Asia Cup 2018: इस वजह से रवींद्र जडेजा करीब डेढ़ साल पहले हुए थे टीम से बाहर

Updated: 04 November 2018 17:14 IST

अब यह तो आप जानते ही हैं कि किन हालात में रवींद्र जडेजा की भारतीय टीम में वापसी हुई. अगर हार्दिक पंड्या पाकिस्तान के खिलाफ चोटिल न हुए होते, तो जडेजा भी टीम में नहीं आ पाते. मतलब यह कि हार्दिक की चोट जडेजा के लिए वरदान बन गई! लेकिन मौका मिलना अलग बात होती है और मौके को भुनाना अलग

Asia Cup 2018: That
Asia Cup 2018: रवींद्र जडेजा ने यादगार प्रदर्शन के साथ करीब 14 महीने बाद टीम में वापसी की.

दुबई:

बांग्लादेश खिलाफ टीम इंडिया की जीत में मैन ऑफ द मैच बने रवींद्र जडेजा हर ओर चर्चा का विषय बने हुए हैं. जडेजा मीडिया से लेकर आम पब्लिक और क्रिकेट विशेज्ञषों से लेकर प्रशंसकों के बीच चर्चा का विषय बने हुए हैं. जडेजा ने भारत की जीत में बांग्लादेश टीम पर ऐसा वार किया कि उसके बल्लेबाज हिलकर रह गए. मतलब यह कि पिछले  साल 6 जुलाई को विंडीज के खिलाफ खेले मुकाबले के करीब 14 महीने बाद भाग्य भरोसे हुई वापसी में जडेजा ने ऐसा प्रदर्शन किया कि मैन ऑफ द मैच ले उड़े. 

अब यह तो आप जानते ही हैं कि किन हालात में रवींद्र जडेजा की भारतीय टीम में वापसी हुई. अगर हार्दिक पंड्या पाकिस्तान के खिलाफ चोटिल न हुए होते, तो जडेजा भी टीम में नहीं आ पाते. मतलब यह कि हार्दिक की चोट जडेजा के लिए वरदान बन गई! लेकिन मौका मिलना अलग बात होती है और मौके को भुनाना अलग. जडेजा को मौका मिला, तो इस बंयहत्था ऑलराउंडर ने मजबूती के साथ अपना झंडा गाड़ दिया. 

यह भी पढ़ें: Asia Cup 2018, IND vs BAN: भारत ने बांग्लादेश को 7 विकेट से हराया, जडेजा बने मैन ऑफ द मैच

और हां आपको एक बात और बता दें कि पिछले साल 6 जुलाई के बाद से हार्दिक पंडया ने टीम इंडिया के लिए खेले 16 वनडे मैचों में 14.00 के औसत से 140 रन बनाए. इनमें उनका बेस्ट स्कोर 30 रहा. और इस समयावधि मतलब करीब 14 महीने में हार्दिक ने 115.2 ओवरों में कुल 11 विकेट चटकाए. और उनका बेस्ट प्रदर्शन रहा 30 रन देकर दो विकेट. ऐसे में इस प्रदर्शन को देखते हुए रवींद्र जडेजा के चाहने वालों और मीडिया को चीफ सेलेक्टर एमएसके प्रसाद से यह पूछने का तो पूरा हक है कि आखिर इतने लंबे समय तक जडेजा की अनदेखी क्यों की गई. और इसका जवाब भी जडेजा ने बखूबी दिया है. 

VIDEO: सुनिए की जडेजा की वापसी पर अजय रात्रा क्या कह रहे हैं.

बहरहाल असल मुद्दे पर लौटते हैं कि आखिर जडेजा क्यों टीम से बाहर हुए थे. दरअसल हाल ही में बांग्लादेश के खिलाफ मैन ऑफ द मैच प्रदर्शन से पहले पिछले साल जुलाई में खेले अपने आखिरी तीन मुकाबलों में जडेजा के गेंदबाजी आंकड़ों पर नजर दौड़ाएं. 28-1-142-0. मतलब यह कि उन तीन मैचों में जडेजा को एक भी विकेट नहीं मिला. और इसी कारण रवींद्र जडेजा को टीम से ड्रॉप कर दिया गया. लेकिन अब जडेजा ने 10 ओवरों में ही 4 विकेट चटकाकर बता दिया कि अब कम से कम अगले कुछ मैचों के लिए उन्होंने अपनी जगह टीम में पक्की कर ली है. 
 

Comments
हाईलाइट्स
  • करीब 14 महीने बाद जडेजा ने की टीम में वापसी
  • हार्दिक की बदकिस्मती बन गई जडेजा के लिए वरदान!
  • जडेजा आए, बहार लाए!
संबंधित खबरें
शिखर धवन ने रोहित शर्मा और
शिखर धवन ने रोहित शर्मा और 'सर' रवींद्र जडेजा का यूं दिया परिचय, देखें VIDEO
टेस्ट सीरीज में क्लीन-स्वीप के बाद विराट कोहली ने कुछ यूं की जसप्रीत बुमराह की तारीफ
टेस्ट सीरीज में क्लीन-स्वीप के बाद विराट कोहली ने कुछ यूं की जसप्रीत बुमराह की तारीफ
IND vs WI: रवि शास्त्री ने किया खुलासा, इसलिए रवींद्र जडेजा को  आर. अश्विन पर तरजीह दी गई
IND vs WI: रवि शास्त्री ने किया खुलासा, इसलिए रवींद्र जडेजा को आर. अश्विन पर तरजीह दी गई
अर्जुन अवॉर्ड जीतने के बाद रवींद्र जडेजा बोले,
अर्जुन अवॉर्ड जीतने के बाद रवींद्र जडेजा बोले, 'अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश करूंगा', देखें VIDEO
West Indies vs India 1st Test Day 3: विराट और रहाणे ने की भारत की बढ़त मजबूत
West Indies vs India 1st Test Day 3: विराट और रहाणे ने की भारत की बढ़त मजबूत
Advertisement