लोकपाल डीके जैन ने Sourav Ganguly को लेकर BCCI को दिया यह बड़ा निर्देश

Updated: 13 September 2019 18:22 IST

हालांकि, गांगुली (Sourav Ganguly) को संदेह का लाभ भी दिया गया है, लेकिन इसके बावजूद डीके जैन ने बड़ी साफगोई के साथ बोर्ड को अपनी बात कह दी है. इसे लेकर जैन ने बीसीसीआई को एक पत्र लिखा है .

Ombudsman gives such a big instruction to BCCI regarding Sourav Ganguly
Sourav Ganguly की फाइल फोटो

नई दिल्ली:

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के एथिक्स अधिकारी डी.के. जैन ने पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) को लेकर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई, #BCCI) को बड़ा निर्देश दिया है. यह निर्देश सौरव गांगुली को हितों के टकराव को लेकर दिया गया है. हालांकि, गांगुली को संदेह का लाभ भी दिया गया है, लेकिन इसके बावजूद डीके जैन ने बड़ी साफगोई के साथ बोर्ड को अपनी बात कह दी है. इसे लेकर जैन ने बीसीसीआई को एक पत्र लिखा है . लोकपाल डीके जैन (Ombudsman DK Jain) ने बोर्ड से साफ कह दिया है कि सौरव गांगुली का हितों का टकराव का मुद्दा 'टैक्टेबल' (आसानी से प्रभावित होने वाला) है और वह अपनी पदों को चयन करने पर ध्यान दें.

यह भी पढ़ें:   Virat और Rohit के बीच रेस बनी चर्चा का विषय, लेकिन Team India अलग वजह से चिंता में

 उन्होंने कहा, "हालिया मामले में, गांगुली को जो नोटिस दिया गया था जिसमें लिखा था कि अगर एथिक्स अधिकारी को लगा कि सीएसी में उनका रहना हितों के टकराव का मुद्दा है जो नियम 38 में है, ऐसे में इन शिकायतों को लेकर उनका जवाब तुरंत प्रभाव से उनके इस्तीफे के तौर पर मान लिया जाएगा. दूसरा यह कि उनका आईपीएल फ्रेंचाइजी से करार तुरंत प्रभाव से खत्म होगा. मैं यह साफ करता हूं कि इस मामले में हितों का टकराव ट्रैक्टेबल है और बीसीसीआई के यह सुनिश्चित करे कि गांगुली एक से ज्यादा पदों पर न रहें. 

यह भी पढ़ें:  दक्षिण अफ्रीका सीरीज के लिए भारतीय टेस्ट टीम का ऐलान, इस खिलाड़ी की अनदेखी पर प्रशंसक हैरान

उन्होंने कहा, "हालांकि यह साफ है कि कानून का ज्ञान न होना बहाना नहीं हो सकता. गांगुली को 38(2) के नियम के तहत जरूरी जानकारी देनी थी, लेकिन इस बात को ध्यान में रखते हुए कि नियम अगस्त 2018 से अस्तित्व में आया, मैं गांगुली को संदेह का लाभ दे रहा हूं कि शायद उन्होंने पद स्वीकार करते हुए यह पता न हो कि यहां हितों का टकराव है।"

VIDEO:  धोनी के संन्यास पर युवा क्रिकेटरों की राय सुन लीजिए. 

उन्होंने लिखा, "साथ ही, मैं बीसीसीआई को निर्देश देता हूं कि वह इस बात को सुनिश्चित करे कि गांगुली ऐसी स्थिति से बचें जहां हितों का टकराव आड़े आए और उन्हें नियम 38 (4) के मुताबिक एक पद पर ही बने रहने दें"

Comments
हाईलाइट्स
  • सौरव का मुद्दा आसानी से हितों को प्रभावित करने वाला
  • लोकपाल डीके जैन ने दिया सौरव को संदेह का लाभ
  • लोकपाल की मार, अब सौरव पर गिरेगी गाज !
संबंधित खबरें
Sourav Ganguly ने शेयर की BCCI की
Sourav Ganguly ने शेयर की BCCI की 'नई टीम' के साथ यह फोटो...
बृजेश पटेल थे प्रबल दावेदार लेकिन नाटकीय घटनाक्रम के बाद यूं बनी सौरव गांगुली के नाम पर सहमति..
बृजेश पटेल थे प्रबल दावेदार लेकिन नाटकीय घटनाक्रम के बाद यूं बनी सौरव गांगुली के नाम पर सहमति..
Sourav Ganguly ने BCCI अध्यक्ष पद के लिए नामांकन दाखिल किया, निर्विरोध चुना जाना तय
Sourav Ganguly ने BCCI अध्यक्ष पद के लिए नामांकन दाखिल किया, निर्विरोध चुना जाना तय
Sourav Ganguly का बीसीसीआई अध्यक्ष बनना तय: रिपोर्ट
Sourav Ganguly का बीसीसीआई अध्यक्ष बनना तय: रिपोर्ट
Gautam Gambhir बोले-विराट कोहली हैं सौरव गांगुली और MS धोनी से बेहतर टेस्ट कप्तान, यह बताई वजह..
Gautam Gambhir बोले-विराट कोहली हैं सौरव गांगुली और MS धोनी से बेहतर टेस्ट कप्तान, यह बताई वजह..
Advertisement