World Athletics Championship: कुछ ऐसे Avinash Sable ने हासिल किया ओलिंपिक कोटा

Updated: 05 October 2019 12:08 IST

World Athletics Championship: अबिनाश (Avinash Sable) को हीट में बाहर होना पड़ा था लेकिन बाद में भारतीय एथलेटिक्स महासंघ (एएफआई) ने मैच अधिकारियों से शिकायत की थी कि अबिनाश के रास्ते में दूसरे खिलाड़ियों ने बाधा डालने की कोशिश की थी

World Athletics Championship: that
World Athletics Championship: Avinash Sable

दोहा:

भारत के पुरुष धावक अबिनाश साबले (Avinash Sable) ने यहां जारी विश्व एथलेटिक्स चैम्पियनशिप (World Athletics Championship) में 3000 मीटर स्टीपलचेज में ओलिंपिक कोटा हासिल कर लिया है. वे हालांकि रेस के फाइनल में 13वें स्थान पर रहे, लेकिन साथ ही राष्ट्रीय रिकॉर्ड अपने नाम करने में सफल रहे. अबिनाश ने आठ मिनट 22.37 सेकेंड में रेस पूरी की. फाइनल में वह जीत तो हासिल नहीं कर सके, लेकिन ओलिंपिक कोटा जरूर अपने नाम कर ले गए.

यह भी पढ़ें:  नाटकीय हालात में अविनाश साब्ले 3000 मी. स्टीपलचेज के फाइनल में पहुंचे

महाराष्ट्र के मांडवा गांव के किसान के बेटे अविनाश ने आठ मिनट 21.37 सेकेंड का समय निकालकर ओलंपिक क्वालीफाइंग मानक समय 8:22.00 से बेहतर प्रदर्शन किया लेकिन वह शुक्रवार की रात 3000 मीटर स्टीपलचेज स्पर्धा में 13वें स्थान पर रहे. इस समय से अविनाश ने तीन दिन में दूसरी बार अपना ही राष्ट्रीय रिकार्ड तोड़ा. भारतीय सेना के इस 25 वर्षीय हवलदार ने मंगलवार को पहले दौर की हीट के दौरान (तब के) राष्ट्रीय रिकार्ड 8:28.94 सेकेंड से बेहतर करते हुए 8:25.23 का समय निकाला था. मौजूदा ओलिंपिक चैम्पियन कोनसेसलस किप्रुतो ने 2017 के खिताब को बरकरार रखा. केन्या के एथलीट ने आठ मिनट 01.35 सेकेंड के समय से स्वर्ण पदक जीता। वह अविनाश से 20 सेकेंड आगे रहे. इथोपिया के लामेचा गिरमा ने आठ मिनट 01.36 सेकेंड से रजत और मोरक्को के सोफियाने बाकाली ने आठ मिनट 03.76 सेकेंड के समय से कांस्य पदक जीता. 

यह भी पढ़ें:  फाइनल में पहुंचने के साथ ही Anu Rani ने रच डाला इतिहास

अविनाश 12वीं की परीक्षा पास करने के बाद 5 महर रेजीमेंट से जुड़ गये थे और 2013-14 में सियाचिन ग्लेशियर में तैनात थे, जिसके बाद उनकी तैनाती 2015 में राजस्थन और सिक्किम में हुई. वर्ष 2015 में उन्होंने अंतर-सेना क्रास कंट्री रेस में हिस्सा लिया और फिर वह सेना के कोच अमरीश कुमार के मार्गदर्शन में 2017 में स्टीपलचेज में भाग लेने लगे। मंगलवार को वह हीट रेस में जगह बनाने नाकाम रहे थे लेकिन नाटकीय परिस्थितियों के बाद उन्होंने शुक्रवार को फाइनल में जगह बनाय. अविनाश को हीट में बाहर होना पड़ा था लेकिन बाद में भारतीय एथलेटिक्स महासंघ (एएफआई) ने मैच अधिकारियों से शिकायत की थी कि अबिनाश के रास्ते में दूसरे खिलाड़ियों ने बाधा डालने की कोशिश की थी. एएफआई की इस अपील की जांच हुई और इसे सही पाया गया. इस प्रकार अबिनाश फाइनल में पहुंचने में सफल रहे.

ओलिंपिक का क्वालीफाइंग मार्क आठ मिनट 22 सेकेंड का है. अबिनाश ने कुछ सेकेंड पहले ही रेस पूरी कर अगले साल टोक्यो में होने वाले ओलिंपिक खेलों में जगह बनाई. इस स्पर्धा का स्वर्ण केन्या के कोनसेस्लस किपरुटो के नाम रहा जिन्होंने आठ मिनट 1.35 सेकेंड में रेस पूरी की. इथोपिया के लामेचा गिरमा आठ मिनट 1.36 सेकेंड के दूसरे स्थान पर रहे. उन्होंने भी राष्ट्रीय रिकॉर्ड अपने नाम किया.

VIDEO: कुछ दिन पहले पीवी सिंधु ने एनडीटीवी से खास बात की थी. 

मोरक्को के साउफियाने एल बक्कल आठ मिनट 03.76 सेकेंड के साथ तीसरे स्थान पर रह कांस्य जीतने में सफल रहे. यह उनका इस सीजन का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. 

Comments
संबंधित खबरें
Pro Kabaddi 2019:  कुछ ऐसे U Mumba को हराकर Bengal फाइनल में पहुंचा
Pro Kabaddi 2019: कुछ ऐसे U Mumba को हराकर Bengal फाइनल में पहुंचा
World Athletics Championship: भारतीय पुरुष टीम नहीं बना सकी चार गुणा चार सौ मीटर के  फाइनल में जगह
World Athletics Championship: भारतीय पुरुष टीम नहीं बना सकी चार गुणा चार सौ मीटर के फाइनल में जगह
World Athletics Championship: कुछ ऐसे Avinash Sable ने हासिल किया ओलिंपिक कोटा
World Athletics Championship: कुछ ऐसे Avinash Sable ने हासिल किया ओलिंपिक कोटा
World Athletics Championship: फाइनल में पहुंचने के साथ ही Anu Rani ने रच डाला इतिहास
World Athletics Championship: फाइनल में पहुंचने के साथ ही Anu Rani ने रच डाला इतिहास
World Athletics Championship: भारतीय टीम को फाइनल में मिला 7वां स्थान, इस गलती से फर्क पड़ा टाइमिंग पर
World Athletics Championship: भारतीय टीम को फाइनल में मिला 7वां स्थान, इस गलती से फर्क पड़ा टाइमिंग पर
Advertisement