FLASHBACK 2018: फुटबॉल में बहुत ही शानदार रहा भारत के लिए साल, जूनियर वर्ग में दी अर्जेंटीना को मात

Updated: 23 December 2018 18:56 IST

विश्व कप के क्वार्टरफाइनल में फ्रांस के हारकर टीम का निराशाजनक सफर खत्म हुआ. फ्रांस फाइनल में क्रोएशिया को हराकर इसका चैंपियन बना. क्रोएशिया की टीम विश्व कप में अंतिम बाधा को पार करने से चूक गई, लेकिन उन्होंने अपने खेल से दुनियाभर के फुटबॉल प्रेमियों का दिल जीता

FLASHBACK 2018: This year turned out to be fantastic for India in football, Beats to Argentina in junior category
साल 2018 में रूस में हुआ वर्ल्ड कप कई कारणों से चर्चा में रहा

नई दिल्ली:

FLASHBACK2018 के तहत आज हम आपको बताएंगे साल 2018 में फुटबॉल और खासतौर पर भारतीय फुटबॉल की कहानी. गुजरे साल में रूस में आयोजित हुआ फुटबॉल विश्व कप दुनिया भर के लिए आकर्षण का केंद्र रहा. टीवी और डिजिटल दर्शकों की संख्या का नया रिकॉर्ड बना. भारतीय फुटबाल के लिए साल 2018 शानदार रहा जिसकी सबसे बड़ी उपलब्धि अंडर- 20 टीम की 10 खिलाड़ियों के साथ खेलते हुए अर्जेंटीना जैसी मजबूत टीम को हराकर हासिल की गई जीत रही. दुनिया को लियोनल मेसी और डिएगो माराडोना जैसे दिग्गज फुटबालर देने वाले दो बार के विश्व चैंपियन अर्जेंटीना के लिए यह साल खराब रहा.

विश्व कप के क्वार्टरफाइनल में फ्रांस के हारकर टीम का निराशाजनक सफर खत्म हुआ. फ्रांस फाइनल में क्रोएशिया को हराकर इसका चैंपियन बना. क्रोएशिया की टीम विश्व कप में अंतिम बाधा को पार करने से चूक गई, लेकिन उन्होंने अपने खेल से दुनियाभर के फुटबॉल प्रेमियों का दिल जीता. टीम के कप्तान लुका मोड्रिच को अपने देश और क्लब (रीयाल मैड्रिड) के लिए शानदार प्रदर्शन करने के लिए बेलोन डि‘ओर से नवाजा गया.

भारतीय फुटबाल की बात करें तो कोच फ्लायड पिंटो की अंडर- 20 भारतीय टीम में ऐसा कर दिखाया जिसकी किसी को उम्मीद नहीं थी. टीम ने अगस्त में स्पेन के वेलेंसिया में कोटीफ कप के मैच में अर्जेंटीना को 2-1 से हराया. यह जीत और भी बड़ी थी क्योंकि विश्व कप खेल चुके पाब्लो एइमर की देख-रेख में खेलने वाली अर्जेंटीना के खिलाफ भारतीय टीम मैच के 40 मिनट तक 10 खिलाड़ियों के साथ खेली.अर्जेंटीना के खिलाफ भारत की जीत ने फुटबाल की दुनिया में देश का मान बढ़ाया तो वहीं युवा खिलाड़ियों के लिए दुनिया की बेहतरीन टीमों के साथ लगातार खेलने का मौका उपलब्ध कराया. मैच के बाद पिंटो ने कहा किअर्जेंटीना (इस खेल में) हमसे मीलों आगे है.

यह भी पढ़ें: FLASHBACK 2018: इन दस बड़े विवादों ने साल 2018 में कराई क्रिकेट की किरकिरी

भारत की अंडर-16 टीम भी सफलता के मामले में अंडर-20 टीम से ज्यादा पीछे नहीं थी जिसने अम्मान में आमंत्रण टूर्नामेंट में एशिया की बड़ी टीम ईरान को हराया. खास बात यह है कि स्पेन में अर्जेंटीना पर मिली जीत के चार घंटों के बाद ही अंडर-16 टीम ने इस सफलता को हासिल किया. टीम हालांकि 2019 में होने वाले अंडर-17 विश्व कप के लिए क्वालीफाई करने के बेहद करीब पहुंचकर चूक गई. क्वालीफायर्स के क्वार्टर फाइनल में टीम कोरिया से 0-1 से हारकर बाहर हो गई थी. पिछले साल अंडर- 17 विश्व कप की मेजबानी करने वाले भारत की युवा टीमों की सफलता ने यह साबित किया की देश में प्रतिभा की कमी नहीं और इस खेल में हम 'स्लीपिंग जायंट्स' से 'पैशनेट जायंट्स' बनने की तरफ बढ़े हैं.

यह भी पढ़ें: FLASHBACK2018: 'इन उपलब्धियों' से यह साल भारतीय टेबल टेनिस का सर्वश्रेष्ठ साल बन गया

सीनियर टीम ने भी कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन की देखरेख में एएफसी 2019 एशियाई कप की तैयारियों के मद्देनजर कई मैच खेले और शानदार प्रदर्शन किया एएफसी एशियाई कप में भारत के ग्रुप में मेजबान यूएई, थाईलैंड और बहरीन जैसी टीमें हैं. ग्रुप चरण में सफलता हासिल करने के बाद टीम को जापान, दक्षिण कोरिया, ऑस्ट्रेलिया, ईरान और सऊदी अरब जैसी महाद्वीप की बड़ी टीमों से भिड़ने का मौका मिलेगा. कांस्टेनटाइन ने साफ कर दिया है कि पांच जनवरी से एक फरवरी तक चलने वाली इस महाद्वीपीय प्रतियोगिता में अपनी छाप छोड़ने के लिए खिलाड़ियों को अपना सर्वश्रेष्ठ फुटबाल खेलना होगा. टूर्नामेंट से पहले भारत ने चीन जैसी बड़ी टीम के साथ गोल रहित ड्रा खेला है जिससे उनका हौसला बढ़ेगा. चीन के कोच विश्व कप विजेता इटली के मार्सेलो लिप्पी हैं। 

VIDEO: फ्रांस ने क्रोएशिया को हराकर विश्व कप जीता

इससे पहले भारत में हुए टूर्नामेंट में कप्तान सुनील छेत्री की प्रशंसकों से की गई अपील का काफी असर हुआ और मुंबई में मैच देखने के लिए मैदान में बड़ी संख्या में दर्शक पहुंचे.  छेत्री ने सोशल मीडिया के जरीS प्रशंसकों से मैदान में आकर उनके सामने टीम के प्रदर्शन की आलोचना करने की अपील की. उनके इस ट्वीट को 60,000 से ज्यादा बार रीट्वीट किया गया था. भारत ने इस टूर्नामेंट में न्यूजीलैंड, दक्षिण अफ्रीका और कीनिया जैसे देशों को हराकर खिताब जीता. टूर्नामेंट के फाइनल में छेत्री ने देश के लिए अपना 64वां गोलकर सक्रिय फुटबालरों में अंतरराष्ट्रीय गोल के मामले में मेसी की बराबरी की. 

Comments
हाईलाइट्स
  • सुनील छेत्री ने 64वें गोल से की मेसी की बराबरी
  • अंडर-20 टीम ने दिग्गज अर्जेंटीना को दी मात
  • क्रोएशिया ने दिल जीता, फ्रांस ने विश्व कप
संबंधित खबरें
Football: भारतीय फुटबॉल कोच ने कप्तान सुनील छेत्री को लेकर दिया बड़ा बयान
Football: भारतीय फुटबॉल कोच ने कप्तान सुनील छेत्री को लेकर दिया बड़ा बयान
World Cup Qualifiers: भारत वर्ल्ड कप क्वालीफाइंग दौर से लगभग बाहर हुआ, ओमान ने 1-0 से दी मात
World Cup Qualifiers: भारत वर्ल्ड कप क्वालीफाइंग दौर से लगभग बाहर हुआ, ओमान ने 1-0 से दी मात
World Cup Qualifiers: इसलिए भारतीय फुटबॉल टीम के लिए एक अंक है बहुत ही महत्वपूर्ण ओमान के खिलाफ
World Cup Qualifiers: इसलिए भारतीय फुटबॉल टीम के लिए एक अंक है बहुत ही महत्वपूर्ण ओमान के खिलाफ
World Cup Qualifiers: कुछ ऐसे भारत ने विश्व कप क्वालीफायर में खेला लगातार तीसरा ड्रा मुकाबला
World Cup Qualifiers: कुछ ऐसे भारत ने विश्व कप क्वालीफायर में खेला लगातार तीसरा ड्रा मुकाबला
World Cup 2022 Qualifiers: आदिल खान के गोल से बांग्लादेश को बराबरी पर रोकने में सफल रहा भारत
World Cup 2022 Qualifiers: आदिल खान के गोल से बांग्लादेश को बराबरी पर रोकने में सफल रहा भारत
Advertisement