ATP RANKING: फिर भी राफेल नडाल ने बरकरार रखी अपनी नंबर एक पायदान
NDTVSports

ATP RANKING: फिर भी राफेल नडाल ने बरकरार रखी अपनी नंबर एक पायदान

स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर ने भी अपना दूसरा स्थान कायम रखा है. शीर्ष-10 में कोई भी बदलाव देखने को नहीं मिला है. सर्बिया के नोवका जोकोविक तीसरे स्थान पर बने हुए हैं जबकि उनके बाद अर्जेटीना को जुआन मार्टिन डेल पोट्रो हैं

ISSF World Championships: जूनि‍यर निशानेबाजों ने जीते दो और स्‍वर्ण, सीनियर वर्ग में गुरप्रीत को रजत
Bhasha

ISSF World Championships: जूनि‍यर निशानेबाजों ने जीते दो और स्‍वर्ण, सीनियर वर्ग में गुरप्रीत को रजत

16 वर्षीय विजयवीर सिद्धू ने जूनियर पुरुषों की 25 मीटर स्टैंडर्ड पिस्टल स्पर्धा में राजकंवर सिंह संधू और आदर्श सिंह के साथ मिलकर टीम स्पर्धा का स्वर्ण पदक हासिल किया. भारत इस समय 11 स्वर्ण, नौ रजत और सात कांस्य से कुल 27 पदक के साथ पदक तालिका में तीसरे स्थान पर बना हुआ है जो उसका इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. गुरुवार को 25 मीटर पिस्टल स्पर्धा में चौथे स्थान पर रहने वाले विजयवीर ने 572 का स्कोर बनाया जिससे वह कोरिया के ली गुनहेयोक (570) और चीन के हाओजी जू (565) से आगे रहे.

कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स की स्‍वर्ण विजेता संजीता का
NDTVSports

कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स की स्‍वर्ण विजेता संजीता का 'बी' सैंपल भी पॉजिटिव, अब उठाएंगी यह कदम..

संजीता चानू ने अंतरराष्ट्रीय भारोत्तोलन महासंघ (आईडब्ल्यूएफ) के सुनवाई पैनल के सामने अपना मामला रखने का फैसला किया है. अगर वे आईडब्ल्यूएफ सुनवाई पैनल के सामने खुद को निर्दोष साबित करने में नाकाम रहती है तो उन पर चार साल तक का प्रतिबंध लग सकता है.

Shooting WorldCup: 25 मीटर पिस्‍टल के जूनियर वर्ग में भारत ने जीते दो स्‍वर्ण पदक
NDTVSports

Shooting WorldCup: 25 मीटर पिस्‍टल के जूनियर वर्ग में भारत ने जीते दो स्‍वर्ण पदक

उदयवीर ने व्यक्तिगत वर्ग में 587 (प्रीसीजन में 291 और रैपिड में 296) का स्कोर बनाकर अमेरिका के हेनरी लेवरेट (584) और कोरिया के ली जेइक्यून (582) को पछाड़कर स्वर्ण पदक जीता. भारत के ही विजयवीर सिद्धू 581 अंक के साथ चौथे स्थान पर रहे. भारतीय तिकड़ी ने 1736 अंक के साथ टीम स्वर्ण पदक जीता.

ध्‍वजवाहक होने के नाते एशियन गेम्‍स में मुझ पर पदक जीतने का ज्‍यादा दबाव था: नीरज चोपड़ा
IANS

ध्‍वजवाहक होने के नाते एशियन गेम्‍स में मुझ पर पदक जीतने का ज्‍यादा दबाव था: नीरज चोपड़ा

हरियाणा के पानीपत जिले के रहने वाले नीरज एशियाई खेलों में जैवलिन थ्रो इवेंट में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय एथलीट हैं. इससे पहले गुरतेज सिंह ने 1982 के एशियाई खेलों में भारत के लिए इस इवेंट में कांस्य पदक जीता था.

220 किमी की गति से दौड़ रही थीं बाइक, तभी फेनाटी ने दबाया प्रतिद्वंद्वी की बाइक का ब्रेक, देखें VIDEO
NDTVSports

220 किमी की गति से दौड़ रही थीं बाइक, तभी फेनाटी ने दबाया प्रतिद्वंद्वी की बाइक का ब्रेक, देखें VIDEO

बेचारे स्‍टीफानो अपने बाइक पर से नियंत्रण खो बैठे और काफी मशक्‍कत के बाद इसे नियंत्रण में कर पाए. फेनाटी को अपनी इस हरकत का खामियाजा भुगतना पड़ा और 23 लेप के बाद उन्‍हें रेस से अयोग्‍य घोषित कर दिया गया. एफआईएम मोटो ग्रांप्री पैनल ने उन्‍हें अगली दो रेस में भाग लेने से प्रतिबंधित कर दिया है.

IAAF कप: ट्रिपल जंप में पदक जीत अरपिंदर ने रचा इतिहास, नीरज चोपड़ा ने किया निराश..
NDTVSports

IAAF कप: ट्रिपल जंप में पदक जीत अरपिंदर ने रचा इतिहास, नीरज चोपड़ा ने किया निराश..

25 वर्षीय अरपिंदर साल में एक बार होने वाली इस प्रतियोगिता में एशिया पैसेफिक टीम का प्रतिनिधित्व कर रहे थे. उन्होंने जकार्ता में 16.77 मीटर कूद लगाई थी जबकि उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 17.17 मीटर है जो उन्होंने 2014 में किया था. कोई भी भारतीय अब तक कांटिनेंटल कप में पदक जीत पाया था जिसे 2010 से पहले आईएएएफ विश्व कप के नाम से जाना जाता था.

अब एक और नए रिकॉर्ड के साथ शूटर सौरभ चौधरी बने विश्व जूनियर चैंपियन
NDTVSports

अब एक और नए रिकॉर्ड के साथ शूटर सौरभ चौधरी बने विश्व जूनियर चैंपियन

पिछले महीने एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाले 16 साल के सौरभ ने 581 अंक के साथ तीसरे स्थान पर रहते हुए फाइनल में जगह बनाई, सौरभ ने सबसे पहले जून में आईएसएसएफ विश्व कप के दौरान 10 मीटर एयर पिस्टल में विश्व रिकार्ड बनाया था.

NDTVSports

'इस कारण' एशियन गेम्स पदक विजेता दिव्या काकरान ने अरविंद केजरीवाल को सुनाई खरी-खरी

ध्यान दिला दें कि दिल्ली की पहलवान दिव्या काकरान ने महिलाओं के 68 किग्रा भार वर्ग में चीनी ताइपे की चेन वेनलिंग को हराकर  कांस्य पदक अपनी झोली में डाला था. इसी के बाद दिल्ली सरकार ने दिव्या काकरान को सम्मानित करने के लिए उन्हें सचिवालय में आमंत्रित किया था

Asian Games 2018: स्‍वप्‍ना बर्मन बोली,
IANS

Asian Games 2018: स्‍वप्‍ना बर्मन बोली, 'कोच सर ने कहा था-अपने ऊपर भरोसा रख, तुम पदक जीतोगी'

एशियन गेम्‍स की सात स्पर्धाओं में कुल 6026 अंकों के साथ पहला स्थान हासिल करने वाली स्वप्‍ना के लिए हालांकि कुछ भी आसान नहीं रहा है. दोनों पैरों में छह-छह अंगुलियां होने के कारण उन्हें अलग परेशानी झेलनी पड़ी और फिर अपनी स्पर्धा से पहले उन्हें दांत में दर्द की शिकायत हुई. यही नहीं, ट्रेनिंग के दौरान उन्हें टखने में भी चोट लगी थी. इन सब मुश्किलों को लांघते हुए स्वप्ना ने अपने सपने को सच साबित किया है.

Asian Games: बॉक्‍सर विजेंदर सिंह की मांग,
NDTVSports

Asian Games: बॉक्‍सर विजेंदर सिंह की मांग, 'स्‍वर्ण विजेता स्‍वप्‍ना की इनामी राशि बढ़ाए बंगाल सरकार'

जलपाईगुड़ी की रहने वाली स्वप्‍ना ने 6026 अंकों का बेस्ट स्कोर अर्जित करते हुए सात स्पर्धाओं वाले खेल हेप्टाथलान में स्वर्ण जीता था. स्‍वप्‍ना ने दांत के दर्द की परवाह किए बिना देश के लिए यह सोने का पदक जीता.

Asian Games 2018:
NDTVSports

Asian Games 2018: 'यह भारतीय गायक' समापन समारोह में इंडोनेशिया में छा गया

Asia Games 2018: उम्मीद के मुताबिक समापन समारोह उद्घाटन समारोह जैसा भव्य नहीं था जिसमें इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो ने आयोजन स्थल पर बाइक स्टंट के साथ प्रवेश करते हुए सुर्खियां बटोरी थी. लेकिन गाने, नृत्य और पटाखों के कारण इसमें मजे की कोई कमी नहीं थी. इस दौरान विडोडो का वीडियो संदेश भी दिखाया गया.

Asian Games 2018: कुछ ऐसे चीन ने रखा अपना वर्चस्व बरकरार, भारत का

Asian Games 2018: कुछ ऐसे चीन ने रखा अपना वर्चस्व बरकरार, भारत का 'सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ' प्रदर्शन

Asian Games 2018:चीन हालांकि जकार्ता में एशियाई खेलों के पिछले संस्करणों के अपने शानदार प्रदर्शन को दोहरा नहीं पाया. इंचियोन में चीन ने 151 स्वर्ण, 109 रजत और 85 कांस्य के साथ कुल 345 पदक जीते थे. ग्वांगझू में चीन ने अपनी मेजबानी में 199 स्वर्ण जीतकर कीर्तिमान स्थापित किया लेकिन इस बार वह इसके करीब भी नहीं पहुंच सका. ग्वांगझू में चीन ने कुल 416 पदक जीते थे. एशियाई खेलों की शुरुआत 1951 में हुई थी

Asian Games 2018: भारत ने पाकिस्‍तान को हराकर हॉकी का कांस्‍य पदक जीता
NDTVSports

Asian Games 2018: भारत ने पाकिस्‍तान को हराकर हॉकी का कांस्‍य पदक जीता

पुरुष हॉकी में इस बार भारत और पाकिस्‍तान, दोनों ही टीमें फाइनल में स्‍थान नहीं बना सकी थीं. सेमीफाइनल में भारत को मलेशिया से और पाकिस्तान को जापान से हार का सामना करना पड़ा था. इस हार के कारण दोनों टीमों कांस्य पदक के मुकाबले में एक-दूसरे के खिलाफ उतरना पड़ा, जहां भारत ने बाजी मारी.

Asian Games 2018: ब्रिज और बॉक्सिंग में मिला स्‍वर्ण, पुरुष हॉकी टीम ने पाकिस्‍तान को हराकर कांस्‍य जीता

Asian Games 2018: ब्रिज और बॉक्सिंग में मिला स्‍वर्ण, पुरुष हॉकी टीम ने पाकिस्‍तान को हराकर कांस्‍य जीता

Asian Games 2018: अमित पंघाल की जीत के साथ ही भारत ने एशियाई खेलों के करीब 67 साल में नया इतिहास रचते हुए अपने सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन को पीछे छोड़ दिया. कुल मिलाकर यह भारत का 66वां पदक रहा. इससे पहले भारत ने साल 2010 में चीन के गुआंगझू में हुए संस्करण में सबसे ज्यादा 65 पदक जीते थे

Asian Games 2018: जापान से हारी भारतीय महिला हॉकी टीम, स्वर्ण व ओलिंपिक टिकट गंवाया
NDTVSports

Asian Games 2018: जापान से हारी भारतीय महिला हॉकी टीम, स्वर्ण व ओलिंपिक टिकट गंवाया

इस हार के साथ ही भारतीय महिला टीम एशियाई खेलों में 36 साल बाद दूसरा स्वर्ण पदक जीतने से चूक गईं. भारत ने 1982 में नई दिल्ली में हुए नौवें एशियाई खेलों में पहली बार स्वर्ण पदक जीता था. स्वर्ण से चूकने के कारण भारतीय महिला टीम को टोक्यो ओलिंपिक-2020 का टिकट भी गंवाना पड़ा.

Asian Games 2018: दुती चंद ने बताया, मुश्किल वक्‍त में गोपीचंद भैया ने किस तरह की मदद...
NDTVSports

Asian Games 2018: दुती चंद ने बताया, मुश्किल वक्‍त में गोपीचंद भैया ने किस तरह की मदद...

ओडिशा की इस एथलीट ने कहा, ‘इस साल अब कोई बड़ी प्रतियोगिता नहीं है और ओलिंपिक के लिए मेरे पास दो साल का समय है. ओलिंपिक से पहले अगले साल एशियाई चैम्पियनशिप में भी भाग लेना है. इन दो वर्षों में मैं पूरी जी-जान से अभ्यास करूंगी ताकि देश का नाम ओलिंपिक में भी ऊंचा कर सकूं.’

Asian Games 2018: रिक्शा चालक की बेटी स्वप्ना बर्मन की मां का यह रिएक्शन आपको भावुक कर देगा, VIDEO

Asian Games 2018: रिक्शा चालक की बेटी स्वप्ना बर्मन की मां का यह रिएक्शन आपको भावुक कर देगा, VIDEO

Asian Games: स्वप्ना बर्मन जीत कई मायनों से खास है. पैरों के दोनों पंजों में छह उंगलियां होने के कारण लगातार आई दिक्कतें ही मानो काफी नहीं है. एक रिक्शा चालक की गरीब बेटी ने इस मुकाम तक कितना दर्द, पीड़ा व परेशानियां झेली होंगी, इसका अनुमान ज्यादातर लगा भी नहीं पाएंगे. जिस व्यक्ति पर गुजरती है, समझता वही है...

Advertisement