भारतीय टेनिस टीम के पाकिस्‍तान में डेविस कप में खेलने पर सरकार फैसला नहीं कर सकती: खेल मंत्री

Updated: 12 August 2019 15:01 IST

अखिल भारतीय टेनिस संघ (एआईटीए) भारत-पाकिस्‍तान के इस मुकाबले को तटस्थ स्थल पर करवाना चाहता है लेकिन पाकिस्तान टेनिस संघ ने रविवार को स्पष्ट कर दिया कि वह स्थल बदलने पर सहमत नहीं होगा क्योंकि इस्लामाबाद में पहले से ही तैयारियां चल रही हैं.

Davis Cup 2019: Kiren Rijiju Says, Government won
Kiren Rijiju ने कहा, भारत ओलिंपिक चार्टर को मानता है और उस पर उसके हस्ताक्षर हैं

नई दिल्‍ली:

केंद्रीय  खेल मंत्री कीरेन रिजिजू (Kiren Rijiju) ने कहा है कि भारत को पाकिस्तान में अगले महीने होने वाले डेविस कप (Davis Cup 2019)मुकाबले में भाग लेना चाहिए या नहीं, इस पर सरकार कोई फैसला नहीं कर सकती क्योंकि यह द्विपक्षीय प्रतियोगिता नहीं है. गौरतलब है कि भारत और पाकिस्तान (India vs Pakistan) के बीच एशिया ओसियाना क्षेत्र ग्रुप ए डेविस कप मुकाबला 14 और 15 सितंबर को इस्लामाबाद में होगा लेकिन जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए  जाने के बाद दोनों देशों के बीच बढ़ते तनाव के कारण इस पर अनिश्चितता के बादल मंडरा रहे हैं. रीजीजू ने खेल एवं युवा कल्याण मंत्रालय के एक कार्यक्रम से इतर कहा, ‘अगर यह द्विपक्षीय खेल प्रतियोगिता होती तो फिर भारत को पाकिस्तान से खेलना चाहिए या नहीं, यह राजनीतिक फैसला बन जाता. लेकिन डेविस द्विपक्षीय प्रतियोगिता नहीं है और इसका आयोजन एक विश्व खेल संस्था करती है.'

Rogers Cup: पुरुष वर्ग में राफेल नडाल और महिला वर्ग में बियान्‍का एंड्रेस्‍कू चैंपियन

खेल मंत्री रिजिजू (Kiren Rijiju) ने कहा, ‘‘भारत ओलिंपिक चार्टर को मानता है और उस पर उसके हस्ताक्षर हैं, इसलिए भारत सरकार या राष्ट्रीय महासंघ यह फैसला नहीं कर सकते कि भारत को इसमें भाग लेना चाहिए या नहीं.' अखिल भारतीय टेनिस संघ (एआईटीए) इस मुकाबले को तटस्थ स्थल पर करवाना चाहता है लेकिन पाकिस्तान टेनिस संघ ने रविवार को स्पष्ट कर दिया कि वह स्थल बदलने पर सहमत नहीं होगा क्योंकि इस्लामाबाद में पहले से ही तैयारियां चल रही हैं. आईटीएफ से स्थान बदलने की मांग करते हुए एआईटीए दोनों के बीच तनाव और सुरक्षा चिंताओं को कारण बताएगा.

TENNIS: यहां तो राफेल नडाल दिग्गज रोजर फेडरर से आगे निकल गए

 भारत की कोई भी डेविस कप टीम 1964 के बाद पाकिस्तान दौरे पर नहीं गई. पाकिस्तान ने 2017 के अपने पांच में से चार घरेलू मुकाबले इस्लामाबाद में खेले हैं. इस बीच उसने कोरिया, थाईलैंड, उज्बेकिस्तान और ईरान की मेजबानी की है. हांगकांग ने 2017 में पाकिस्तान का दौरा करने से इनकार कर दिया था जिससे पाकिस्तानी टीम को वाकओवर मिल गया था। पाकिस्तान आखिरी बार 2016 में तटस्थ स्थल पर खेला था तब उसने कोलंबो में चीन की मेजबानी की थी. पाकिस्तान ने 2015 में अपने दोनों मुकाबले तटस्थ स्थल पर खेले थे. उसने चीनी ताइपेई की तुर्की में और कुवैत की कोलंबो में मेजबानी की थी.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
Comments
हाईलाइट्स
  • कहा, यह द्विपक्षीय टूर्नामेंट नहीं, सरकार निर्णय नहीं कर सकती
  • भारत-पाकिस्‍तान मुकाबला इस्‍लामाबाद में होना है
  • एशिया ओसियाना क्षेत्र ग्रुप 'ए' के तहत है डेविस कप मुकाबला
संबंधित खबरें
इस वजह से यूएस ओपन में विलिम्यस बहनों के मैचों से हटाए गए अंपायर कार्लोस रामोस
इस वजह से यूएस ओपन में विलिम्यस बहनों के मैचों से हटाए गए अंपायर कार्लोस रामोस
Tennis: यूएस ओपन के मुख्य ड्रॉ में पहुंचे सुमित नागल, रोजर फेडरर से होगा मुकाबला
Tennis: यूएस ओपन के मुख्य ड्रॉ में पहुंचे सुमित नागल, रोजर फेडरर से होगा मुकाबला
Tennis: नोवाक जोकोविच और नाओमी ओसाका को यूएस ओपन में शीर्ष वरीयता
Tennis: नोवाक जोकोविच और नाओमी ओसाका को यूएस ओपन में शीर्ष वरीयता
AITA-ITF की बैठक रद्द, भारतीय टीम के पाकिस्तान में जाकर खेलने पर आज होगा फैसला
AITA-ITF की बैठक रद्द, भारतीय टीम के पाकिस्तान में जाकर खेलने पर आज होगा फैसला
WTA Ranking: नाओमी ओसाका ने बरकरार रखी अपनी नंबर 1 पायदान
WTA Ranking: नाओमी ओसाका ने बरकरार रखी अपनी नंबर 1 पायदान
Advertisement