BCCI AGM Update: अब अमित शाह के बेटे जय शाह करेंगे आईसीसी की बैठकों में बीसीसीआई का प्रतिनिधित्व

Updated: 01 December 2019 18:32 IST

BCCI AGM: एक शीर्ष अधिकारी ने बताया, सभी प्रस्तावित संशोधनों को स्वीकृति मिल गई है और अब इन्हें उच्चतम न्यायालय के पास भेजा जाएगा.

BCCI AGM Update: Bcci decides to change in cooling period for administrative people, will sourav Ganguly get advantage

मुंबई:

सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) की अगुवाई वाले बीसीसीआई (BCCI) ने रविवार को उसके पदाधिकारियों के कार्यकाल को सीमित करने वाले उच्चतम न्यायालय द्वारा स्वीकृत प्रशासनिक सुधारों में ढिलाई देने का फैसला किया है. बीसीसीआई (BCCI) ने इस तरह पूर्व भारतीय कप्तान गांगुली के नौ महीने के कार्यकाल को आगे बढ़ाने का रास्ता साफ करने का प्रयास किया. बीसीसीआई की 88वीं वार्षिक आम बैठक में यह फैसला किया गया और इसे लागू करने के लिए उच्चतम न्यायालय की स्वीकृति की जरूरत पड़ेगी.वहीं, एक और बड़े फैसले के तहत अब अमित शाह के बेटे जय शाह (Jai Shah) आईसीसी की मुख्य कार्यकारियों की बैठकों में बीसीसीआई (BCCI) का प्रतिनिधित्व करेंगे. जय शाह बोर्ड प्रतिनिधि के रूप में सीईओ राहुल जौहरी की जगह लेंगे. 

यह भी पढ़ें:  कप्तान जो रूट और रोरी बर्न्स ने शतक जड़ कराई इंग्लैंड की मैच में वापसी

एक शीर्ष अधिकारी ने बताया, सभी प्रस्तावित संशोधनों को स्वीकृति मिल गई है और अब इन्हें उच्चतम न्यायालय के पास भेजा जाएगा.' मौजूदा संविधान के अनुसार अगर किसी पदाधिकारी ने बीसीसीआई या राज्य संघ में मिलाकर तीन साल के दो कार्यकाल पूरे कर लिए हैं जो उसे तीन साल का अनिवार्य ब्रेक लेना होगा. सालाना बैठक में लिए गए अन्य फैसलों के तहत क्रिकेट सलाहकार कमेटी (सीएसी) की नियुक्ति को फिलहाल टाल दिया गया है. सीएसी का गठन अब 3 दिसंबर को सुप्रीम कोर्ट में होने वाली सुनवाई के बाद किया जाएगा. बोर्ड द्वारा लिए गए अन्य फैसलों में कोच रवि शास्त्री के कार्यकाल को बढ़ाने की मंजूरी मिल गई है. 

यह भी पढ़ें:  डेविड वॉर्नर ने रोहित शर्मा को लेकर दिया यह बड़ा बयान

बीसीसीआई के अधिकारी ने कहा, "शाह आईसीसी सीईसी की बैठकों में बीसीसीआई का प्रतिनिधित्व करेंगे जबकि आईसीसी बोर्ड की बैठक में कौन देश का प्रतिनिधित्व करेगा, इस पर बाद में फैसला लिया जाएगा." बीसीसीआई एजीएम बैठक की शुरूआत पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा के दिवंगत नेता अरुण जेटली को श्रद्धांजलि देने के साथ हुई. जेटली का इस साल अगस्त में निधन हो गया था. बीसीसीआई को आगे ले जाने में जेटली का अहम योगदान रहा था. यह बैठक पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली के बीसीसीआई अध्यक्ष बनने के बाद पहली बैठक थी. बैठक के दौरान कुछ सदस्यों ने प्रशासकों की समिति (सीओए) के कार्यकाल के दौरान लिए गए वित्तीय फैसलों पर भी सवाल उठाया.

VIDEO:  पिंक बॉल बनने की पूरी कहानी, स्पेशल रिपोर्ट

गांगुली ने 23 अक्टूबर को बीसीसीआई अध्यक्ष का पद संभाला था और उन्हें अगले साल पद छोड़ना होगा, लेकिन छूट दिए जाने के बाद वह 2024 तक पद पर बने रह सकते हैं. 
 

Comments
Advertisement