Asian Games 2018: ब्रिज और बॉक्सिंग में मिला स्‍वर्ण, पुरुष हॉकी टीम ने पाकिस्‍तान को हराकर कांस्‍य जीता

Updated: 16 February 2019 21:52 IST

Asian Games 2018: अमित पंघाल की जीत के साथ ही भारत ने एशियाई खेलों के करीब 67 साल में नया इतिहास रचते हुए अपने सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन को पीछे छोड़ दिया. कुल मिलाकर यह भारत का 66वां पदक रहा. इससे पहले भारत ने साल 2010 में चीन के गुआंगझू में हुए संस्करण में सबसे ज्यादा 65 पदक जीते थे

Asian Games 2018 Day 14, Live updates jakarta Indonesia 31th August
Asian Games 2018: अमित पंघाल का स्वर्ण हमेशा इतिहास में दर्ज रहेगा

जकार्ता:

भारत ने इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में चल रहे 18वें एशियाई खेल के 14वें दिन खेलों में नया इतिहास रच दिया है. पहले बॉक्सर अमित पंघाल और फिर ब्रिज में भारत ने सोने पर कब्जा जमाते हुए स्वर्ण पदकों की संख्या को 15 तक पहुंचा दिया. राष्ट्रमंडल खेलों के रजत पदक विजेता अमित ने 49 किग्रा भार वर्ग के फाइनल मुकाबले में रियो ओलिंपिक 2016 के रजत पदक विजेता उज्बेकिस्तान के हसनबॉय दुसामाटोव 3-2 से मात देकर स्वर्ण पदकों की संख्या को 14 किया, तो कुछ ही देर बाद ब्रिज (ताश) के पुरुष डबल्स कैटेगिरी में प्रणब बर्धन और शिभनाथ सरकार ने भारत को एक और सोना दिला दिया. इसी के साथ ही, भारत ने खेलों के इतिहास में अपने सबसे ज्यादा स्वर्ण पदक (15 पदक, दिल्ली 1951) जीतने के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली. महिला स्क्‍वॉश टीम को हांगकांग के हाथों हार का सामना करना पड़ा और भारत को इस खेल में रजत से ही संतोष करना पड़ा. पुरुष हॉकी के मुकाबले में भारत ने पाकिस्‍तान को 2-1 से हराकर कांस्‍य पदक पर कब्‍जा जमाया. भारत के लिए आकाशदीप और हरमनप्रीत ने गोल किए जबकि पाकिस्‍तान के लिए एकमात्र गोल मोहम्‍मद अतीक ने किया.भारत अब तक एशियन गेम्‍स 2018 में 15 स्‍वर्ण और 24 रजत सहित 69 पदक जीत चुका है. Medal Tally

 

 

इसी के साथ भारत ने एशियाई खेलों के करीब 67 साल में नया इतिहास रचते हुए अपने सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन को पीछे छोड़ दिया. इससे पहले भारत ने साल 2010 में चीन के गुआंगझू में हुए संस्करण में सबसे ज्यादा 65 पदक जीते थे. इससे पहले भारत ने जूडो में अच्छी शुरुआत की, लेकिन बाद में इसे गंवा दिया. जूडो में नेपाल को हराने के बाद भारत अंतिम आठ में कजाखस्तान के हाथों हार गया, तो नौकायन के फाइनल में भी प्रकांत शर्मा और जेम्सबॉय सिंह ने भी निराश किया और ये दोनों नौवें स्थान पर रहे. वहीं टेनिस के पुरुष डबल्स में रोहन बोपन्ना और वेसलिन की जोड़ी ने प्री-क्वार्टरफाइनल में जगह बना ली है.   

बॉक्सिंग: अमित का ऐतिहासिक पदक

भारत के युवा मुक्केबाज 22 साल के अमित पंघल ने पुरुषों की 49 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा का स्वर्ण पदक अपने नाम किया है. राष्ट्रमंडल खेलों में रजत जीतने वाले अमित ने रियो ओलिंपिक-2016 के रजत पदक विजेता उज्बेकिस्तान के हसनबॉय दुसामाटोव को बेहद रोचक और कड़े मुकाबले में 3-2 से मात देकर एशियाई खेलों में अपना पहला स्वर्ण पदक जीता. भारत का यह इन खेलों में कुल 14वां स्वर्ण पदक है. 

इसी के साथ भारत के पदकों की संख्या अब 66 हो गई और भारत ने अपने सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन को पीछे छोड़ दिया. भारत ने 2010 में 65 पदक जीते थे. अमित ने सेमीफाइनल में जिस तरह का प्रदर्शन करते हुए फाइनल में जगह बनाई थी उसके बाद उनसे स्वर्ण की ही उम्मीद थी. अमित ने उम्मीदों को ध्वस्त नहीं किया और सोने का तमगा अपने गले में डाला.

ब्रिज (ताश) में स्‍वर्णिम सफलता

प्रणब बर्धन और शिभनाथ सरकार ने पुरुषों की युगल स्पर्धा का स्वर्ण पदक अपने नाम किया. 60 साल के प्रणब और 56 साल के शिभनाथ सरकार की जोड़ी 384 अंक हासिल करते हुए स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया. भारत का यह इन खेलों में 15वां स्वर्ण है. इसी के साथ भारत ने 1951 में दिल्ली में खेले गए पहले एशियाई खेलों में जीते गए 15 स्वर्ण पदक की बराबरी कर ली है. भारत के ही सुमित मुखर्जी और देबाब्रत मजूमदार 333 अंक लेकर नौवें स्थान पर रहे. सुभाष गुप्ता सपन देसाई की भारतीय टीम 306 अंकों के साथ 12वें स्थान पर रही.

स्क्वॉश में रजत से ही करना पड़ा संतोष

महिला स्क्वॉश टीम को टीम स्पर्धा में रजत पदक से संतोष करना पड़ा. हांगकांग ने शनिवार को हुए फाइनल मुकाबले में भारत को 2-0 से शिकस्त दी. फाइनल में हांगकांग की विंग अयू, हो चान, जी हो और का ली की टीम ने शानदार प्रदर्शन किया. जोशना चिनप्पा, दीपिका पल्लिकल कार्तिक, सुनैना कुरुविल्ला और तन्वी खन्ना की टीम को फाइनल में हांगकांग ने लगातार दो मैच में शिकस्त देते हुए स्वर्ण पदक पर कब्जा किया. भारतीय टीम ने सेमीफाइनल में मलेशिया को 2-1 से शिकस्त दी थी.

जूडो में निराशा हाथ लगी

भारतीय जूड़ो मिश्रित टीम शनिवार को अच्छी शुरुआत को कायम नहीं रख सकी और क्वार्टर फाइनल में हार कर बाहर हो गई। भारतीय टीम को क्वार्टर फाइनल में कजाखस्तान ने एकतरफा मुकाबले में 4-0 से मात दी. इससे पहले भारत ने दिन की शुरुआत अच्छी की थी और अंतिम-16 के मैच में पड़ोसी देश नेपाल को 4-1 से हराया था.

नौकायन में भारतीय जोड़ी 9वें स्‍थान पर रही

प्रकांत शर्मा और जेम्सबॉय सिंह ने फाइनल में निराशाजनक प्रदर्शन किया है. भारतीय जोड़ी 41.152 अंकों के साथ नौवें स्थान पर रही. चीन के सोंग जिंग और कियांग ली ने 36.940 अंकों के साथ पहला स्थान हासिल करते हुए स्वर्ण पदक जीता. उज्बेकिस्तान के आर्थर गुइलेव और इर्योजोन मामादालिएव ने 37.080 अंकों के साथ रजत पदक जीता।. स्पर्धा का कांस्य कजाकिस्तान के मेरेय मेडेटोव और तिमुर खाइडारोव के नाम रहा जिन्होंने 37.371 अंक हासिल किए। 

यह भी पढ़ें: Asian Games 2018: जापान से हारी भारतीय महिला हॉकी टीम, स्वर्ण व ओलिंपिक टिकट गंवाया

इससे पहले शुक्रवार को खेलों के 13वें दिन भारतीय महिला हॉकी टीम का स्‍वर्ण जीतने का सपना पूरा नहीं हो सका. भारतीय महिला टीम को फाइनल में जापान के खिलाफ 1-2 से हारना पड़ा और उसे रजत पदक से ही संतोष करना पड़ा. मुकाबले के 13वें दिन आज भारत दो रजत सहित छह पदक जीतने में सफल रहा. भारत ने इसमें से तीन पदक नौकायन में जीते.महिला हॉकी के अलावा भारत को एक रजत पदक महिला वर्ग की जोड़ी वर्षा गौतम और श्वेता शर्वेगर ने दिलाया, तो कांस्य पदक वरुण ठक्कर-गणपति चेंगप्पा और हर्षिता तोमर ने दिलाया. स्‍क्‍वॉश के पुरुष वर्ग में भारतीय टीम सेमीफाइनल में हांगकांग से 0-2 से हार गई और उसे कांस्‍य पदक से ही संतोष करना पड़ा. बॉक्‍सर विकास कृष्‍ण ने 75 किलो वर्ग में भारत के लिए कांस्‍य पदक हासिल किया. 

VIDEO: सुशील कुमार सहित अगर बाकी सितारे बेहतर करते, तो भारत के पदकों की संख्या कहीं ज्यादा होती

कुल मिलाकर खेलों के 14वें और भारत के लिहाज से आखिरी दिन शनिवार को करोड़ों भारतीय खेलप्रेमी इस बात पर फख्र कर सकते हैं कि शुरुआती दिनों में उम्मीदों पर खरा न उतरने और कुछ बड़े चेहरों के निराश करने के बावजूद भारतीय दल इंडोनेशिया से अपने सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के साथ भारत वापस लौटेगा. 

Comments
हाईलाइट्स
  • खेलों में भारत का सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन
  • 1951 संस्करण के सबसे ज्यादा स्वर्ण पदकों की बराबरी
  • हॉकी में पाक से कांसे की टक्कर शाम 4:00 बजे से
संबंधित खबरें
ध्‍वजवाहक होने के नाते एशियन गेम्‍स में मुझ पर पदक जीतने का ज्‍यादा दबाव था: नीरज चोपड़ा
ध्‍वजवाहक होने के नाते एशियन गेम्‍स में मुझ पर पदक जीतने का ज्‍यादा दबाव था: नीरज चोपड़ा
'इस कारण' एशियन गेम्स पदक विजेता दिव्या काकरान ने अरविंद केजरीवाल को सुनाई खरी-खरी
Asian Games 2018: स्‍वप्‍ना बर्मन बोली,
Asian Games 2018: स्‍वप्‍ना बर्मन बोली, 'कोच सर ने कहा था-अपने ऊपर भरोसा रख, तुम पदक जीतोगी'
Asian Games: बॉक्‍सर विजेंदर सिंह की मांग,
Asian Games: बॉक्‍सर विजेंदर सिंह की मांग, 'स्‍वर्ण विजेता स्‍वप्‍ना की इनामी राशि बढ़ाए बंगाल सरकार'
Asian Games 2018:
Asian Games 2018: 'यह भारतीय गायक' समापन समारोह में इंडोनेशिया में छा गया
Advertisement