रियो ओलिंपिक के बाद साक्षी मलिक की पहली बड़ी जीत, विनेश फोगाट ने भी किया साल का शानदार समापन

Updated: 02 December 2018 14:19 IST

विनेश ने अपने छठे राष्ट्रीय खिताब को जीतने के क्रम में सिर्फ दो अंक गवांए. वह विभिन्न भार वर्गों में 2012 से 2016 तक पांच बार राष्ट्रीय चैंपियन रह चुकी हैं.

Sakshi Malik recieves her biggest win since Rio Olympic, Vinesh Phogat too ends the year with winning note
साक्षी मलिक (बाएं)

गोंड़ा (उत्तर प्रदेश):

विनेश फोगाट और साक्षी मलिक ने अपने-अपने भारवर्ग में टाटा मोटर्स सीनियर राष्ट्रीय चैंपियनशिप के फाइनल में जीत दर्ज कर राष्ट्रीय खिताब के साथ साल का अंत किया. विनेश ने 57 किलोग्राम भारवर्ग के फाइनल में बबीता को 10-0 से मात देकर सफलताओं से भरे साल का शानदार अंत किया. खराब फार्म में चल रही साक्षी ने 62 किलोग्राम भार वर्ग के फाइनल में जीत दर्ज कर साल का अंत खिताब के साथ किया. 

विनेश ने अपने छठे राष्ट्रीय खिताब को जीतने के क्रम में सिर्फ दो अंक गवांए. वह विभिन्न भार वर्गों में 2012 से 2016 तक पांच बार राष्ट्रीय चैंपियन रह चुकी हैं. उन्होंने पहले दौर के मैच में चंडीगढ़ की नीतू को 13-2 से मात देने के बाद कर्नाटक की स्वेता बालागत्ती को हराकर क्वार्टरफाइनल में जगह पक्की की. क्वार्टरफाइनल में उन्होंने हरियाणा की मनीषा को तकनीकी दक्षता के आधार पर हराया. सेमीफाइनल में उन्होंने हरियाणा बी की रविता को महज 76 सेकंड में शिकस्त दी. साक्षी को भी खिताब जीतने के लिए ज्यादा मसक्कत नहीं करनी पड़ी. उन्होंने बिना कोई अंक गवांये यह खिताब हासिल किया. उन्होंने पहले मुकाबले में वाकओवर मिलने के बाद दूसरा मुकाबला महज 25 सेकंड में अपने नाम कर लिया. उनकी प्रतिद्वंद्वी अनीता ने घुटने की चोट के कारण बीच में ही मैच छोड़ दिया. रियो ओलंपिक के बाद साक्षी के लिए यह पहली बड़ी खिताबी जीत है

यह भी पढ़ें: Wrestling: 'इस वजह' से बजरंग पूनिया अपने वर्ग में दुनिया के नंबर एक पहलवान बन गए

उन्होंने क्वार्टरफाइनल में मणिपुर की ए लुवांग खोंबी को मात्र 43 सेकंड में शिकस्त दी. इस ओलिंपिक पदकधारी ने हरियाणा की पूना को सेमीफाइनल में 11-0 से पटखनी दी. इस साल शानदार प्रदर्शन करने वाली ऋतु मलिक 65 किलोग्राम भारवर्ग के सेमीफाइनल में हार गईं. उन्होंने 2010 राष्ट्रमंडल खेलों की स्वर्ण पदक विजेता अनीता ने हराया. ऋतु को कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा.

VIDEO: कुछ दिन पहले एनडीटीवी ने छह बार की वर्ल्ड चैंपियन मैरीकॉम से खास मुलाकात की थी.

नीता ने फाइनल में गीतिका जाखड़ को हराकर स्वर्ण पदक हासिल किया. इंदु चौधरी (50 किग्रा), पिंकी (55 किग्रा) और किरण विश्नोई (72 किग्रा) भी अपने-अपने भार वर्ग में खिताब जीतने में सफल रहे.
 

Comments
हाईलाइट्स
  • विनेश ने बहन बबीता को दे पटका
  • 57 किलोग्राम भारवर्ग में 10-0 से जीतीं विनेश
  • इंदु (50 किग्रा), पिंकी (55 किग्रा) और किरण विश्नोई (72 किग्रा) भी जीते
संबंधित खबरें
साक्षी मलिक ने अनुपस्थित होने पर दी सफाई, फिर से कैंप में हुई शामिल
साक्षी मलिक ने अनुपस्थित होने पर दी सफाई, फिर से कैंप में हुई शामिल
रियो ओलिंपिक के बाद साक्षी मलिक की पहली बड़ी जीत, विनेश फोगाट ने भी किया साल का शानदार समापन
रियो ओलिंपिक के बाद साक्षी मलिक की पहली बड़ी जीत, विनेश फोगाट ने भी किया साल का शानदार समापन
World Wrestling: पूजा ढांडा ने जीता कांस्य, रितु फोगाट चूकीं, साक्षी को भी निराशा
World Wrestling: पूजा ढांडा ने जीता कांस्य, रितु फोगाट चूकीं, साक्षी को भी निराशा
World Wrestling: साक्षी और पूजा ने रखीं पदक की उम्मीदें बरकरार
World Wrestling: साक्षी और पूजा ने रखीं पदक की उम्मीदें बरकरार
पदक के बिना लौटने पर लोगों का सामना करना आसान नहीं होता: रेसलर साक्षी मलिक
पदक के बिना लौटने पर लोगों का सामना करना आसान नहीं होता: रेसलर साक्षी मलिक
Advertisement