आखिरकार Rahul Dravid हुए हितों के टकराव के आरोपों से बरी

Updated: 14 November 2019 21:32 IST

अपनी शिकायत में गुप्ता ने कहा था कि द्रविड़ एनसीए के निदेशक हैं और साथ ही साथ वह आईपीएल फ्रेंजाइजी चेन्नई सुपर किंग्स का मालिकाना हक रखने वाली इंडिया सीमेंट्स ग्रुप में उपाध्यक्ष भी हैं. द्रविड़ ने हालांकि इन आरोपों के बचाव में कहा था कि उन्होंने इंडिया सीमेंट्स के अपने पद से दीर्घकालीन अवकाश ले रखा है.

Finally Rahul Dravid becomes free of the conflict of interest Charges
Rahul Dravid की फाइल फोटो

नई दिल्ली:

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के लोकपाल-कम-एथिक्स ऑफिसर न्यायमूर्ति (सेवानिवृत) डीके जैन ने राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) के प्रमुख और भारतीय टीम के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) को कॉनफ्लिक्ट ऑफ इंटरेस्ट (हितों के टकराव) मामले में क्लीन चिट दे दी. जैन ने कहा कि उन्हें पूर्व भारतीय कप्तान के खिलाफ हितों के टकराव से जुड़ा कोई मामला नजर नहीं आया. जैन ने कहा, "मैंने द्रविड़  (Rahul Dravid) के खिलाफ हितों के टकराव से जुड़ा कोई मामला नहीं पाया"

यह भी पढ़ें: फिर भी Kings XI Punjab ने कृष्णप्पा गौतम को खरीद लिया, प्रशंसक हैरान

जैन ने कहा, "द्रविड़ को हितों के टकराव से मुक्त पाया गया है. इस सम्बंध में दोनों पक्षों (इस सम्बंध में मामला दर्ज करने वाले और द्रविड़) को बता दिया गया है. साथ ही बीसीसीआई को भी इसकी जानकारी दे दी गई है. इस मामले से जुड़ा हस्ताक्षरित अंतिम फैसले का दस्तावेज इस शिकायत के साथ संलग्न रहेगा." द्रविड़ को 12 नवम्बर को जैन के सामने पेश होना था. द्रविड़ अभी राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी के प्रमुख हैं. मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ के आजीवन सदस्य संजीव गुप्ता की शिकायत पर एथिक्स ऑफिसर ने द्रविड़ को कॉनफ्लिक्ट ऑफ इंटरेस्ट के सम्बंध में नोटिस दिया था.

यह भी पढ़ें: बांग्लादेशी कप्तान Mominul Haque ने बताया, किस बात ने पहले दिन पैदा किया अंतर

अपनी शिकायत में गुप्ता ने कहा था कि द्रविड़ एनसीए के निदेशक हैं और साथ ही साथ वह आईपीएल फ्रेंजाइजी चेन्नई सुपर किंग्स का मालिकाना हक रखने वाली इंडिया सीमेंट्स ग्रुप में उपाध्यक्ष भी हैं. द्रविड़ ने हालांकि इन आरोपों के बचाव में कहा था कि उन्होंने इंडिया सीमेंट्स के अपने पद से दीर्घकालीन अवकाश ले रखा है. पत्र में इंडिया सीमेंट्स के सीनियर जनरल मैनेजर जी. विजयन ने साफ-साफ लिखा है कि द्रविड़ ने बीसीसीआई और एनसीए प्रमुख के तौर पर अपनी प्रतिबद्धताओं को देखते हुए दो साल का अवकाश ले रखा है. बीसीसीआई का कामकाज देखने के लिए सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति के अध्यक्ष विनोद राय ने द्रविड़ का बचाव करते हुए कहा था कि द्रविड़ का अवकाश पर रहना उन्हें किसी प्रकार के कॉनफ्लिक्ट ऑफ इंटरेस्ट से दूर करता है.

VIDEO: हाल ही में दक्षिण अफ्रीका के भारत दौरे में दूसरे टेस्ट से पहले विराट कोहली प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान

बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने भी द्रविड़ पर लगे कॉनफ्लिक्ट ऑफ इंटरेस्ट के आरोपों को लेकर काफी नाराजगी जाहिर की थी. गांगुली ने कहा था कि कॉनफ्लिक्ट ऑफ इंटरेस्ट भारतीय क्रिकेट में एक नया फैशन बन गया है. यह खबरों में रहने का तरीका है.
 

Comments
संबंधित खबरें
Rahul Dravid बोले, क्र‍िकेट जैसे मुश्‍क‍िल खेल में Mental health बनाए रखना चुनौती..
Rahul Dravid बोले, क्र‍िकेट जैसे मुश्‍क‍िल खेल में Mental health बनाए रखना चुनौती..
राहुल द्रविड़ ने दिए डे-नाइट टेस्ट मैच लोकप्रिय बनाने के लिए ये सुझाव
राहुल द्रविड़ ने दिए डे-नाइट टेस्ट मैच लोकप्रिय बनाने के लिए ये सुझाव
आखिरकार Rahul Dravid हुए हितों के टकराव के आरोपों से बरी
आखिरकार Rahul Dravid हुए हितों के टकराव के आरोपों से बरी
हितों का टकराव मामला:  Rahul Dravid को मिला 12 नवंबर को पेश होने का निर्देश..
हितों का टकराव मामला: Rahul Dravid को मिला 12 नवंबर को पेश होने का निर्देश..
हितों का टकराव मामले में BCCI के आचरण अधिकारी के समक्ष पेश हुए  Rahul Dravid
हितों का टकराव मामले में BCCI के आचरण अधिकारी के समक्ष पेश हुए Rahul Dravid
Advertisement