ICC में बने रहने के लिए शशांक मनोहर ने चला यह दांव!

Updated: 22 October 2019 16:22 IST

ICC की हालिया बैठक में जिम्बाब्वे को दोबारा अंतर्राष्ट्रीय टीम का दर्जा देने के लिए चर्चा में रही थीं लेकिन इस बैठक में एक बड़ी बात जो रही वो ऑस्ट्रेलिया के इर्ल एडिंग्स के नेतृत्व में वर्किंग ग्रुप का निर्माण, जिसने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के नए अधिकारियों को सकते में डाल दिया है.

BCCI sees working group formation as Manohar
Shashank Manohar का ICC चेयरमैन के रूप में कार्यकाल अगले वर्ष खत्म होने जा रहा है

नई दिल्ली:

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) की हालिया बैठक में जिम्बाब्वे को दोबारा अंतर्राष्ट्रीय टीम का दर्जा देने के लिए चर्चा में रही थीं लेकिन इस बैठक में एक बड़ी बात जो रही वो ऑस्ट्रेलिया के इर्ल एडिंग्स के नेतृत्व में वर्किंग ग्रुप (working group)का निर्माण, जिसने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के नए अधिकारियों को सकते में डाल दिया है. बोर्ड के भावी अधिकारियों में से एक ने कहा कि इस तरह की चीजों पर ध्यान दिया जाना जरूरी है और ICC द्वारा BCCI के कोने में पटकने की नीति का तुरंत जवाब दिया जाना चाहिए. इस अधिकारी ने कहा, "बीते कुछ वर्षो में जो हुआ वो अब अतीत की बात हो गई है. अगले दो दिनों में हम कई बैठक करेंगे और इसमें एक मुख्य बिंदु यह रहेगा कि आईसीसी में भारत का क्या रुख रहेगा. कुछ तरह के कदम उठाने के लिए हमें अलग सोच के साथ जाना होगा. नए वर्किंग ग्रुप का निर्माण का मतलब है कि ICC चेयरमैन शशांक मनोहर (Shashank Manohar) हो सकता है कि 2020 से 2022 तक के अगले कार्यकाल पर नजरें गड़ाएं हों."

वर्ल्डकप फाइनल में हुए विवाद के बाद ICC ने बाउंड्री काउंट नियम को बदला..

अधिकारी ने कहा, "पहली बात तो यह है कि वर्किं ग ग्रुप आगे क्या काम करेगा इसके लिए कोई खाका पेश नहीं किया गया है और अगर मनोहर पद पर बने रहना चाहते हैं तो, ग्राउंडवर्क फरवरी-2020 से चालू हो जाना चाहिए. आप ऐसी उम्मीद नहीं कर सकते कि एडिंग्स के नेतृत्व वाली टीम मनोहर के मई-2020 में खत्म होने वाले कार्यकाल से पहले कोई बड़ी बातें सामने रखे." उन्होंने साथ ही कहा कि बीसीसीआई की नई टीम युवा है इसलिए वो आईसीसी की कार्यशैली को समझने के लिए एक सलाहकार रख सकते हैं जो नए अधिकारियों को मार्गदर्शन दे. उन्होंने कहा, "यह टीम युवा है और इनके पास न सिर्फ छाप छोड़ने का मौका है बल्कि अपनी विरासत को भी छोड़ने का मौका है. लेकिन जब आईसीसी की कार्यशैली की बात आती है तो हमें ऐसा कोई साथी चाहिए होगा जो हमें मामलों को लेकर सलाह दे सके. वो शख्स वो भी हो सकता है तो आईसीसी में रह चुका हो, लेकिन मौजूदा समय में बीसीसीआई से जुड़ा न हो."

भारत के राजस्‍व में कटौती की तैयारी में ICC,ब्रिटिश लॉ फर्म की सेवाएं लेगा BCCI

उन्होंने कहा, "धीरे-धीरे भारतीय प्रतिनिधित्व को कम करना इस खेल के लिए सही नहीं होगा और इसे समझना चाहिए. आखिकार, हम जानते हैं कि पैसा कहां से आता है. अगर हम आगे नहीं बढ़ेंगे और बीसीसीआई की साख तो दोबारा स्थापित करने की कोशिश नहीं करेंगे तो, कौन करेगा?" वर्किंग ग्रुप में एडिंग्स के अलावा न्यूजीलैंड के ग्रे बार्कले, क्रिकेट स्कॉटलैंड के टोनी ब्रायन, पाकिस्तान के एहसान मनी, दक्षिण अफ्रीका के क्रिस नेनजानी और वेस्टइंडीज के रिकी स्केरिट हैं. बीसीसीआई के नए कार्यकारी ने साथ ही कहा कि सिंगापुर के इमरान ख्वाजा का आईसीसी की कई समितियों में होने का क्या औचित्य है. ख्वाजा आईसीसी की वित्तीय समिति, नोमिनेशन समिति, डेवलपमेंट समिति के अध्यक्ष हैं. कार्यकारी ने कहा, "इसलिए हम कह रहे हैं कि बीसीसीआई और ईसीबी को ख्वाजा की जरूत है? यह समझना बेहद मुश्किल है कि क्यों सिर्फ बिग थ्री मॉडल को देखा जाता और बाकी सब को नजरअंदाज किया जाता है. सवाल पूछने की जरूरत है और नए अधिकारी वो करेंगे." उन्होंने कहा, "जिम्बाब्वे को दोबारा दर्जा दे दिया गया क्योंकि वो आईसीसी बोर्ड की शर्तो को मानने को तैयार हो गया, क्या हम कह रहे हैं कि भविष्य में देश में कोई भी सरकार दखलअंदाजी नहीं होगी."

वीडियो: सौरव गांगुली ने BCCI अध्यक्ष पद पद के नामांकन दाखिल किया



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
Comments
हाईलाइट्स
  • आईसीसी की बैठक में हुआ है वर्किंग ग्रुप का गठन
  • फैसले से सकते में हैं बीसीसीआई के नए पदाधिकारी
  • कहा, हो सकता है अगले कार्यकाल पर नजर गड़ाए हों मनोहर
संबंधित खबरें
NZ vs ENG 1st Test: Ben Stokes फिर साबित हो रहे न्यूजीलैंड टीम के लिए मुसीबत..
NZ vs ENG 1st Test: Ben Stokes फिर साबित हो रहे न्यूजीलैंड टीम के लिए मुसीबत..
WIW vs INDW, 5TH T20: भारतीय महिला टीम का कमाल, आखिरी मैच 61 रन से जीतकर किया
WIW vs INDW, 5TH T20: भारतीय महिला टीम का कमाल, आखिरी मैच 61 रन से जीतकर किया 'क्लीन स्वीप'
AUS vs PAK 1st Test: ठोस शुरुआत के बावजूद पाकिस्तानी बैटिंग लड़खड़ाई, टीम 240 रन पर ढेर
AUS vs PAK 1st Test: ठोस शुरुआत के बावजूद पाकिस्तानी बैटिंग लड़खड़ाई, टीम 240 रन पर ढेर
IND vs BAN 2nd Test: विराट कोहली ने
IND vs BAN 2nd Test: विराट कोहली ने 'पिंक बॉल' टेस्ट को बताया ऐतिहासिक मौका, टीम के लिए इस लिहाज से माना चुनौती..
Aus vs Pak 1st Test: वकार यूनुस से टेस्ट कैप लेते हुए भावुक हुए 16 वर्षीय फास्ट बॉलर नसीम शाह, निकले आंसू
Aus vs Pak 1st Test: वकार यूनुस से टेस्ट कैप लेते हुए भावुक हुए 16 वर्षीय फास्ट बॉलर नसीम शाह, निकले आंसू
Advertisement