CSK vs RCB: सही लगा धोनी का 'निशाना', चेन्नई की 7 विकेट से जीत, रैना ने रचा इतिहास

Updated: 24 March 2019 00:20 IST

IPL 2019: इंडियन प्रीमियर लीग का उदघाटक मुकाबला दिग्गज चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super kings) और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (Royal Challengers Banglore) के बीच एकतरफा साबित हुआ. टूर्नामेंट के पहले मैच के लिहाज से पिच बिल्कुल भी आदर्श नहीं रही. दर्शकों को झमाझम शॉटों का मजा नहीं मिला, लेकिन चेन्नई ने जीत के साथ अपना अभियान शुरू कर दिया

Live IPL Score, Chennai Super Kings vs Royal Challengers Banglore
Ipl 2019: हरभजन ने अपना अनुभव दिखाया और वह मैन ऑफ द मैच चुने गए

चेन्नई:

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल)-12 में शुक्रवार के इकलौते मैच में चेन्नई सुपर किंग्स ने बहुत ही आसान जीत दर्ज करते हुए अपने अभियान का आगाज किया. थोड़ा मुश्किल पिच पर मिले 71 रन के बहुत आसान टारगेट को चेन्नई ने सिर्फ 17.4 ओवरों में तीन विकेट खोकर हासिल कर लिया. अंबाती रायडू ने 28 रन बनाए, तो केदार जाधव 13 और रवींद्र जडेजा 6 रन बनाकर नाबाद रहे. चहल, मोहम्मद सिराज और मोईन अली के हिस्से में एक-एकविकेट आया. शुरुआती सेशन में चेन्नई से पहले बैटिंग का न्योता पाकर रॉयल चैलेंजर्स की पारी सिर्फ 17.1 ओवरों में 70 रन पर ही सिमट गई थी.

SCOREBOARD 

वास्तव में बेंगलोर के बुरे हाल के दो बड़े कारण रहे. मैच में टॉस बहुत ही बड़ा फैक्टर साबित हुआ, जो चेन्नई के पक्ष में गया. धोनी पहले से ही पिच को एकदम सटीक ढंग से पढ़कर तीन स्पिनरों के साथ पूरी तैयारी के साथ मैदान पर उतरे थे. इलेवन में तीन स्पिनर चुनना यह बताने के लिए काफी था कि माही ने पिच के हिसाब से बॉलिंग अटैक चुना. इसके बाद अहमियत टॉस की भी थी. और जब यह उनके पक्ष में गया, तो इसने सोने पर सुहागा का काम किया. जब उन्होंने गेंदबाजी चुनी, तो स्पिनरों ने उनके फैसले को पूरी तरह सही साबित करते हुए दस में से आठ विकेट चटकाते हुए पहले सेशन में ही चेन्नई की जीत का आधार तैयार कर दिया.

वक्त गुजरने के साथ पिच धीमी होती गई और मुश्किल हो चली पिच पर बेंगलोर के लिए बैटिंग करना जी का जंजाल बन गया. बहरहाल, सुरेश रैना ने बड़ा इतिहास रचा. सुरेश रैना ने अपनी 19 रन की छोटी पारी में आईपीएल में पांच हजार रन पूरे किए. सुरेश रैना यह कारनामा करने वाले वाले आईपीएल इतिहास के पहले बल्लेबाज बन गए. वहीं, हरभजन सिंह को मैन ऑफ द मैच चुना गया.

पहला पावर प्ले (शुरुआती 6 ओवर): (30 गज के घेरे के बाहर सिर्फ 2 फील्डर)

1. खाता भी नहीं खोल सके वॉटसन

चिदंबरम स्टेडियम की पिच ने पहले ही सेशन में साबित कर दिया था कि यहां पावर की बात करना बेमानी है. और 71 रन के टारगेट को देखते हुए बेवजह की पावर दिखाने की जरूरत भी नहीं थी. लेकिन आक्रामक बल्लेबाज बाज कहां आते हैं. स्वभाव से मजबूर शेन वॉटसन ने तीसरे ही ओवर में युजवेंद्र चहल को लपटने की कोशिश की, तो जनाब डंडी खा गए. इसी के साथ चेन्नई की शुरुआत भी बिगड़ गई. वॉटसन खाता भी नहीं खोल सके. इंग्लिश ऑफी मोईन अली ने रायडू और रैना के धैर्य की बखूबी टेस्ट लिया. कुल मिलाकर पावर-प्ले के शुरुआती 6 ओवरों में चेन्नई के बल्लेबाज बेंगलोर से भी धीमे रहे. और इस दौरान चेन्नई का स्कोर 1 विकेट पर सिर्फ 16 रन ही रहा. 

2.  बैकफुट पर आए चेन्नई के दिग्गज

वॉटसन सस्ते में आउट हुए, तो चेन्नई के बल्लेबाजों को अच्छी तरह समझ में आ गया कि इस पिच पर दादागीरी नहीं चलेगी. और पिच से तालमेल बैठाने के अलावा कोई विकल्प नहीं है. हालांकि, दूसरे ही ओवर में नवदीप सैनी को छक्का जड़कर रायडू ने तेवर जरूर दिखाए थे, लेकिन वॉटसन का  विकेट गिरने से उन्हेंने डिफेंसिव रुख अपनाना ही बेहतर समझा. 

विकेट पतन: 8-1 (वॉटसन, 2.1), 40-2 (रैना, 9.2), 59-3 (रायडू, 14.2)

इससे पहले क्रिकेटप्रेमियों को एक अलग ही क्रिकेट देखने को मिली. चेन्नई से पहले बैटिंग का न्योता पाने के बाद पहले बैटिंग करते हुए विराट कोहली की रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर की टीम कोटे के बीस ओवर भी नहीं खेल सकी और सिर्फ 70 रन पर ही ढेर हो गई. बेंगलोर के लिए हालात कितने खराब रहे, यह इससे समझा जा सकता है कि पारी की शुरुआत करने वाले पार्थिव पटेल आखिरी बल्लेबाज के रूप में आउट हुए और सबसे ज्यादा 29 रन बनाए. पार्थिव को छोड़कर कोई भी दूसरा बल्लेबाज दहाई का भी आंकड़ा तक नहीं छू सका. चेन्नई के लिए लिए हरभजन सिंह और इमरान ताहिर ने तीन-तीन विकेट चटकाए, जबकि रवींद्र जडेजा ने दो और ड्वेन ब्रावो ने एक विकेट लिया. 

दूसरा पावर प्ले (30 गज के घेरे के बाहर अधिकतम 5 फील्डर): स्पिनरों का टूटा कहर

न ही बेंगलोर के बल्लेबाजों की पावर-प्ले में ही चली. और न ही इसके बाद. पिच में धीमापन बढ़ता गया, तो चेन्नई के स्पिनरों का दबदबा भी बढ़ता गया. हालात ऐसे रहे कि एबी डिविलियर्स जैसा बल्लेबाज बेबस बनकर रह गया! यह दिग्गज बल्लेबाज पवेलियन लौटा, तो मैच का मिजाज ही बदल गया. धोनी ने फील्डिंग ऐसी लगा दी मानो टेस्ट मैच चल रहा हो. बल्लेबाज आयाराम-गया राम बन कर रह गए. बेंगलोर की पारी सिमटने से पहले तक नियमित अंतराल पर बेंगलोर के बल्लेबाज पवेलियन लौटते रहे. नतीजा यह रहा कि कोटे के पूरे 20 ओवर भी बेंगलोर नहीं खेल सका. और उसकी पूरी पारी 17.1 ओवरों में सिर्फ 70 रन  पर सिमट गई. सबसे ज्यादा 29 रन दसवें बल्लेबाज के रूप में आउट होने वाले सलामी बल्लेबाज पार्थिव पटेल ने बनाए. 

पहला पावर प्ले (शुरुआती 6 ओवर): (30 गज के घेरे के बाहर सिर्फ 2 फील्डर): भज्जी पर भारी विराट!

1. नहीं चली विराट पावर !
बेंगलोर के कप्तान विराट कोहली नए सेशन के पहले मैच में नए रूप में उतरे. ओपनर के रूप में, लेकिन ओपनर कम और नंबर तीन बल्लेबाज ही ज्यादा दिखाई पड़े. युवा सीमर दीपक चाहर ने स्विंग और लंबाई से बल्ले को बांधे रखा. और जब चौथा ओवर लेकर हरभजन आए, तो कोहली अनुभवी सरदार के जाल में फंस गए. छोटी गेंद पर पुल करने की कोशिश, लेकिन गेंद सीधी डीप-मिडविकेट पर खड़े जडेजा के हाथ में. बतौर कप्तान अध्याय कोहली का अध्याय समाप्त! सिर्फ सात रन ही बना सके कोहली. 

2.  धीमी पिच..और भज्जी की बल्ले-बल्ले !

किसी भी टीम को नहीं मालूम था कि गेंद टप्पा खान के बाद इतना धीमा आएगी. ओवर गुजरे, तो यह धीमापन और बढ़ गया, लेकिन यह बेंगलोर के बल्लेबाजों के लिए मुसीबत बन गया. यही वजह रही कि छक्का जड़कर शुरुआत करने वाले मोईन अली छठे ओवर में भज्जी के धीमीपन से गज्जा खा गए. और दूसरा विकेट चटकाकर हरभजन ने अपने अनुभव का जलवा बिखरेना शुरू कर दिया. बेंगलोर का शुरुआती 6 ओवर में रन बटोरने के इरादे पूरी तरह पस्त. पावर-प्ले में 2 विकेट पर बन सके सिर्फ 33 रन. पिच को देखते हुए रन ठीक-ठाक थे, लेकिन गिरे दो विकेटों ने बेंगलोर के तोते उड़ा दिए!

विकेट पतन: 16-1 (विराट, 3.3), 28-2 (मोईन अली, 5.2), 38-3 (एबी डि विलियर्स, 7.2), 39-4 (हेटमायर, 8.00), 45-5 (शिवम, 9.2), 50-6 (ग्रैंडहोम, 10.3), 53-7 (नवदीप, 11.1), 59-8 (चहल, 13.4), 70-9 (उमेश, 16.5), 701- (पार्थिव, 17.1)

इससे पहले चेन्नई ने अपनी टीम में तीन विदेशी खिलाड़ी शेन वॉटसन, ड्वेन ब्रावो और इमरान ताहिर को जगह दी, तो बेंगलोर ने विदेशी खिलाड़ियों के रूप में शिमरोन हेटमायर, एबी डि विलियर्स, मोईन अली और कोलिन डि ग्रैंडहोम को इलेवन में जगह दी है.विंडीज के लिए खेलने वाले डेटमायर का यह पहला आईपीएल मुकाबला रहा, लेकिन उनका आगाज यादगार नहीं रहा और वह खाता तक नहीं खोल सके. दोनों टीमें इस प्रकार रहीं:

चेन्नई सुपर किंग्स: महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान), अंबाती रायडू, शेन वॉटसन, सुरेश रैना, केदार जाधव,रवींद्र जडेजा, ड्वेन ब्रावो, दीपक चाहर, शार्दुल ठाकुर, हरभजन सिंह और इमरान ताहिर

रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर: विराट कोहली (कप्तान), पार्थिव पटेल, मोईन अली, एबीडि विलियर्स, शिमरोन हेटमायर, शिवम दुबे, कोलि डि ग्रैंडहोम, उमेश यादव, युजवेंद्र चहल, मोहम्मद सिराज और नवदीप सैनी

VIDEO: वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ मैच पर अपनी राय देते रविशंकर प्रसाद

Comments
संबंधित खबरें
CSK vs SRH: शेन वॉटसन के तूफान के आगे सनराइजर्स तहस-नहस, 6 विकेट से जीते चेन्‍नई के
CSK vs SRH: शेन वॉटसन के तूफान के आगे सनराइजर्स तहस-नहस, 6 विकेट से जीते चेन्‍नई के 'किंग्‍स'
RR vs DC: जब फील्डिंग के दौरान चकमा खा गए स्‍टुअर्ट बिन्‍नी और बेन स्‍टोक्‍स, हर कोई हंस पड़ा, VIDEO
RR vs DC: जब फील्डिंग के दौरान चकमा खा गए स्‍टुअर्ट बिन्‍नी और बेन स्‍टोक्‍स, हर कोई हंस पड़ा, VIDEO
RR vs DC: धमाकेदार पारी खेलने वाले ऋषभ पंत को सौरव गांगुली ने गोद में उठाया, किया यह ट्वीट..
RR vs DC: धमाकेदार पारी खेलने वाले ऋषभ पंत को सौरव गांगुली ने गोद में उठाया, किया यह ट्वीट..
RR vs DC: राजस्‍थान रॉयल्‍स के खिलाफ दिल्‍ली कैपिटल्‍स को जीत दिलाने के बाद यह बोले ऋषभ पंत...
RR vs DC: राजस्‍थान रॉयल्‍स के खिलाफ दिल्‍ली कैपिटल्‍स को जीत दिलाने के बाद यह बोले ऋषभ पंत...
RR vs DC: ऋषभ पंत की तूफानी पारी के आगे अजिंक्‍य रहाणे का शतक बेकार, दिल्‍ली 6 विकेट से जीता
RR vs DC: ऋषभ पंत की तूफानी पारी के आगे अजिंक्‍य रहाणे का शतक बेकार, दिल्‍ली 6 विकेट से जीता
Advertisement