टन व आशीष नेहरा की छुट्टी, माइक हेसन को दी 'बड़ी जिम्मेदारी

जोंटी रोड्स ने कहा कि उन्हें आधिकारिक तौर पर घोषणा होने से पहले ही इ बात का एहसास हो गया था कि वह टीम इंडिया के फील्डिंग कोच नहीं ही बन पाएंगे. आर. श्रीधर के फील्डिंग कोच बनने के ऐलान होने के बाद पहली बार प्रतिक्रिया देते हुए रोड्स ने कहा कि मुझे विश्वास है कि मेरा इंटरव्यू उतना अच्छा नहीं ही गया, जितना श्रीधर का हुआ. वजह यह रही कि श्रीधर पिछले कई साल से टीम इंडिया के साथ जुड़े हुए हैं. 

यह भी पढ़ें: इस वजह से वकार यूनुस ने अब किया पाकिस्तान बॉलिंग कोच बनने के लिए आवेदन, वैसे...

रोड्स ने कहा कि खिलाड़ियों ने पक्के तौर पर एक तय योजना के  साथ काम किया है और यह उनकी प्रगति में साफ दिखाई पड़ता है. यह प्रगति एकदम से ही नहीं होती. रोड्स ने कहा कि उन्होंने फील्डिंग कोच पद के लिए आवेदन किया क्योंकि वह भारत में कई सालों से काम कर रहे हैं. बतौर फील्डिंग कोच मैंने कुछ साल दक्षिण अफ्रीका में गुजारे. मैं टीम से 2007 वर्ल्ड कप तक जुड़ा रहा. तब से लेकर मैंने भारत में ही काम किया है. दक्षिण अफ्रीका के मुकाबले मैं भारत की क्रिकेट व्यवस्था के ज्यादा अनुकूल खुद को पाता हूं. 

VIDEO:  धोनी के संन्यास पर युवा क्रिकेटरों की राय जान लीजिए. 

वैसे एमएसके प्रसाद ने जोंटी के तीन नामों भी न होने की बाबत कहा था कि नंबर दो अभय शर्मा और टी दिलीप क्रमश: भारत ए और अंडर-19 टीमों के लिए हैं. और हम जोंटी रोट्स को इन पदों के लिए फिट नहीं पाते है. ये रोल ज्यादार भारत ए और एनसीए के लिए हैं. 
 

Comments
हाईलाइट्स
  • जोंटी रोड्स ने बयां की अलग की वजह
  • तीन नाम शॉर्टलिस्टेड किए थे बीसीसीआई ने
  • एमएसके प्रसाद ने दी थी बाद में सफाई
संबंधित खबरें
IND vs SA: कुछ ऐसे Harbhajan Singh ने Jonty Rhodes पर कसा तंज, लेकिन...
IND vs SA: कुछ ऐसे Harbhajan Singh ने Jonty Rhodes पर कसा तंज, लेकिन...
जोंटी रोड्स का खुलासा, इसलिए पहले ही एहसास हो गया टीम इंडिया के फील्डिंग कोच के लिए चयन नहीं होगा
जोंटी रोड्स का खुलासा, इसलिए पहले ही एहसास हो गया टीम इंडिया के फील्डिंग कोच के लिए चयन नहीं होगा
जोंटी रोड्स ने किया टीम इंडिया के फील्डिंग कोच के लिए आवेदन, लेकिन...
जोंटी रोड्स ने किया टीम इंडिया के फील्डिंग कोच के लिए आवेदन, लेकिन...
World Cup 2019:  हार से निराश रोड्स ने साउथ अफ्रीका से कहा- अब दोबारा खेलने नहीं आएंगे डीविलियर्स
World Cup 2019: हार से निराश रोड्स ने साउथ अफ्रीका से कहा- अब दोबारा खेलने नहीं आएंगे डीविलियर्स
इसलिए भारत नहीं है वर्ल्ड कप का दावेदार, जोंटी रोड्स ने कहा
इसलिए भारत नहीं है वर्ल्ड कप का दावेदार, जोंटी रोड्स ने कहा
Advertisement