'इस कारण' भारतीय फुटबॉल कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन ने आईओए पर साधा निशाना

Updated: 17 February 2019 09:41 IST

कांस्टेनटाइन ने आगामी सैफ चैम्पियनशिप की तैयारियों के लिए फीफा अंडर-17 विश्व कप में भाग लेने वाले चार खिलाड़ियों प्राभसुकन सिंह गिल, सुरेश सिंह वांगजेम, रहीम अली और राहुल केपी को प्रशिक्षण शिविर में शामिल किया है

That
भारतीय फुटबॉल कोच स्टीफन कान्सटेनटाइन

नई दिल्ली:

भारतीय फुटबाल टीम के कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन ने एशियाई खेलों में पुरुष और महिला टीमों को नहीं भेजने के भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) के फैसले की आलोचना की है. आईओए ने एशिया ओलंपिक परिषद (ओसीए) के शर्तों को पूरा करने के बावजूद पुरुष और महिला फुटबाल टीमों को एशियाई खेलों के लिए नहीं भेजने का फैसला किया था. एशियाई खेलों का आयोजन अगले माह 18 अगस्त से दो सितंबर तक इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में होने हैं.

कांस्टेनटाइन ने कहा कि एशियाई खेलों का आयोजन चार साल में एक बार होता है और पिछले प्रदर्शन के आधार पर इसके बारे में फैसला नहीं लिया जा सकता. कांस्टेनटाइन ने रविवार को कहा कि आप को बता नहीं सकता कि मैं कितना निराश हूं. यह एक निराशाजनक फैसला है. पिछले एशियाई खेलों के प्रदर्शन के आधार पर आप ऐसे फैसले नहीं ले सकते. उन्होंने कहा कि एशिया खेल चार साल में एक बार होता है और हर चार साल में एक जैसी टीम नहीं होती है. हम वैसी टीम नहीं है जो चार और आठ साल पहले हुआ करती थी. कोच ने कहा कि मुझे लगता है कि हमारे पास ग्रुप चरण से क्वालीफाई करने का अच्छा मौका था, इसलिए मैं बहुत निराश हूं.

यह भी पढ़ें:   Fifa World Cup 2018: क्रोएशिया को 27 साल पहले मिली थी आजादी, जानिए इस छोटे से देश के बारे में 10 बड़ी बातें

कांस्टेनटाइन ने आगामी सैफ चैम्पियनशिप की तैयारियों के लिए फीफा अंडर-17 विश्व कप में भाग लेने वाले चार खिलाड़ियों प्राभसुकन सिंह गिल, सुरेश सिंह वांगजेम, रहीम अली और राहुल केपी को प्रशिक्षण शिविर में शामिल किया है. फीफा अंडर-17 विश्व कप में शानदार प्रदर्शन करने वाले भारतीय गोलकीपर धीरज सिंह को नहीं चुने के फैसले के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि इससे मुझे कोई लेना-देना नहीं है।" 

VIDEO: पिछले दिनों मेघालय में बच्चों की अंडर-13 फुटबॉल लीग की शुरुआत हुई. 

भारतीय कोच ने कहा कि यू-17 टीम का बहुत प्रचार हुआ. उन्होंने विश्व कप में एक भी मैच नहीं जीता. मुझे नहीं पता कि प्रचार क्या है, लेकिन हमने ठीक किया.

Comments
हाईलाइट्स
  • मैं बहुत ही ज्यादा निराश हूं
  • चार या आठ साल से कहीं बेहतर हुए हैं हम
  • फीफा अंडर-17 विश्व कप के गोलची को न चुनने पर चुप्पी साधी
संबंधित खबरें
FOOTBALL: इन 37 खिलाड़ियों को शिविर में बुलाया नए फुटबॉल कोच इगोर स्टीमाक ने
FOOTBALL: इन 37 खिलाड़ियों को शिविर में बुलाया नए फुटबॉल कोच इगोर स्टीमाक ने
क्रोएशिया के इगोर स्टीमाक बने भारतीय फुटबॉल टीम के कोच
क्रोएशिया के इगोर स्टीमाक बने भारतीय फुटबॉल टीम के कोच
इगोर स्टीमाक का नया भारतीय फुटबॉल कोच बनना लगभग तय
इगोर स्टीमाक का नया भारतीय फुटबॉल कोच बनना लगभग तय
इस ब्राजीली ने दिखाई भारतीय फुटबॉल कोच बनने में रुचि
इस ब्राजीली ने दिखाई भारतीय फुटबॉल कोच बनने में रुचि
FOOTBALL: कुछ ऐसे पंजाब  संतोष ट्रॉफी के फाइनल में पहुंचा
FOOTBALL: कुछ ऐसे पंजाब संतोष ट्रॉफी के फाइनल में पहुंचा
Advertisement
ss