Asian Games 2018: रिक्शा चालक की बेटी स्वप्ना बर्मन की मां का यह रिएक्शन आपको भावुक कर देगा, VIDEO

Updated: 31 August 2018 15:10 IST

Asian Games: स्वप्ना बर्मन जीत कई मायनों से खास है. पैरों के दोनों पंजों में छह उंगलियां होने के कारण लगातार आई दिक्कतें ही मानो काफी नहीं है. एक रिक्शा चालक की गरीब बेटी ने इस मुकाम तक कितना दर्द, पीड़ा व परेशानियां झेली होंगी, इसका अनुमान ज्यादातर लगा भी नहीं पाएंगे. जिस व्यक्ति पर गुजरती है, समझता वही है...

Asian Games 2018: Riksha pullers Gold winner daughter Swapna Barman mother this reaction would make you emotional
Asian Games: हैप्टाथलॉन में स्वर्ण पदक जीतने वाली स्वप्ना बर्मन

जकार्ता:

एक दिन पहले ही इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में चल रहे 18वें एशियाई खेलों की हैप्टाथलॉन प्रतिस्पर्धा में स्पर्धा में स्वर्ण  पदक जीतने वाली एथलीट स्वप्ना बर्मन (Swapna Barma won the Gold) की पूरे देश में चर्चा है. आम से लेकर खास तक हर कोई स्वप्ना के कारनामे की चर्चा कर रहा है. वास्तव में स्वप्ना बर्मन (Swapna Barman became darling of the India) का हैप्टाथलॉन (सात स्पर्धाएं: 100 मी. बाधा दौड़. ऊंची कूद, गोलाफेंक, लंबी कूद, भाला फेंक और 800 मी.) का स्वर्ण पदक जीतना आज के दौर में भारत की महिला ताकत को बयां करने के लिए काफी है. 

लेकिन स्वप्ना की जीत कई मायनों से खास है. पैरों के दोनों पंजों में छह उंगलियां होने के कारण लगातार आई दिक्कतें की मानो काफी नहीं है. एक रिक्शा चालक की गरीब बेटी ने इस मुकाम तक कितना दर्द, पीड़ा व परेशानियां झेली होंगी, इसका अनुमान ज्यादातर लगा भी नहीं पाएंगे. जिस व्यक्ति पर गुजरती है, समझता वही है. ठीक वैसे ही, जिस दांत के दर्द की पीड़ा से स्वप्ना बर्मन प्रतियोगिता वाले दिन गुजरीं. इतना दर्द कि चेहरे पर टेप लगानी पड़ी, लेकिन यह दर्द भी उन्हें सोना कब्जाने से नहीं रोक सका.

और स्वप्ना बर्मन का परिवार और खास तौर पर उनकी मां कैसे खुशी के आंसुओं में भीग गए, यह आप नीचे दिए गए वीडियो को देखकर अच्छी तरह महसूस कर सकते हैं. स्वप्ना बर्मन की मां की यह प्रतिक्रिया सबकुछ अपने-आप में बयां कर देती है. 

 

यह भी पढ़ें:  Asian Games:तीरंदाज रजत चौहान के लिए पढ़ाई से ज्‍यादा आसान पदक जीतना, पांच प्रयास के बाद 12वीं में हुए पास

इस वीडियो को देखकर स्वप्ना बर्मन के सामाजिक परिवेश और उनकी पृष्ठभूमि के बारे में आसानी से समझा जा सकता है. और यह भी कि कितनी ज्यादा मुश्किल रूपी लहरों को भेदकर इस एथलीट ने एशिया के सबसे बड़े मंच पर तिरंगा और अपने नाम का परचम लहराया है. 

VIDEO: सुशील कुमार एशियाई खेलों में सबसे बड़ी निराशा साबित हुए.

स्वप्ना बर्मन इस समय पूरे देश में लोगों के बीच चर्चा का विषय बनी हुई हैं. आम लोग उनकी पृष्ठभूमि की चर्चा कर  उनकी स्वर्णिम सफलता को अपने बच्चों को एक उदाहरण के रूप में सुना रहे हैं, तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर देश की तमाम प्रसिद्ध शख्सियतें उन्हें सोशल मीडिया के जरिए उन्हें बधाई दे रहे हैं. 

Comments
हाईलाइट्स
  • एशियाई खेलों में हैप्टाथलॉन में स्वर्ण पदक जीता है स्वप्ना बर्मन ने
  • ममता बनर्जी ने की सिर्फ 10 लाख रुपये देने की घोषणा
  • पूरे देश में हो रही स्वप्ना बर्मन के नाम की चर्चा
संबंधित खबरें
ध्‍वजवाहक होने के नाते एशियन गेम्‍स में मुझ पर पदक जीतने का ज्‍यादा दबाव था: नीरज चोपड़ा
ध्‍वजवाहक होने के नाते एशियन गेम्‍स में मुझ पर पदक जीतने का ज्‍यादा दबाव था: नीरज चोपड़ा
'इस कारण' एशियन गेम्स पदक विजेता दिव्या काकरान ने अरविंद केजरीवाल को सुनाई खरी-खरी
Asian Games 2018: स्‍वप्‍ना बर्मन बोली,
Asian Games 2018: स्‍वप्‍ना बर्मन बोली, 'कोच सर ने कहा था-अपने ऊपर भरोसा रख, तुम पदक जीतोगी'
Asian Games: बॉक्‍सर विजेंदर सिंह की मांग,
Asian Games: बॉक्‍सर विजेंदर सिंह की मांग, 'स्‍वर्ण विजेता स्‍वप्‍ना की इनामी राशि बढ़ाए बंगाल सरकार'
Asian Games 2018:
Asian Games 2018: 'यह भारतीय गायक' समापन समारोह में इंडोनेशिया में छा गया
Advertisement