Tennis: महेश भूपति बोले, लिएंडर पेस का एशियाई खेलों से हटना कोई मुद्दा नहीं..

Updated: 04 December 2018 15:50 IST

एशियाई खेलों से पहले पेस अमेरिका में टेनिस टूर्नामेंट खेल रहे थे और उस टूर्नामेंट में लगी चोट के कारण उन्होंने अंतिम समय में एशियाई खेलों से नाम वापस ले लिया. हालांकि भूपति ने कहा कि पेस के हटने से इंडोनेशिया में एशियाई खेलों में उनका अभियान प्रभावित नहीं हुआ और वे पुरुष युगल में स्वर्ण पदक जीतने के अपने लक्ष्य को हासिल करने में सफल रहे.

Mahesh bhupathi says leander paes withdrawal from asian games is not an issue
महेश भूपति ने कहा, पेस के हटने के बावजूद भारत एशियन गेम्‍स में गोल्‍ड जीतने में सफल रहा (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

भारतीय डेविस कप टीम के कप्तान महेश भूपति ने एशियन गेम्‍स की पुरुष युगल स्पर्धा से अंतिम लम्हों में अनुभवी लिएंडर पेस के हटने को अधिक तूल नहीं दिया है. भूपति ने कहा कि चोट खिलाड़ी के करियर का हिस्सा होती हैं और कोर्ट पर उतरने के बाद मैच के हटने की जगह वह चाहेंगे कि खिलाड़ी मुकाबले से पहले ही हट जाए. गौरतलब है कि एशियाई खेलों से पहले पेस अमेरिका में टेनिस टूर्नामेंट खेल रहे थे और उस टूर्नामेंट में लगी चोट के कारण उन्होंने अंतिम समय में एशियाई खेलों से नाम वापस ले लिया. हालांकि भूपति ने कहा कि पेस के हटने से इंडोनेशिया में एशियाई खेलों में उनका अभियान प्रभावित नहीं हुआ और वे पुरुष युगल में स्वर्ण पदक जीतने के अपने लक्ष्य को हासिल करने में सफल रहे.

मुंबई की बारिश में ऐसा क्‍या कर डाला लारा दत्ता ने, जो नाराज़ हो गए पति महेश भूपति

पूर्व दिग्गज टेनिस खिलाड़ी भूपति ने यहां एक कार्यक्रम के दौरान संवाददाताओं से कहा, ‘मैं यह साफ कर देना चाहता हूं कि हमने स्वर्ण पदक जीता. इससे (पेस के हटने से) हमारा अभियान बिलकुल भी प्रभावित नहीं हुआ.'उन्होंने कहा, ‘मुझे यह सूचना मिली थी कि एशियाई खेलों से पहले टूर्नामेंट में खेलते हुए लिएंडर चोटिल हो गया था. इसके अलावा मुझे कोई जानकारी नहीं है. जहां तक हमारे अभियान के प्रभावित होने का सवाल है तो ऐसा नहीं हुआ. हमारा लक्ष्य युगल स्वर्ण पदक जीतना था और हम इसे जीतने में सफल रहे.'भूपति ने कहा, ‘मैं नहीं चाहूंगा कि कोई खिलाड़ी मैच के दौरान मुकाबले से हटे. इससे बेहतर है कि अगर कोई खिलाड़ी चोटिल है तो वह कोर्ट पर उतरने से पहले ही हट जाए.'

पेस के साथ भले ही अब सबकुछ ठीक न हो, लेकिन 'अच्छे दिन' नहीं भूल पा रहे महेश भूपति...

गौरतलब है कि रोहन बोपन्ना और दिविज शरण की जोड़ी ने फाइनल में एलेक्जेंडर बुबलिक और डेनिस युवसेयेव की कजाखस्तान की जोड़ी को सीधे सेटों में 6-3, 6-4 से हराकर स्वर्ण पदक जीता था. खिलाड़ियों की चोटों के संदर्भ में भारतीय डेविस कप टीम के कप्तान भूपति ने कहा, ‘मैंने पांच डेविस कप मैचों में कप्तानी की है और इस दौरान कम से कम 10 खिलाड़ी चोटिल रहे. युकी भांबरी ने मेरे लिए एक मैच खेला, सुमित नागल मुकाबले से हट गया. टेनिस खिलाड़ी होने के कारण मुझे पता है कि चोट खेल का हिस्सा है.'भूपति ने इस सवाल का सीधा जवाब नहीं दिया कि पेस के इस तरह के बर्ताव के कारण आगामी मुकाबलों में उनके नाम पर विचार नहीं किया जाएगा. उन्होंने कहा, ‘मैं इस टीम का कप्तान हूं और मुझे नहीं लगता कि मुझे इस सवाल का जवाब देना चाहिए.'डेविस कप के बदले हुए प्रारूप के क्वालीफायर में भारत को एक और दो फरवरी को इटली की मजबूत टीम का सामना करना है और भूपति ने कहा कि भारत के पास इस मैच में जीत दर्ज करने का अच्छा मौका होगा.

पेस के 27 साल के डेविस कप के सफर का 'ब्रेक प्‍वाइंट', कप्‍तान भूपति ने टीम से बाहर किया

उन्होंने कहा, ‘हमें खुशी है कि हमें अपना मैच स्वदेश में खेलना है. इटली की टीम मजबूत है लेकिन हम स्वदेश में खेल रहे हैं इसलिए हमारे पास अच्छा मौका है.'इस साल क्वार्टर फाइनल में हारने वाली चार टीमों में क्वालीफायर में जगह मिली है जिसमें इटली भी शामिल था. विश्व ग्रुप प्ले आफ में सर्बिया के खिलाफ शिकस्त झेलने वाले भारत ने एशिया-ओसियाना क्षेत्र में बेहतर डेविस कप रैंकिंग के कारण क्वालीफायर में जगह बनाई है. क्वालीफायर की 12 विजेता टीमें 18 टीमों के फाइनल में जगह बनाएंगी जो 18 से 24 नवंबर तक खेला जाएगा. इस साल सेमीफाइनल में जगह बनाने वाली चार टीमें और दो वाइल्ड कार्ड धारक टीमें (अर्जेंटीना और ब्रिटेन) भी इस टूर्नामेंट का हिस्सा होंगी.

वीडियो: पिता की उम्‍मीदों का दीप जलाए रखा महेश भूपति ने

भारतीय खिलाड़ियों को किसी तरह की चोट से जुड़े सवाल के जवाब में भूपति ने कहा, ‘‘यह आफ सीजन है. कोई भी खिलाड़ी टेनिस नहीं खेल रहा.'भूपति ने साथ ही कहा कि भारतीय टीम में इससे पहले उन्होंने कभी इतनी गहराई नहीं देखी. उन्होंने कहा, ‘जहां तक मुझे याद है भारतीय टेनिस में इससे पहले कभी इतनी गहराई नहीं थी. हमारे पास प्रजनेश (गुणेश्वरन), रामकुमार (रामनाथन) जैसे खिलाड़ी हैं जो लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं. पिछले कुछ वर्षों में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हमने काफी पदक जीते हैं. महिला वर्ग अंकिता रैना और करमन कौर थंडी अच्छा कर रहे हैं.' (इनपुट: एजेंसी)

Comments
हाईलाइट्स
  • बोले, चोट किसी भी खिलाड़ी के करियर का हिस्‍सा होती है
  • बेहतर है कि मैच से हटने के बजाय खिलाड़ी पहले हट जाए
  • वैसे, पेस के हटने के बावजूद हम गोल्‍ड जीतने में सफल रहे
संबंधित खबरें
भारतीय टेनिस की बेहतरी के लिए पेस, भूपति और सानिया मिलकर काम करें: बोरिस बेकर
भारतीय टेनिस की बेहतरी के लिए पेस, भूपति और सानिया मिलकर काम करें: बोरिस बेकर
Davis Cup: कुछ ऐसे इटली ने भारत को दी डेविस कप में 3-1 से मात
Davis Cup: कुछ ऐसे इटली ने भारत को दी डेविस कप में 3-1 से मात
Davis Cup: इटली ने भारत के खिलाफ ली बढ़त, अब मेजबान के सामने यह
Davis Cup: इटली ने भारत के खिलाफ ली बढ़त, अब मेजबान के सामने यह 'बड़ी चुनौती'
Tennis: महेश भूपति बोले, लिएंडर पेस का एशियाई खेलों से हटना कोई मुद्दा नहीं..
Tennis: महेश भूपति बोले, लिएंडर पेस का एशियाई खेलों से हटना कोई मुद्दा नहीं..
Advertisement