World Cup 2019: टीम मैनेजमेंट की उलझन, कौन करे नंबर-4 पर बैटिंग, राहुल, शंकर या धोनी!

Updated: 15 May 2019 16:29 IST

World Cup 2019: सभी नंबर चार पर बैटिंग के मुद्दे पर अपनी-अपनी राय दे रहे हैं. गौतम गंभीर (Gautam Gambhir)ने नंबर चार के लिए केएल राहुल (KL Rahul)को अपनी पसंद बताया था लेकिन कुछ समीक्षकों ने इस स्‍थान के लिए अनुभव के आधार पर एमएस धोनी (MS Dhoni)की पैरवी की है.

World Cup 2019: Who wii bat at No.4 spot, big headache for Team India management
KL rahul ने IPL में शानदार फॉर्म दिखाया है, ऐसे में नंबर चार के लिए उनका दावा मजबूत माना जा रहा है

नई दिल्‍ली:

World Cup 2019: वर्ल्‍डकप 2019 (World Cup 2019) में नंबर-4 पर बैटिंग कौन करेगा, इस मुद्दे पर चर्चा बहस का रूप लेती जा रही है. क्रिकेटप्रेमी हो, समीक्षक या फिर पूर्व क्रिकेटर, सभी इस मुद्दे पर अपनी-अपनी राय दे रहे हैं. गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने नंबर चार के लिए केएल राहुल (KL Rahul) को अपनी पसंद बताया था लेकिन कुछ समीक्षकों ने इस स्‍थान के लिए अनुभव के आधार पर एमएस धोनी (MS Dhoni) की पैरवी की है. ऐसे में यह देखना दिलचस्‍प होगा कि भारतीय टीम मैनेजमेंट और कप्‍तान विराट कोहली इस रोल के लिए किस बल्‍लेबाज को चुनते हैं. यह सवाल फिलहाल टीम मैनेजमेंट के लिए उलझन का कारण बना हुआ है. कोच रवि शास्‍त्री ने कहा है-हमारे पास ऐसे कई बल्‍लेबाज हैं जो इस नंबर पर बैटिंग कर सकते हैं.

वैसे, महेंद्र सिंह धोनी की कप्‍तानी में भारत जब 2011 में दूसरी बार वर्ल्‍डकप चैंपियन बना तो विराट कोहली और युवराज सिंह ने बल्लेबाजी क्रम में नंबर चार पर अहम भूमिका निभाई थी. अब आठ साल बाद वर्ल्‍डकप से ठीक पहले भारतीय टीम मध्यक्रम के इस महत्वपूर्ण स्थान को लेकर असमंजस में है जिस पर कभी सचिन तेंदुलकर ने भी अपनी चमक बिखेरी थी.

World Cup 2019: गंभीर बोले, 'भारतीय टीम में एक और तेज गेंदबाज होना चाहिए था'

30 मई से ब्रिटेन में होने वाले वर्ल्‍डकप में नंबर चार पर कौन बल्लेबाज उतरेगा, भारतीय टीम के चयन के बाद से ही चर्चा का विषय बना हुआ है. चयनकर्ताओं ने विजय शंकर (Vijay Shankar) को इस स्थान के लिये चुना लेकिन वह आईपीएल (IPL-2019)में अपेक्षित प्रदर्शन नहीं कर पाए. केएल राहुल (KL Rahul)ने अच्छी फार्म में दिखाकर अपना दावा मजबूत किया है जबकि दिनेश कार्तिक और महेंद्र सिंह धोनी को भी इस स्थान पर भेजा जा सकता है. धोनी तीन वर्ल्‍डकप में खेले हैं लेकिन वह केवल एक बार 2007 में नंबर चार पर बल्लेबाजी के लिए उतरे जिसमें उन्होंने 29 रन बनाए थे. तो क्या कोहली (Virat Kohli)तीसरे नंबर के बजाय चौथे नंबर पर उतरना पसंद करेंगे? आखिर वर्ल्‍डकप 2011 में वह इस भूमिका में खरे उतरे थे. वर्तमान भारतीय कप्तान तब पांच मैचों में नंबर चार पर उतरे थे जिनमें उन्होंने एक शतक की मदद से 202 रन बनाए थे.  युवराज (Yuvraj Singh) ने भी दो मैचों में इस स्थान की जिम्मेदारी संभाली थी जिसमें बायें हाथ के इस बल्लेबाज ने एक शतक की मदद से 171 रन बनाए थे.

World Cup 2019: सौरव गांगुली ने बताया, इस कारण खिताब के दावेदारों में शामिल है पाकिस्‍तान

भारत जब 1983 में वर्ल्‍डकप चैंपियन बना था तब यशपाल शर्मा (तीन मैचों में 112 रन) और संदीप पाटिल (तीन मैचों में 87 रन) ने नंबर चार पर उपयोगी योगदान दिया था. दिलीप वेंगसरकर दो मैचों में इस स्थान पर उतरे थे जिसमें उन्होंने 37 रन बनाये थे. वेंगसरकर 1987 में पांच मैचों में नंबर चार बल्लेबाज के रूप में खेले थे जिसमें उनके नाम पर 171 रन दर्ज है. पहले दो वर्ल्‍डकप में गुंडप्पा विश्‍वनाथ (कुल छह मैचों में 145 रन) ने यह भूमिका निभाई थी जबकि 1992 में तेंदुलकर (सात मैच में 229 रन) के लिये यह नंबर तय था.

World Cup: कोच मिकी ऑर्थर बोले, 'पाकिस्‍तान टीम के साथ लगे 'इस टैग' से मुझे है नफरत'

सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar)ने वर्ल्‍डकप में भारत की तरफ से नंबर चार पर सर्वाधिक 12 मैच खेले हैं जिनमें उनके नाम पर 400 रन दर्ज है. उनके बाद मोहम्मद अजहरुद्दीन (नौ मैचों में 238 रन) का नंबर आता है. वह 1996 में छह मैचों में नंबर चार पर उतरे थे लेकिन नाबाद 72 रन की एक पारी के अलावा कोई कमाल नहीं दिखा पाए थे. इंग्लैंड में पिछला वर्ल्‍डकप 1999 में खेला गया था और तब अजय जडेजा (तीन मैचों में 182 रन), तेंदुलकर (तीन मैचों में 164 रन) और अजहर (दो मैचों में 31 रन) ने इस नंबर की जिम्मेदारी संभाली थी. इसके चार साल दक्षिण अफ्रीका में खेले गये वर्ल्‍डकप में मोहम्मद कैफ सर्वाधिक छह मैचों में नंबर चार पर उतरे थे जिसमें उन्होंने 142 रन बनाए थे. उनके अलावा राहुल द्रविड़, सौरव गांगुली, युवराज और नयन मोंगिया को भी इस स्थान पर आजमाया गया था. कोहली ने वर्ल्‍डकप 2011 के बाद नंबर तीन पर अच्छी जिम्मेदारी निभाई और यही वजह है कि वर्ल्‍डकप 2015 में अजिंक्य रहाणे सात मैचों में इस स्थान पर बल्लेबाजी के लिये उतरे जिसमें उन्होंने 208 रन बनाए. एक मैच में सुरेश रैना ने यह जिम्मेदारी संभाली और 74 रन की पारी खेली. ये दोनों खिलाड़ी इस समय वर्ल्‍डकप टीम में नहीं हैं. (इनपुट: भाषा)

वीडियो: मैडम तुसाद म्‍यूजियम में विराट कोहली

Comments
हाईलाइट्स
  • केएल राहुल के पक्ष में राय दे चुके हैं गंभीर
  • अनुभव के आधार पर धोनी का भी है दावा
  • वर्ल्‍डकप 2011 में नंबर-4 पर कोहली और युवी उतरे थे
संबंधित खबरें
मार्टिन गप्टिल ने वर्ल्डकप 2019 के फाइनल को बताया अपना सर्वश्रेष्ठ और सबसे खराब दिन, बताई यह वजह..
मार्टिन गप्टिल ने वर्ल्डकप 2019 के फाइनल को बताया अपना सर्वश्रेष्ठ और सबसे खराब दिन, बताई यह वजह..
वर्ल्‍डकप-2019 के फाइनल के दौरान
वर्ल्‍डकप-2019 के फाइनल के दौरान 'बहुचर्चित ओवरथ्रो' को लेकर शेन वॉर्न ने कही यह बात...
वर्ल्‍डकप फाइनल-2019  के बहुचर्चित ओवरथ्रो मामले की समीक्षा करेगा MCC
वर्ल्‍डकप फाइनल-2019 के बहुचर्चित ओवरथ्रो मामले की समीक्षा करेगा MCC
वर्ल्‍डकप में पाकिस्‍तान टीम के खराब प्रदर्शन की कोच मिकी ऑर्थर पर गिरी गाज..
वर्ल्‍डकप में पाकिस्‍तान टीम के खराब प्रदर्शन की कोच मिकी ऑर्थर पर गिरी गाज..
सुनील गावस्कर ने फिर से बोला टीम मैनेजमेंट पर हमला, बोले-इस बात का जवाब देना होगा
सुनील गावस्कर ने फिर से बोला टीम मैनेजमेंट पर हमला, बोले-इस बात का जवाब देना होगा
Advertisement