बाईचुंग भूटिया बोले, कोच देशी हो या विदेशी इसके कोई मायने नहीं, लेकिन...

Updated: 17 April 2019 18:43 IST

भूटिया ने कहा, "यह कहना बहुत मुश्किल है कि मैं विदेशी या किसी भारतीय कोच को पसंद करता हूं. यह निर्णय केवल कोच के अनुभव और क्षमता को देखकर लिया जाना चाहिए

Baichung Bhutia says it doesn
बाईचुंग भूटिया की फाइल फोटो

नई दिल्ली:

भारतीय फुटबाल टीम का कोच कौना होगा, इस विषय को लेकर हर कोई अपनी राय दे रहा है. कोई कह रहा है कि कोच विदेशी होना चाहिए तो कोई कह रहा है कि देश में प्रतिभाओं की कमी नहीं है. ऐसे में भारतीय फुटबाल टीम के पूर्व कप्तान बाईचुंग भूटिया का कहना कि कोच की राष्ट्रीयता से कोई फर्क नहीं पड़ता. फर्क पड़ता है कोच की प्रोफाइल से. भूटिया ने कहा कि कोच देशी हो या विदेशी, उसकी प्रोफाइल सबसे महत्वपूर्ण है.

भूटिया ने कहा, "यह इस बार पर निर्भर करता है कि व्यक्ति का प्रोफाइल कैसा है. भारतीय हो या विदेशी हो, सवाल यह नहीं है. यह मायने रखता है कि उसने किस तरह का काम किया है. भारत के पूर्व स्टार खिलाड़ी का कहना है कि भारतीय और विदेशी कोच के स्तर को लेकर बहस करना उनके लिए मुश्किल है और इस पर लिए जाने वाले निर्णय को कोच के देश से जोड़कर नहीं देखा जाना चाहिए. 

यह भी पढ़ें: Football: प्रफुल्‍ल पटेल बने फीफा की कार्यकारी परिषद में चुने जाने वाले पहले भारतीय

भूटिया ने कहा, "यह कहना बहुत मुश्किल है कि मैं विदेशी या किसी भारतीय कोच को पसंद करता हूं. यह निर्णय केवल कोच के अनुभव और क्षमता को देखकर लिया जाना चाहिए. किसी और बात को देखकर नहीं". अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआईएफएफ) ने चार दशकों के बाद थाईलैंड में होने वाले किंग्स कप के आगामी संस्करण में भाग लेने का फैसला किया है. भारत ने आखिरी बार 1977 में टूर्नामेंट में भाग लिया था और टीम का कोच कौना होगा यह फिलहाल प्राथमिकता में सबसे ऊपर है. 

VIDEO: जब पिछले साल फ्रांस ने क्रोएशिया को हराकर वर्ल्ड कप का खिताब जीता. 

एआईएफएफ ने पहले ही वित्तीय बाधाओं के कारण एक हाई-प्रोफाइल कोच को नियुक्त करने की अपनी असमर्थता व्यक्त कर दी है और भूटिया के बयान के बाद यह देखना दिलचस्प होगा कि टीम को कोच किसे चुना जाता है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
Comments
हाईलाइट्स
  • जल्द ही होगी नए भारतीय कोच की नियुक्ति
  • फुटबॉल फेडरेशन ने मोटा वेतन देने में जताई है असमर्थता
  • मेरी अपनी पसंद बताया मुश्किल-भूटिया
संबंधित खबरें
FOOTBALL: नरेंद्र गहलोत ने बाइचुंग भूटिया के इस बडे़ रिकॉर्ड को तोड़ा
FOOTBALL: नरेंद्र गहलोत ने बाइचुंग भूटिया के इस बडे़ रिकॉर्ड को तोड़ा
इतना मुश्किल ड्रॉ मिला भारत को फीफा वर्ल्ड कप क्वालीफायर के लिए
इतना मुश्किल ड्रॉ मिला भारत को फीफा वर्ल्ड कप क्वालीफायर के लिए
IND vs NZ 1st Semifinal: इन चार
IND vs NZ 1st Semifinal: इन चार 'बड़े कारणों' के चलते हुई भारत की सेमीफाइनल में हार
King
King's Cup 2019: भारत ने मेजबान थाईलैंड को हराया, अनिरुद्ध थापा ने दागा एकमात्र गोल
FOOTBALL: इन 37 खिलाड़ियों को शिविर में बुलाया नए फुटबॉल कोच इगोर स्टीमाक ने
FOOTBALL: इन 37 खिलाड़ियों को शिविर में बुलाया नए फुटबॉल कोच इगोर स्टीमाक ने
Advertisement