World Cup 2019, IND vs WI: कुछ ऐसे जसप्रीत बुमराह ने किया महेंद्र सिंह धोनी का बचाव

Updated: 28 June 2019 16:23 IST

IND vs WI: धोनी ने अपने शुरुआती 20 रन 40 गेंदों पर जहां 50.00 के स्ट्राइकरेट से  बनाए, तो वहीं उन्हें शेष 36 रन सिर्फ 21 गेंदों पर 171.43 के स्ट्राइकरेट से बटोरे. साफ है कि धोनी ने शुरुआती धीमेपन की भरपाई आखिरी ओवरों में कर ली

World Cup 2019, IND vs WI: That
भारत बनाम विंडीज: जसप्रीत बुमराह की फाइल फोटो

मैनचेस्टर:

इंग्लैंड में जारी वर्ल्ड कप (World Cup 2019) में कुछ ही दिन पहले ही बात है जब अफगानिस्तान के खिलाफ 52 गेंदों पर 28 रन बनाकर तमाम क्रिकेटप्रेमियों सहित पूर्व क्रिकेटरों के निशाने पर आ गए थे. सोशल मीडिया पर एक बड़ा वर्ग धोनी पर न केवल टूट पड़ा था बल्कि एक तबके ने तो ऋषभ पंत के समर्थन में भी सुर लगाना शुरू कर दिया था. लेकिन विंडीज (India vs West Indies) के खिलाफ मिली जीत में महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) ने एक बार दिखाया कि जब बात गीयर बदलने की आती है, तो वह अभी भी टीम के सबसे भरोसमेंद बल्लेबाज हैं. धोनी (MS Dhoni)ने विंडीज के खिलाफ 61 गेंदों पर नाबाद 65 रन बनाए. और विराट के अलावा यह धोनी की ही शानदार कोशिश रही, जिससे टीम इंडिया वेस्टइंडीज के सामने 268 रनों का लक्ष्य खड़ा करने में कामयाब रही. 

यह भी पढ़ें: बासित अली का आरोप, टीम इंडिया जानबूझकर कर सकती है ऐसा काम

और इस पारी के बाद धोनी को स्टार सीमर जसप्रीत बुमराह के रूप में बड़ा समर्थक मिला है. और उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी की विंडीज के खिलाफ खेली गई इस पारी को एक उच्च स्तरीय पारी करार दिया है. हालांकि, धोनी की इस पारी को हालात के हिसाब से धीमा नहीं कहा जा सकता. बावजूद इसके धोनी ने अपने गीयर में काफी देरी से बदला! पर बुमराह ने विंडीज के खिलाफ केली गई पारी के बारे में कहा कि इस तरह की पारियों को बहुत ही कम करके आंका जाता है. कभी-कभी ऐसा दिखाई पड़ता है कि मानो धोनी धीमा खेल रहे हैं और वह बहुत ज्यादा समय ले रहे हैं. 

यह भी पढ़ें: केएल राहुल ने माना, सेट होने के बाद भी बड़ी पारी नहीं खेल पा रहा..

बुमराह बोले कि इस तरह की पिचों पर बल्लेबाज का अपना समय लेना बहुत ही महत्वपूर्ण बात है. हम सभी ने दखा कि धोनी कैसे मैच को बिल्कुल आखिर तक ले गए. ऐसा पूरी तरह से धोनी के कारण ही संभव हो सका कि भारत इस पिच पर भी 268 रनों के बहुत ही अच्छे स्कोर तक पहुंचने में कामयाब रहा. बता दें कि धोनी ने अपने शुरुआती 20 रन 40 गेंदों पर जहां 50.00 के स्ट्राइकरेट से  बनाए, तो वहीं उन्हें शेष 36 रन सिर्फ 21 गेंदों पर 171.43 के स्ट्राइकरेट से बटोरे. साफ है कि धोनी ने शुरुआती धीमेपन की भरपाई आखिरी ओवरों में कर ली. इसी प्रयास के तहत धोनी ने ओशाने थॉमस के आखिरी ओवर में 16 रन बटोरे. बुमराह ने कहा कि यही वह बात है, जहां धोनी का अनुभव टीम के लिए बहुत ही अहम साबित होता है. 

VIDEO: भारत ने विंडीज को 125 रनों के विशाल अंतर से मात दी. 

बुमराह ने कहा कि धोनी की खासियत यह है कि सारा दबाव अपने ऊपर ले लेते हैं. मैच को आखिर तक ले जाते हैं और अपनी खेल शैली का पूरा समर्थन करते हैं. हम सभी युवा उनसे बहुत ज्यादा सीखते हैं. निश्चित ही, धोनी की यह एक उच्च स्तरीय पारी थी, जिस कारण हम 270 के आस-पास के योग तक पहुंचने में कामयाब रहे. 
 

Comments
हाईलाइट्स
  • विंडीज के खिलाफ धोनी के 61 गेंदों पर 56 रन
  • धोनी ने लगाए 3 चौके और 2 छक्के
  • अफगानिस्तान के खिलाफ धीमी बल्लेबाजी के लिए हुई थी आलोचना
संबंधित खबरें
क्र‍िकेट में वापसी के सवाल पर MS Dhoni बोले,
क्र‍िकेट में वापसी के सवाल पर MS Dhoni बोले, 'जनवरी तक मत पूछो'
क्‍या MS Dhoni टी20 वर्ल्‍डकप की भारतीय टीम में होंगे, कोच Ravi Shastri ने द‍िया यह जवाब...
क्‍या MS Dhoni टी20 वर्ल्‍डकप की भारतीय टीम में होंगे, कोच Ravi Shastri ने द‍िया यह जवाब...
गौतम गंभीर का बड़ा खुलासा, एमएस धोनी के कारण 2011 वर्ल्ड कप के फाइनल में शतक नहीं बना सके
गौतम गंभीर का बड़ा खुलासा, एमएस धोनी के कारण 2011 वर्ल्ड कप के फाइनल में शतक नहीं बना सके
IND vs BAN 1st Test: ये शानदार रिकॉर्ड बने जीत में,  Virat Kohli ने  MS Dhoni को पीछे छोड़ा
IND vs BAN 1st Test: ये शानदार रिकॉर्ड बने जीत में, Virat Kohli ने MS Dhoni को पीछे छोड़ा
MS Dhoni ने की नेट्स में वापसी, जेएससीए स्टेडियम में किया अभ्यास
MS Dhoni ने की नेट्स में वापसी, जेएससीए स्टेडियम में किया अभ्यास
Advertisement