Asian Games: रेसलर बजरंग पूनिया ने भारत को दिलाया पहला स्‍वर्ण, शूटिंग में अपूर्वी-रवि को कांस्‍य मिला

Updated: 17 February 2019 09:40 IST

Asian Games: इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में शनिवार को 18वें एशियाई खेलों के उद्घाटन के बाद रविवार से महाकुंभ में खिलाड़ियों की जद्दोजहद शुरू हो गई है. एशियाई खेल 2018 में भारत का पहला स्‍वर्ण पदक हासिल हो गया है. सोने का यह पदक पहलवान बजरंग पूनिया ने दिलाया है. पुरुष फ्रीस्‍टाइल इवेन के 65 किलोग्राम वर्ग में बजरंग ने जापान के दाइची ताकातानी को हराकर भारत को यह स्‍वर्णिम सफलता दिलाई. इससे पहले, भारत के शूटर अपूर्वी चंदेला और रवि कुमार ने निशानेबाजी की 10 मी. एयर राइफल की मिक्स्ड स्पर्धा में कांस्य पदक जीतकर महाकुंभ में भारत के पदकों का खाता खोल दिया था.

Asian Games 2018 LIVE: India in Asian games @ Day One in Jakarta, Indonesia
Asian Games 2018: भारत को पहला गोल्‍ड मेडल बजरंग पूनिया ने कुश्‍ती में दिलाया

जकार्ता:

इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में शनिवार को 18वें एशियाई खेलों के उद्घाटन के बाद रविवार से महाकुंभ में खिलाड़ियों की जद्दोजहद शुरू हो गई है. एशियाई खेल 2018 में भारत का पहला स्‍वर्ण पदक हासिल हो गया है. सोने का यह पदक पहलवान बजरंग पूनिया ने दिलाया है. पुरुष फ्रीस्‍टाइल इवेन के 65 किलोग्राम वर्ग में बजरंग ने जापान के दाइची ताकातानी को हराकर भारत को यह स्‍वर्णिम सफलता दिलाई. इससे पहले, भारत के शूटर अपूर्वी चंदेला और रवि कुमार ने निशानेबाजी की 10 मी. एयर राइफल की मिक्स्ड स्पर्धा में कांस्य पदक जीतकर महाकुंभ में भारत के पदकों का खाता खोल दिया था. इन दोनों की जोड़ी ने 429.9 का स्कोर किया. इससे पहले अपूर्वी चंदेला और रवि कुमार की जोड़ी ने सुबह फाइनल में जगह बनाई थी, लेकिन 10 मी. एयर पिस्टल में टीम वर्ग में मनु भाकर और अभिषेक वर्मा फाइनल के लिए क्वालीफाई करने से चूक गए. इनके अलावा पुरुष बैडमिंटन टीम ने भी मालदीप को 3-0 से धोकर क्वार्टफाइनल में जगह बना ली, तो टेनिस में दिविज शरण और कामरान थांडी ने भी मिक्स्ड डबल्स में प्री-क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली. उधर एक अन्‍य पहलवान पवन कुमार कांस्‍य पदक की होड़ में बने हुए थे, उन्‍होंने एशियाई खेलों के मेजबान इंडोनेशिया के फेहरियनसयाह को पहले रेपचेज मुकाबले में 11-0 से हराया था.पवन को अगले मैच में मंगोलिया के उइतुमेन ओरगोडोल से हार का सामना करना पड़ा और भारत की पदक की उम्‍मीद धराशायी हो गई.

कबड्डी के पुरुष वर्ग में भारतीय टीम ने श्रीलंका को 44-28 से पराजित किया.पुरुष वर्ग की 200 मीटर बटरफ्लाई इवेंट के फाइनल में भारत के साजन प्रकाश 1:57.75 के समय के साथ पांचवें स्‍थान पर रहे.एक अन्‍य तैराक श्रीहरि नटराज 100 मीटर बैकस्‍ट्रोक के फाइनल इवेंट में 56.19 सेकंड के समय के साथ सातवें स्‍थान पर रहे. इवेंट का स्‍वर्ण पदक चीन के झु जियु ने जीता.

बजरंग के स्‍वर्ण को छोड़ दें तो कुश्ती में देश के अन्‍य पहलवानों का प्रदर्शन निराशाजनक रहा. सुशील कुमार की पहले ही राउंड में हार के अलावा दूसरे दौर के मुकाबलों में जहां संदीप तोमर, योगेश खत्री और पवन कुमार क्वार्टरफाइनल में हार गए. निराशाजनक बात यह रही कि सुशील कुमार कांस्य पदक ही होड़ से भी बाहर हो गए हैं. सुशील कुमार को पहले ही राउंड में हराने वाले बहरीन के एडम बैतिरोव फाइनल के लिए क्वालीफाई करने में नाकाम रहे. इस कारण दोनों पहलवानों के बीच रिपेज राउंड की उम्मीदें भी खत्म हो गईं. दूसरी ओर, चीन के सुन पीयुआन ने खेलों का पहल स्वर्ण पदक अपने नाम किया. उन्होंने वूशू के चैंगक्वान स्पर्धा में पदक जीता. सुन ने 9.75 अंक अर्जित करते हुए स्वर्ण पदक पर कब्जा किया. सुन ने इसी शहर में 2015 में हुए वर्ल्ड वूशू चैम्पियनशिप का खिताब जीता था.

कुश्ती में भारत को बड़े उलटफेर का सामना करना पड़ा. ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार 74 किग्रा भार वर्ग में पहले ही राउंड में ही हार गए हैं. सुशील कुमार को बहरीन के एडम बैतिरोव ने 5-3 के अंतर से पराजित किया. साथ ही, प्री-क्वार्टर फाइनल में 57 किग्रा भार वर्ग में तुर्कमेनिस्तान के पहलवान रुस्तम नाजारोव को 12-8 से मात देने वाले संदीप तोमर अंतिम आठ की बाजी हार गए हैं. इसके अलावा भारतीय पुरुष कबड्डी टीम ने अपने कप्तान अजय ठाकुर की कप्तानी में अच्छी शुरुआत करते हुए ग्रुप-ए में खेले गए इस मैच में भारत ने बांग्लादेश को 50-21 से करारी शिकस्त दी. इसी ग्रुप में भारत का सामना श्रीलंका से शाम को होगा

कुश्ती: सुशील को यह क्या हुआ !!

भारत के अनुभवी पहलवान सुशील कुमार 74 किलोग्राम स्पर्धा के क्वालीफाइंग राउंड में बहरीन के एडम बातिरोव ने 5-3 से मात देकर बाहर किया. इस हार के कारण सुशील 2006 दोहा में जीते गए अपने कांस्य पदक के रंग को स्वर्ण में तब्दील करने में भी असफल रह गए. सुशील ने पहले दौर में अच्छी शुरुआत करते हुए 2-0 से बढ़त हासिल कर ली थी. इसके बाद बहरीन के पहलवान ने बातिरोव ने सुशील को टैकल करते हुए एक अंक हासिल किया.दूसरे दौर में बातिरोव को सुशील पर भारी पड़ते हुए देखा गया और ऐसे में उन्होंने भारतीय पहलवान को पीली रेखा दायरे से बाहर कर पांच अंक हासिल कर लिए. सुशील इस बीच एक अंक हासिल कर पाए और इस कारण 5-3 से हार गए.

यह भी पढ़ें: Asian Games 2018: इंडोनेशियाई कलाकारों ने मन मोहा, अब शुरू होगी पदकों की जंग ​ 

वहीं, संदीप को इस स्पर्धा के क्वार्टर फाइनल में ईरान के रेजा अत्रीनागार्ची ने 15-9 से हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया. सेमीफाइनल में उनका सामना उत्तर कोरिया के कांग कुम सोंग से होगा.पहले राउंड की शुरुआत में 4-6 से पिछड़ने के बाद संदीप ने संघर्ष के साथ वापसी कर प्रतिद्वंद्वी को टैकल करते हुए दो अंक लिए और 6-6 से बराबरी कर ली. दूसरे दौर में रोजा ने संदीप को पीली लाइन से बाहर कर चार अंक हासिल किए और भारतीय पहलवान 10-6 से बढ़त हासिल कर ली. संदीप कोशिश करते हुए अंक हासिल कर रहे थे, लेकिन वह ईरान के खिलाड़ी की रणनीति से नहीं बच पाए और 15-9 से हार गए. इससे पहले, संदीप ने रविवार को ही इस स्पर्धा के प्री-क्वार्टर फाइनल में तुर्कमेनिस्तान के पहलवान रुस्तम नाजारोव को 12-8 से मात दी. 

संदीप के उलट बजरंग पूनिया ने अपनी लय को जारी रखते हुए 65 किलोग्राम स्पर्धा के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया. बजरंग ने क्वार्टर फाइनल मुकाबले में ताजिकिस्तान के फेजेव अब्दुलकासिम को 12-2 से मात दी. पहले चरण में बजरंग ने फेजेव को टैकल करते हुए पीली रेखा से बाहर कर छह अंक बटोर कर मजबूत बढ़त हासिल की. वह प्रतिद्वंद्वी खिलाड़ी को खुद पर हावी होने का मौका ही नहीं दे रहे थे. ऐसे में उन्होंने पहले ही दौर में 9-2 से पहली बढ़त जीत ली। इसके बाद, फेजेव को वापसी का मौका न देते हुए बजरंग ने 12-2 से जीत हासिल कर सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया. इससे पहले ऑस्ट्रेलिया में आयोजित राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाले बजरंग ने उज्बेकिस्तान के पहलवान सिरोजिद्दीन खासानोव को 13-3 से मात देकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया था. लेकिन योगेश खत्री का भाग्य बजंरग जैसा नहीं रहा और उन्हें 97 किग्रा के क्वार्टरफाइनल में खत्री को क्वार्टर फाइनल में उज्बेकिस्तान के मागोमेद इब्रागिमोव से 0-8 से हार का सामना करना पड़ा. कुछ ऐसी ही हालत 86 किग्रा भार वर्ग में पवन कुमार की हुई. पवन को मौजूदा विश्व, ओलिंपिक और एशियाई चैंपियन ईरान के हसन याजदानीचाराती ने 11-0 से मात दी. हसन ने रियो ओलम्पिक के अलावा 2017 विश्व चैम्पियनशिप (पेरिस) तथा 2018 एशियाई चैंपियनशिप (बिसकेक) में अपने भारवर्ग में पहला स्थान हासिल किया था. ईरान के अनुभवी पहलवान हसन को पवन को हराने में दो मिनट से अधिक का समय नहीं लगा और उन्होंने 11 अंक हासिल करने के साथ ही सेमीफाइनल में कदम रखा

कबड्डी: बांग्लादेश का बजाया बैंड!

भारत ने अच्छी शुरुआत करते हुए हाफ टाइम तक 30-15 से बढ़त बना ली थी. अच्छे डिफेंस के साथ खेल रही भारतीय टीम के खिलाड़ी बांग्लादेश के रेडरों को अंक लेने का मौका नहीं दे रहे थे. इस बीच, बांग्लादेश की टीम ऑल आउट हो गई और भारत ने 39-15 से बढ़त बना ली। टीम के रेडर बांग्लादेश के डिफेंस को कमजोर कर रहे थे. बांग्लादेश को एक भी अंक लेने का मौका न देते हुए भारत ने 45-15 से अच्छी बढ़त बना ली और एक बार फिर बांग्लादेश को ऑल आउट कर अपना स्कोर 50-20 तक दिया. यहां से बांग्लादेश के लिए वापसी करना मुश्किल हो गया और आखिरकार उसे 21-50 से हार का सामना करना पड़ा

तैराकी में अच्‍छा प्रदर्शन

इससे पहले तैराकी में पुरुषों में श्रीहरि नटराज ने 100 मी. बैकस्ट्रोक, तो सज्जन प्रकाश से दो 200 मी. बटरफ्लाई वर्ग के फाइनल में जगह बना ली है वहीं, भारतीय महिलाओं ने कबड्डी में अपने अभियान की शुरुआत करते हुए जापान को एकतरफा मुकाबले में 43-12 से हराया. बास्केटबॉल में भारतीय महिला टीम को अपने दूसरे मुकाबलें में भी हार झेलनी पड़ी है. वहीं, महाकुंभ का पहला गोल्ड चीन के खाते में गया है. सुन पेइयुआन ने पुरुष चांगकुआन वर्ग का स्वर्ण पदक 9 .75 अंक के साथ जीता.

भारत के 17 वर्षीय तैराक श्रीहरि नटराज ने अच्छी शुरुआत करते हुए 100 मीटर बैकस्ट्रोक स्पर्धा के फाइनल में जगह बना ली है. नटराज ने हीट-1 में पहले स्थान पर रहते हुए अंतिम सूची में आठवां स्थान हासिल किया. इस स्पर्धा में हालांकि, एक अन्य भारतीय तैराक मणि अरविंद फाइनल से बाहर हो गए. नटराज और अरविंद दोनों ने क्वालीफिकेशन दौर में हीट-1 में पहला और दूसरा स्थान हासिल किया. नटराज ने 55.86 सेकेंड का समय लेकर पहला और अरविंद ने 58.09 सेकेंड का समय लेकर दूसरा स्थान प्राप्त किया.

ऐसे में अन्य हीटों में तैराकों द्वारा लिए गए समय को आंकते हुए नटराज ने अंतिम सूची में आठवां स्थान हासिल कर फाइनल स्पर्धा के लिए क्वालीफाई किया. हीट में शीर्ष-8 पर रहने वाले तैराक फाइनल स्पर्धा के लिए क्वालीफाई करते हैं. इस अंतिम सूची में चीन के शु जियाउ को पहला स्थान मिला है, वहीं उनके हमवतन ली गुआंगयुआन तीसरे स्थान पर रहे. जापान के इरी रोसुके दूसरे स्थान पर हैं. तैराकी में ही, सज्जन प्रकाश ने 200 मी. बटरफ्लाई वर्ग के फाइनल में जगह बनाई, तो सौरभ सांगवेकर पुरुषों की 200 मीटर फ्रीस्टाइल तैराकी स्पर्धा के हीट-1 में दूसरा स्थान हासिल किया. इस कारण उन्हें सभी हीटों में हुई स्पर्धाओं में 24वां स्थान हासिल हुआ है. ऐसे में वह फाइनल स्पर्धा से बाहर हो गए

शूटिंग

निशानेबाजी  में 10 मी. एयर रायफल के मिक्स्ड टीम  वर्ग में अपूर्वी चंदेला और रवि कुमार ने कुल मिलार 845.3 का स्कोर किया. अपूर्वी और रवि की भारतीय टीम ने इस स्पर्धा के क्वालिफिकेशन दौर में दूसरा स्थान हासिल किया. भारतीय टीम को 835.3 अंक हासिल हुए. इस सूची में शीर्ष-5 टीमों ने फाइनल के लिए क्वालीफाई किया है. पहले स्थान पर दक्षिण कोरिया ने 836.7 अंकों के साथ कब्जा जमाया. मंगोलिया की टीम 832.1 अंकों के साथ तीसरे और चीन 831.1 अंकों के साथ चौथे स्थान पर रही. 829.8 अंकों के साथ ताइवान को पांचवां स्थान हासिल हुआ. अपूर्वी ने क्वालिफिकेशन में कुल 415.3 अंक हासिल किए. वहीं रवि ने 420.0 अंक अपने नाम किए. दोनों ने कुल 835.3 अंक हासिल कर फाइनल में कदम रखा है. शूटिंग में ही 10 मी. एयर पिस्टल की मिक्स्ड कैटेगिरी में मनु भाकर और अभिषेक वर्मा फाइनल के लिए क्वालीफाई करने से चूक गए. भारतीय जोड़ी 759 के स्कोर के साथ छठे स्थान पर रही. शीर्ष पांच जोड़ियों ने मुख्य मुकाबले के लिए क्वालीफाई कर लिया. वहीं, श्रेयसी ने महिलाओं की ट्रैप स्पर्धा के पहले क्वालिफिकेशन में अच्छा प्रदर्शन कर दूसरा स्थान हासिल किया. इस स्पर्धा में एक अन्य भारतीय महिला निशानेबाज सीमा तोमर को चौथा स्थान हासिल हुआ. इस साल ऑस्ट्रेलिया में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में भारत को डबल ट्रैप स्पर्धा का स्वर्ण पदक दिलाने वाली श्रेयसी अच्छी फॉर्म में चल रही हैं और ऐसे में उन्होंने एशियाई खेलों में ट्रैप स्पर्धा के क्वालीफाइंग राउंड में 71 अंक बनाए. भारत की 36 वर्षीय निशानेबाज तोमर ने 71 अंक हासिल किए और चौथे स्थान पर रहीं. इसमें कजाखस्तान की मारिया दिमित्रियेंको पहले 74 अंकों के साथ पहले स्थान पर रहीं. मानवजीत ने पुरुष ट्रैप स्पर्धा के पहले क्वालीफिकेशन में कुल 72 का स्कोर कर पहला स्थान हासिल किया. इसी स्पर्धा में एक और भारतीय निशानेबाज लक्ष्य ने पहले क्वालीफिकेशन में 71 का स्कोर किया

बास्केटबॉल: महिलाओं ने किया निराश

भारतीय महिला टीम अपने दूसरे मुकाबले में भी जीत दर्ज करने में नाकाम साबित हुई. चीनी ताइपे ने उसे एकतरफा साबित हुए मुकाबले में 84-61 से मात दी. इससे पहले महिला टीम को अपने पहले मुकाबले में कजाखस्तान के हाथों 79-61 के अंतर से मात खाने पर मजबूर होना पड़ा था. 

वुशू: चूक गए नामदेव

अंजुल नामदेव पुरुषों की चांगक्वान स्पर्धा के पदक से चूक गए. इस स्पर्धा में अंजुल को पांचवां स्थान हासिल हुआ और इस कारण वह कांस्य पदक से दो कदम दूर रह गए. भारतीय खिलाड़ी अंजुल को कुल 9.66 अंक हासिल हुए. इसके अलावा एक अन्य भारतीय खिलाड़ी सूरज सिंह को 10वां स्थान हासिल हुआ। उन्हें 9.51 अंक मिले. इस स्पर्धा का स्वर्ण पदक चीन के खिलाड़ी सुन पेयुआन को मिला। उन्होंने 9.75 अंकों के साथ पहला स्थान हासिल कर सोने पर कब्जा जमाया. इंडोनेशिया के एडगर हेवियर मार्वेलो ने 9.72 अंकों के साथ रजत और ताइवान के साई सेमिन ने 9.70 अंकों के साथ कांस्य पदक हासिल किया.

बता दें कि इस खेल महाकुंभ में हिस्सा ले रहे 45 देशों के खिलाड़ी पदकों के लिए जद्दोजहद करेंगे. भारत रविवार को शूटिंग, बैडमिंटन और कबड्डी, तैराकी सहित कई स्पर्धाओं में शिरकत करेगा. पहले ही दिन भारतीयों का बहुत ही  व्यस्त कार्यक्रम है क्योंकि ज्यादातर  स्पर्धाओं में प्रारंभिक दौर के मुकाबले होंगे.

भारत के 572 खिलाड़ी 36 खेलों में अपना भाग्य आजमाने जा रहे हैं. इन खिलाड़ियों में 312 पुरुष और 260 महिला खिलाड़ी हैं. इसके अलावा भारतीय दल में कोच, स्पोर्ट स्टॉफ और अधिकारियों को मिलाकर 232 लोग हैं. राष्ट्रकुल खेलों में पदकों की झड़ी लगाने के बाद भारतीय दल के सामने बड़ी चुनौती है. 

VIDEO: पीवी सिंधु एक बार फिर इन खेलों में भारत की  स्टार खिलाड़ी हैं.

भारतीय दल के सामने बड़ी चुनौती यह है कि क्या खिलाड़ी भारत के साल 2010 के सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन को पीछे छोड़ पाएंगे. 

 

Comments
हाईलाइट्स
  • जापान के दाइची ताकातानी को हराकर जीता स्‍वर्ण
  • भारत ने एशियाई खेल में कुश्‍ती में जीता पहला गोल्‍ड
  • 10 मीटर एयर राइफल की मिक्‍स्‍ड इवेंट में अपूर्वी-रवि को मिला कांस्‍य
संबंधित खबरें
ध्‍वजवाहक होने के नाते एशियन गेम्‍स में मुझ पर पदक जीतने का ज्‍यादा दबाव था: नीरज चोपड़ा
ध्‍वजवाहक होने के नाते एशियन गेम्‍स में मुझ पर पदक जीतने का ज्‍यादा दबाव था: नीरज चोपड़ा
'इस कारण' एशियन गेम्स पदक विजेता दिव्या काकरान ने अरविंद केजरीवाल को सुनाई खरी-खरी
Asian Games 2018: स्‍वप्‍ना बर्मन बोली,
Asian Games 2018: स्‍वप्‍ना बर्मन बोली, 'कोच सर ने कहा था-अपने ऊपर भरोसा रख, तुम पदक जीतोगी'
Asian Games: बॉक्‍सर विजेंदर सिंह की मांग,
Asian Games: बॉक्‍सर विजेंदर सिंह की मांग, 'स्‍वर्ण विजेता स्‍वप्‍ना की इनामी राशि बढ़ाए बंगाल सरकार'
Asian Games 2018:
Asian Games 2018: 'यह भारतीय गायक' समापन समारोह में इंडोनेशिया में छा गया
Advertisement