संन्यास की अफवाहों पर धोनी को सौरव गांगुली ने दी यह 'अहम सलाह'

Updated: 26 August 2019 23:58 IST

वर्ल्ड कप में प्रदर्शन के कारण उन्हें खासी आलोचना झेलनी पड़ी थी और क्रिकेट पंडित और पूर्व क्रिकेटर धोनी पर अलग-अलग कारणों से उंगली उठा रहे थे, लेकिन धोनी ने बिना मुंह खोले सैना की ट्रेनिंग से जुड़ने का फैसला किया था.  

Sourav Ganguly gives important advice about MS Dhoni
सौरव गांगुली की फाइल फोटो

नई दिल्ली:

पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने महेंद्र सिंह धोनी के संन्यास की अफवाहों पर कहा कि इस बाबत कोई भी अंतिम फैसला संबद्ध खिलाड़ी द्वारा ही लिया जा सकता है. अब यह तो आप जानते ही हैं कि वर्ल्ड कप के बाद से ही महेंद्र सिंह धोनी टीम इंडिया से अलग चल रहे हैं. वर्ल्ड कप में प्रदर्शन के कारण उन्हें खासी आलोचना झेलनी पड़ी थी और क्रिकेट पंडित और पूर्व क्रिकेटर धोनी पर अलग-अलग कारणों से उंगली उठा रहे थे, लेकिन धोनी ने बिना मुंह खोले सैना की ट्रेनिंग से जुड़ने का फैसला किया था.  

यह भी पढ़ें:  सहवाग ने जीत का श्रेय गेंदबाजी यूनिट को दिया, रोहित-विराट विवाद पर कही यह बात

बहरहाल, गांगुली से धोनी की बाबत सवाल पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि किसी न किसी दिन खेल को अलविदा कहना पड़ता है. हर बड़े खिलाड़ी को अपनी किट खूंटी पर टांगनी होती है. और खेल ऐसे ही चलता है. आप फुटबॉल को देखें. माराडोना को भी खेल से अलग होना पड़ा था और अभी तक उनसे बड़ा खिलाड़ी कोई नहीं हुआ है. तेंदुलकर, लारा और ब्रेडमैन...सभी को खेल से अलग होना पड़ा. व्यवस्था कुछ ऐसी ही रही है और आगे भी ऐसी ही रहेगी. मतलब यह है कि गांगुली ने खिलाड़ी के जीवन का सार प्रस्तुत करते हुए धोनी को आत्मचिंतन करने की सलाह दे दी है!!

यह भी पढ़ें: अगर बेन स्टोक्स का यह छक्का नहीं देखा, तो कुछ नहीं देखा, हमेशा याद रहेगा, VIDEO

गांगुली ने कहा कि धोनी को भी इस हालात से गुजरना होगा. सौरव ने आगे कहा कि धोनी को खुद का मूल्यांकन करना चाहिए कि वह कहां खड़े हैं. उन्हें यह तय करना चाहिए कि क्या वह भारत के लिए मैच जीत सकते हैं. उनसे खुद को पूछना चाहिए कि क्या  वह उस एमएस धोनी की तरह योगदान दे सकते हैं, जिसे हम जानते रहे हैं. और जो भारत को मैच जिताता रहा है. उन्होंने कहा कि धोनी, विराट और सचिन जैसे खिलाड़ी जब तक अपना गेम नहीं खेलते, तो ऐसे में हमेशा ही उनसे उनके अंदाज में खेलने की उम्मीदें बनी रहेंगी. मुझे लगता है कि धोनी को फैसला लेना होगा. 

VIDEO:  धोनी के संन्यास पर युवा क्रिकेटरों के विचार सुन लीजिए. 

गांगुली ने कहा कि केवल खिलाड़ी ही यह जानता है कि उसके भीतर कितना खेल या ऊर्जा बची हुई है. और उसकी मैच जिताने की कितनी क्षमता बरकरार है. वहीं, भारत को भी यह समझना होगा कि धोनी हमेशा के लिए ही नहीं खेलने जा रहा है और भारतीय क्रिकेट को भी इस तथ्य को स्वीकारना होगा. 
 

Comments
हाईलाइट्स
  • हाल ही में सैन्य ट्रेनिंग से लौटे हैं धोनी
  • जम्मू-कश्मीर में रहे थे करीब 15 दिन तैनात
  • वर्ल्ड कप में धोनी बल्लेबाजी के लिए हुई थी आलोचना
संबंधित खबरें
शोएब अख्तर बोले,
शोएब अख्तर बोले, '1997-98 के पहले नहीं लगा था भारत कभी पाकिस्तान को हरा पाएगा लेकिन सौरव गांगुली के..'
सौरव गांगुली बोले, ICC के बड़े टूर्नामेंट जीतने पर ध्यान केंद्रित करें विराट कोहली
सौरव गांगुली बोले, ICC के बड़े टूर्नामेंट जीतने पर ध्यान केंद्रित करें विराट कोहली
Sourav Ganguly ने शेयर की BCCI की
Sourav Ganguly ने शेयर की BCCI की 'नई टीम' के साथ यह फोटो...
बृजेश पटेल थे प्रबल दावेदार लेकिन नाटकीय घटनाक्रम के बाद यूं बनी सौरव गांगुली के नाम पर सहमति..
बृजेश पटेल थे प्रबल दावेदार लेकिन नाटकीय घटनाक्रम के बाद यूं बनी सौरव गांगुली के नाम पर सहमति..
Sourav Ganguly ने BCCI अध्यक्ष पद के लिए नामांकन दाखिल किया, निर्विरोध चुना जाना तय
Sourav Ganguly ने BCCI अध्यक्ष पद के लिए नामांकन दाखिल किया, निर्विरोध चुना जाना तय
Advertisement