अब भारतीय क्रिकेटरों को भी नाडा डोप टेस्ट से गुजरना होगा, इस वजह से बीसीसीआई ने डाले सरकार के आगे हथियार

Updated: 09 August 2019 15:54 IST

इससे पहले वर्ल्ड एंटी डोपिंग एजेंसी (वाडा ने) आईसीसी से साफ तौर पर यह सूचित कर दिया था कि बीसीसीआई को नाडा के तहत आना ही होगा. बहरहाल, बीसीसीआई सीईओ राहुल जोहरी से शुक्रवार को मुलाकात के बाद खेल सचिव राधेश्याम जुलानिया ने कहा कि बोर्ड ने लिखित में दिया है कि वह नाडा की डोपिंग निरोधक नीति का पालन करेगा और...

from now Indian cricket too will have to go through Nada Dope test, That
भारतीय टीम का फाइल फोटो

नई दिल्ली:

अब से भारतीय क्रिकेटरों को भी राष्ट्रीय डोपिंग एजेंसी (नाडा) की टेस्ट प्रक्रिया से गुजरना होगा. खेल मंत्रालय ने बीसीसीआई को साफ तौर पर बता दिया है कि आचार संहिता के हिसाब से बोर्ड के पास उसके निर्देश मानने के अलावा कोई विकल्प नहीं है. इसके बाद बीसीसीआई (BCCI)ने पिछले कई सालों से चले आ रहे टकराव के आगे हथियार डालते हुए इस पर अपनी सहमति दे दी है. इससे पहले तक बीसीसीआई (BCCI) हमेशा से ही नाडा के तहत आने का विरोध करता रहा था. बोर्ड का तर्क था कि नाडा को भारतीय क्रिकेटरों का डोप टेस्ट करने का कोई अधिकार नहीं है. 

यह भी पढ़ें: जो कारनामा शुबमन गिल ने कर डाला, वह सचिन तेंदुलकर भी कभी नहीं कर सके

अब तक बीसीसीआई नाडा के दायरे में आने से इनकार करता आया था और यह सिलसिला कई सालों से चला रहा रा था. बोर्ड का कहना था कि वह स्वायत्त संस्था है और कोई राष्ट्रीय खेल महासंघ नहीं है. साथ ही, वह सरकार से फंडिंग भी नहीं लेता. हाल ही में  खेल मंत्रालया ने दक्षिण अफ्रीका ए और महिला टीमों के दौरों को मंजूरी रोक दी थी. वहीं, सूत्रों की मानें तो खेल मंत्रालय ने यह भी कह दिया था कि अगर बोर्ड राजी नहीं होता है, तो सितंबर में भारत आने वाली दक्षिण अफ्रीकी टीम को वीसा नहीं दिया जाएगा. और खेल मंत्रालय के इसी फैसले के बाद बीसीसीआई ने एक तरह से हथियार डाल दिए. 

यह भी पढ़ें: एमएस धोनी 15 अगस्त को लेह में फहरा सकते हैं तिरंगा, लेकिन...

इससे पहले वर्ल्ड एंटी डोपिंग एजेंसी (वाडा ने) आईसीसी से साफ तौर पर यह सूचित कर दिया था कि बीसीसीआई को नाडा के तहत आना ही होगा. बहरहाल, बीसीसीआई सीईओ राहुल जोहरी से शुक्रवार को मुलाकात के बाद खेल सचिव राधेश्याम जुलानिया ने कहा कि बोर्ड ने लिखित में दिया है कि वह नाडा की डोपिंग निरोधक नीति का पालन करेगा और अब सभी क्रिकेटरों का टेस्ट नाडा करेगी. उन्होंने कहा कि बीसीसीआई ने हमारे सामने तीन मसले रखे जिसमें डोप टेस्ट किट्स की गुणवत्ता, पैथालाजिस्ट की काबिलियत और नमूने इकट्ठे करने की प्रक्रिया शामिल थी., 

VIDEO:  धोनी के संन्यास पर युवा क्रिकेटरों की राय सुन लीजिए. 

उन्होंने कहा कि हमने उन्हें आश्वस्त किया कि उन्हें उनकी जरूरत के मुताबिक सुविधाएं दी जाएंगी, लेकिन उसका कुछ शुल्क लगेगा. बीसीसीआई दूसरों से अलग नहीं है. 

Comments
हाईलाइट्स
  • सालों से चल रहा था बोर्ड का सरकार से टकराव
  • ऐसे सरकार ने अपनाया सख्त रवैया
  • खुद की स्वायत्त संस्था की दलील देता था बीसीसीआई
संबंधित खबरें
शोएब अख्तर बोले,
शोएब अख्तर बोले, '1997-98 के पहले नहीं लगा था भारत कभी पाकिस्तान को हरा पाएगा लेकिन सौरव गांगुली के..'
सौरव गांगुली बोले, ICC के बड़े टूर्नामेंट जीतने पर ध्यान केंद्रित करें विराट कोहली
सौरव गांगुली बोले, ICC के बड़े टूर्नामेंट जीतने पर ध्यान केंद्रित करें विराट कोहली
Sourav Ganguly ने शेयर की BCCI की
Sourav Ganguly ने शेयर की BCCI की 'नई टीम' के साथ यह फोटो...
बृजेश पटेल थे प्रबल दावेदार लेकिन नाटकीय घटनाक्रम के बाद यूं बनी सौरव गांगुली के नाम पर सहमति..
बृजेश पटेल थे प्रबल दावेदार लेकिन नाटकीय घटनाक्रम के बाद यूं बनी सौरव गांगुली के नाम पर सहमति..
Sourav Ganguly ने BCCI अध्यक्ष पद के लिए नामांकन दाखिल किया, निर्विरोध चुना जाना तय
Sourav Ganguly ने BCCI अध्यक्ष पद के लिए नामांकन दाखिल किया, निर्विरोध चुना जाना तय
Advertisement