World Cup 2019: इंग्लैंड से हार के लिए MS धोनी हैं जिम्मेदार? उठे सवाल

Updated: 01 July 2019 16:11 IST

World Cup 2019: हार के बाद अब मध्यक्रम की आलोचना हो रही है और इन आलोचनाओं के केंद्र में पूर्व कप्तान एमएस धोनी (MS Dhoni) और केदार जाधव (Kedar Jadhav) की बैटिंग है. इंग्लैंड के खिलाफ हुए मैच में धोनी और जाधव पर लक्ष्य का पीछा करने में 'इरादे की कमी' के लिए आलोचना की जा रही है. 

World Cup 2019: Dhoni
World Cup 2019: टूर्नामेंट में धीमी रनगति के लिए हो रही है पूर्व कप्तान एमएस धोनी की आलोचना

बर्मिंघम:

IND vs ENG: वर्ल्ड कप 2019 (World Cup 2019) में मेजबान इंग्लैंड (England cricket team) के हाथों अपनी पहली पराजय का सामना करने बाद भारतीय क्रिकेट टीम (India Cricket team) का मध्यक्रम एक फिर आलोचना के केंद्र में आ गया है. इंग्लैंड द्वारा निर्धारित 50 ओवर में सात विकेट के नुकसान पर 337 रनों का विशाल लक्ष्य दिए जाने के बाद बैटिंग के लिए उतरी भारतीय टीम अपने उपकप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की शानदार शतकीय (102) और कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) की अर्धशतकीय (66) पारी के बावजूद 306 रन ही बना सकी और 31 रनों से हार गई. भारत के ऊपरी क्रम के आउट होने के बाद मध्यक्रम भी लड़खड़ा गया, जिसके कारण भारतीय टीम निर्धारित लक्ष्य पहुंचने में नाकाम रही. हार के बाद अब मध्यक्रम की आलोचना हो रही है और इन आलोचनाओं के केंद्र में पूर्व कप्तान एमएस धोनी (MS Dhoni) और केदार जाधव (Kedar Jadhav) की बैटिंग है. इंग्लैंड के खिलाफ हुए मैच में धोनी और जाधव पर लक्ष्य का पीछा करने में 'इरादे की कमी' के लिए आलोचना की जा रही है. 

IND vs ENG: कुछ ऐसे विराट कोहली ने बयां की अपने स्पिनरों की बेबसी

धोनी (MS Dhoni) और केदार जाधव (Kedar Jadhav) ने छठे विकेट के लिए नाबाद 39 रनों की साझेदारी की, लेकिन वे 338 रनों के लक्ष्य का पीछा करने में भारत की मदद करने में असफल रहे. अंतिम पांच ओवरों में भारत को 14 रन प्रति ओवर की दर से 71 रनों की आवश्यकता थी. लेकिन न तो धोनी और न ही जाधव इस मौके पर कोई सकारात्मक पहल कर सके. वे रन रेट बढ़ने के लिए ज्यादातर एकल और डॉट बॉल में खेलते रहे. शायद इसी कारण भारत ने अंतिम पांच ओवरों में केवल 39 रन जोड़े और 31 रनों से मैच गंवा दिया.

IND vs ENG: कुछ ऐसे विराट कोहली ने सभी कप्तानों की कर दी बोलती बंद

इससे पहले भी धीमी रनगति को लेकर धोनी (MS Dhoni) की आलोचना होती रही है लेकिन इस बार आलोचना करने वालों में पूर्व क्रिकेटर और विशेषज्ञ दोनों शामिल हैं. कमेंटेटर हर्षा भोगले (Harsha Bhogle), संजय मांजरेकर (Sanjay Manjrekar), नसीर हुसैन (Nasser Hussain) और सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने भी अंतिम ओवरों में इंग्लैंड के खिलाफ धोनी और जाधव की मंशा पर सवाल उठाए. महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने भारत बनाम अफगानिस्तान में भी धोनी और जाधव की मंशा में कमी को भी उजागर किया था. अफगानिस्तान के खिलाफ धोनी ने 52 गेंदों में 28 रनों की पारी खेली थी, जिसने भारत के लिए रन-रेट को धीमा कर दिया था. इस पर तेंदुलकर ने कहा था कि केदार जाधव के साथ धोनी की साझेदारी धीमी थी और उनके पास सकारात्मक इरादे की कमी थी. मंगलवार को भारत का मुकाबला बांग्लादेश के साथ होने जा रहा है और कप्तान विराट कोहली टीम के मध्यक्रम में कुछ बदलाव कर सकते हैं. 

VIDEO:  भारत ने वेस्टइंडीज को 125 रनों के विशाल अंतर से मात दी थी. 

Comments
हाईलाइट्स
  • निर्धारित लक्ष्य में केवल 306 रन ही बना सकी टीम इंडिया
  • ऊपरी क्रम के आउट होने पर दबाव नहीं सह पाया मध्यक्रम
  • केवल 39 रन ही बना सकी धोनी-केदार की जोड़ी
संबंधित खबरें
IND vs BAN 1st Test: ये शानदार रिकॉर्ड बने जीत में,  Virat Kohli ने  MS Dhoni को पीछे छोड़ा
IND vs BAN 1st Test: ये शानदार रिकॉर्ड बने जीत में, Virat Kohli ने MS Dhoni को पीछे छोड़ा
MS Dhoni ने की नेट्स में वापसी, जेएससीए स्टेडियम में किया अभ्यास
MS Dhoni ने की नेट्स में वापसी, जेएससीए स्टेडियम में किया अभ्यास
India vs Bangladesh:डे-नाइट टेस्ट में गेस्ट कमेंटेटर के तौर पर नजर आ सकते हैं MS Dhoni
India vs Bangladesh:डे-नाइट टेस्ट में गेस्ट कमेंटेटर के तौर पर नजर आ सकते हैं MS Dhoni
क्रिकेट फैंस के बीच सबसे ज्यादा सर्च किए जाने खिलाड़ी हैं Virat Kohli
क्रिकेट फैंस के बीच सबसे ज्यादा सर्च किए जाने खिलाड़ी हैं Virat Kohli
इस मामले में तो Virat Kohli ने MS Dhoni और Rohit Sharma दोनों को दोगुने अंतर से पछाड़ दिया
इस मामले में तो Virat Kohli ने MS Dhoni और Rohit Sharma दोनों को दोगुने अंतर से पछाड़ दिया
Advertisement