हितों का टकराव मामले में BCCI के आचरण अधिकारी के समक्ष पेश हुए Rahul Dravid

Updated: 27 September 2019 11:10 IST

हितों का टकराव मामले में प्रशासकों की समिति (CoA) द्रविड़ के पक्ष में नजर आई और उसने भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन का उदाहरण देकर द्रविड़ का बचाव करने की कोशिश की. इस मामले में मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ के आजीवन सदस्य संजीव गुप्ता ने शिकायत दर्ज कराई है.

Conflict Of Interest: Rahul Dravid’s deposes before BCCI
Rahul Dravid को एनसीए का हेड ऑफ क्रिकेट नियुक्‍त किया गया है

नई दिल्ली/मुंबई:

Rahul Dravid:टीम इंडिया के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) अपने खिलाफ हितों के टकराव (Conflict Of Interest)मामले में गुरुवार को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI)के आचरण अधिकारी (Ethics Officer) डीके जैन के समक्ष पेश हुए. मामले में प्रशासकों की समिति (CoA) द्रविड़ के पक्ष में नजर आई और उसने भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ( Former RBI Governor Raghuram Rajan) का उदाहरण देकर द्रविड़ का बचाव करने की कोशिश की. इस मामले में मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ के आजीवन सदस्य संजीव गुप्ता ने शिकायत दर्ज कराई है.

पत्रकार के सवाल पर Misbah-ul-Haq ने दिया मजेदार जवाब, देखें VIDEO

संजीव गुप्ता ने अपनी शिकायत में कहा है  कि द्रविड़ ने राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (NCA) का क्रिकेट निदेशक पद संभालने से पहले इंडिया सीमेंट्स (आईपीएल फ्रेंचाइजी चेन्नई सुपरकिंग्स के मालिक) से ‘अवकाश' लिया है और अपने पद से इस्तीफा नहीं दिया. पता चला है कि CoA ने द्रविड़ (Rahul Dravid) का समर्थन किया है और इसके प्रमुख पूर्व नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक विनोद राय (Vinod Rai)ने आचरण अधिकारी को पत्र लिखकर दो उदाहरण दिए है जब किसी व्यक्ति के किसी संस्था से अवकाश को उनके मौजूदा पद के साथ हितों के टकराव के रूप में नहीं देखा गया. बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर बताया, ‘सीओए प्रमुख ने सुनवाई से पहले एक नोट लिखा है कि उन्हें लगता है कि अगर द्रविड़ ने अवकाश लिया है तो उनका हितों का टकराव नहीं है. उन्होंने आरबीआई के पूर्व गवर्नर राजन का उदाहरण दिया जिन्होंने शिकागो विश्वविद्यालय में अपनी शिक्षक की भूमिका से अवकाश लिया था.'

उन्होंने कहा, ‘इसके अलावा अरविंद पनगढ़िया का भी उदाहरण दिया गया. नीति आयोग के पूर्व उपाध्यक्ष भी कोलंबिया विश्वविद्यालय से अवकाश लेकर आए थे. इन दोनों ही मामलों में उक्त व्यक्ति बेहद संवेदनशील सरकारी पदों पर थे और अपने पिछले नियोक्ता से कोई वेतन नहीं ले रहे थे.' अधिकारी ने कहा, ‘सीओए का मानना है कि अगर द्रविड़ ने घोषित किया है और इंडिया सीमेंट्स से कोई वेतन नहीं ले रहा तो उनका हितों का टकराव नहीं है.' हालांकि सीओए के पत्र के बावजूद द्रविड़ (Rahul Dravid) को सुनवाई के लिए बुलाना जैन का विशेषाधिकार है. उम्मीद की जा रही है कि इस मामले में पाक साफ होने के लिए द्रविड़ को अपने पद से इस्तीफा देने को कहा जा सकता है. नए नियमों के अनुसार बीसीसीआई आचरण अधिकारी के निर्देशों को औपचारिक तौर पर सार्वजनिक नहीं करेगा. सिर्फ लोकपाल के फैसले को सार्वजनिक किया जाएगा.

वीडियो: विराट कोहली ने रोहित शर्मा के साथ मतभेद से किया इनकार



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
Comments
हाईलाइट्स
  • द्रविड को NCA में क्रिकेट निदेशक बनाया गया है
  • MPCA के संजीव गुप्ता ने की है मामले में शिकायत
  • कहा-द्रविड़ ने इंडिया सीमेंट्स से छुट्टी ली, इस्तीफा नहीं दिया
संबंधित खबरें
हितों का टकराव मामले में BCCI के आचरण अधिकारी के समक्ष पेश हुए  Rahul Dravid
हितों का टकराव मामले में BCCI के आचरण अधिकारी के समक्ष पेश हुए Rahul Dravid
कहीं Vinod Rai का बयान Rahul Dravid को मुसीबत में तो नहीं डाल देगा
कहीं Vinod Rai का बयान Rahul Dravid को मुसीबत में तो नहीं डाल देगा
राहुल द्रविड़ और रवि शास्त्री की मुलाकात पर BCCI ने किया
राहुल द्रविड़ और रवि शास्त्री की मुलाकात पर BCCI ने किया 'Two Greats' का ट्वीट,लोगों ने यूं ली चुटकी..
IND vs SA: तीसरे टी-20 मैच से पहले राहुल द्रविड़ ने टीम इंडिया के साथ बिताया समय
IND vs SA: तीसरे टी-20 मैच से पहले राहुल द्रविड़ ने टीम इंडिया के साथ बिताया समय
राहुल द्रविड़ अब  इंडिया
राहुल द्रविड़ अब इंडिया 'ए' और U19 टीम को नहीं देंगे कोचिंग, इन पूर्व क्रिकेटरों को मिली जिम्मेदारी..
Advertisement