ग्‍लेन मैक्‍ग्रा बोले, ईशांत शर्मा का मुख्‍य बॉलर की जगह कामगार के रूप में हुआ उपयोग..

Updated: 07 August 2018 13:07 IST

ईशांत ने इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में अच्छा प्रदर्शन किया. पहले टेस्‍ट की दूसरी पारी में उन्‍होंने पांच विकेट लिए. उनकी गेंदबाजी की बदौलत ही टीम इंडिया, इंग्‍लैंड टीम को दूसरी पारी में 180 रन पर समेटने में सफल रही थी. मैक्‍ग्रा को खुशी है कि इस तेज गेंदबाज ने धीरे-धीरे परिस्थितियों से सामंजस्य बिठा लिया है.

Ishant Sharma needs to figure out his role in the team: Glenn McGrath
ईशांत शर्मा ने इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्‍ट की दूसरी पारी में पांच विकेट लिए (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज तेज गेंदबाज ग्लेन मैक्‍ग्रा को लगाता है कि टीम इंडिया के तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा को भारतीय टीम में अपनी भूमिका को पहचानने की जरूरत है. उनका मानना है कि मुख्य गेंदबाज के बजाय वह कामगार की भूमिका अधिक निभाते हैं. मैक्‍ग्रा ने ईशांत को सलाह देते हुए कहा है कि टीम इंडिया के इस तेज गेंदबाज को नियमित तौर पर सीम के सहारे गेंद को पिच कराना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘आपको सीम के सहारे गेंद को पिच कराना होगा और पिच से मिलने वाले थोड़े मूवमेंट से मदद मिलेगी.

जब अपने लंबे बालों के कारण स्‍कूल में मुसीबत में फंसे थे ईशांत शर्मा

गौरतलब है कि ईशांत ने इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में अच्छा प्रदर्शन किया. पहले टेस्‍ट की दूसरी पारी में उन्‍होंने पांच विकेट लिए. उनकी गेंदबाजी की बदौलत ही टीम इंडिया, इंग्‍लैंड टीम को दूसरी पारी में 180 रन पर समेटने में सफल रही थी. ईशांत ने मैच में सात विकेट लिए थे. मैक्‍ग्रा को खुशी है कि इस तेज गेंदबाज ने धीरे-धीरे परिस्थितियों से सामंजस्य बिठा लिया है. मैक्‍ग्रा ने कहा, ‘जब ईशांत ने शुरुआत की थी तो अपनी तेजी से क्रिकेट जगत का ध्यान अपनी तरफ खींचा था. वह अब शायद उसी तेजी से गेंदबाजी नहीं कर रहा है लेकिन अब वह अधिक अनुभवी गेंदबाज है जिसका अपनी गेंदों पर अच्छा नियंत्रण है. एजबेस्टन टेस्ट में दिखा कि ईशांत ने परिस्थितियों से बेहतर सामंजस्य बिठाना शुरू कर दिया है.’

ईशांत पर गौतम गंभीर की टिप्‍पणी का सहवाग ने यूं दिया करारा जवाब...

हालांकि मैक्‍ग्रा का मानना है कि उप महाद्वीप के विकेटों पर खेलने के कारण संभवत: ईशांत शर्मा का रिकॉर्ड प्रभावशाली नहीं है. उन्होंने 83 टेस्ट मैचों में केवल 244 विकेट लिए हैं. ऑस्ट्रेलिया की तरफ से 124 टेस्ट मैचों में 563 विकेट लेने वाले मैक्‍ग्रा ने कहा, ‘मुझे लगता है कि भारत में अधिकतर पिचों पर खेलना आसान नहीं है. संभवत: उन्हें (ईशांत को) अधिक स्पेल करने का मौका नहीं मिला. उन्हें एक अग्रणी गेंदबाज के बजाय कामगार की तरह अधिक उपयोग किया गया. ऑस्‍ट्रेलिया के इस पूर्व गेंदबाज ने कहा, 'मुझे लगता है कि उन्हें यह समझने की जरूरत है कि वह किस भूमिका में फिट बैठते हैं.’ मैक्‍ग्रा का मानना है कि ईशांत को नियमित तौर पर सीम के सहारे गेंद को पिच कराना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘आपको सीम के सहारे गेंद को पिच कराना होगा और पिच से मिलने वाले थोड़े मूवमेंट से मदद मिलेगी. मेरा मुख्य हथियार उछाल और थोड़ा सीम मूवमेंट थे. मेरे मामले में वार्न, ली और गिलेस्पी दूसरे छोर से गेंदबाजी करके दबाव बनाते थे.’

वीडियो: पुजारा बोले, धोनी और विराट में यह बात है कॉमन

मैक्‍ग्रा ने कहा, ‘मुझे लंबे स्पैल करना पसंद था और इससे मदद मिलती थी. अगर आप हमेशा शॉर्ट ऑफ लेंथ गेंदबाजी करते हो तो आप रनों पर अंकुश लगाने की कोशिश कर रहे हों जबकि आपको विकेट लेने की जरूरत होती है.’उनका मानना है कि ससेक्स की तरफ से ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज जेसन गिलेस्पी की देखरेख में डेढ़ महीने खेलने का ईशांत को फायदा मिला. मैक्‍ग्रा ने कहा, ‘अगर आप भारत, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड में एक ही लेंथ से गेंदबाजी करते हो तो आप सफल नहीं हो सकते. इंग्लैंड में गेंद स्विंग लेती है और आपको उसे थोड़ा आगे पिच कराना होगा. ऐसे में ससेक्स के लिये खेलने से उसे फायदा मिला.’उन्होंने कहा, ‘मेरे दोस्त जैसन गिलेस्पी ने कोच के रूप में बहुत अच्छा काम किया है. मैं 2000 और 2004 में काउंटी में खेला था और इंग्लैंड की परिस्थितियों में गेंदबाजी करने के बारे में तब मैंने काफी कुछ सीखा था.’(इनपुट: भाषा)

Comments
हाईलाइट्स
  • कहा, टीम में अपना रोल पहचानना होगा ईशांत को
  • उन्‍हें सीम के सहारे गेंद को पिच कराना चाहिए
  • पहले टेस्‍ट की दूसरी पारी में ईशांत ने लिए थे 5 विकेट
संबंधित खबरें
WI vs IND: किंगस्टन टेस्ट को ईशांत शर्मा ने बनाया अपने लिए यादगार, कपिल देव को पीछे छोड़ा..
WI vs IND: किंगस्टन टेस्ट को ईशांत शर्मा ने बनाया अपने लिए यादगार, कपिल देव को पीछे छोड़ा..
IND v WI 2nd Test: दूसरे टेस्ट में इशांत शर्मा तोड़ सकते हैं कपिल देव का यह रिकॉर्ड
IND v WI 2nd Test: दूसरे टेस्ट में इशांत शर्मा तोड़ सकते हैं कपिल देव का यह रिकॉर्ड
WI vs IND: अब आउट स्विंग की गेंदबाजी को लेकर बढ़ा जसप्रीत बुमराह का आत्मविश्वास
WI vs IND: अब आउट स्विंग की गेंदबाजी को लेकर बढ़ा जसप्रीत बुमराह का आत्मविश्वास
जसप्रीत बुमराह ने रचा इतिहास, टेस्ट क्रिकेट में ऐसा करने वाले बने पहले भारतीय गेंदबाज
जसप्रीत बुमराह ने रचा इतिहास, टेस्ट क्रिकेट में ऐसा करने वाले बने पहले भारतीय गेंदबाज
पहले टेस्ट के दूसरे दिन ईशांत शर्मा ने चटकाए पांच विकेट, इस रिकॉर्ड से एक कदम दूर
पहले टेस्ट के दूसरे दिन ईशांत शर्मा ने चटकाए पांच विकेट, इस रिकॉर्ड से एक कदम दूर
Advertisement